मुख्तार अंसारी बेगुनाह, कोई छू भी नहीं सकता; जल्द होगा रिहा: अफजाल अंसारी

मुख्तार अंसारी के बड़े भाई अफजाल ने दिया बड़ा बयान.

मुख्तार अंसारी के बड़े भाई अफजाल ने दिया बड़ा बयान.

Mukhtar Ansari Case: माफिया और बसपा विधायक मुख़्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के बड़े भाई अफजाल अंसारी का कहना है कि मुख्तार पर लगे सारे केस झूठे है. वो जल्द बेदाग रिहा होगा.

  • Share this:
Ravi Mishra

लखनऊ. माफिया और बसपा विधायक मुख़्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) को यूपी लाने की तैयारी तेज कर दी गई है.  सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यूपी सरकार रोडमैप बनाने में जुटी है. इन सबके बीच मुख्तार अंसारी के बड़े भाई ने बड़ा बयान दिया है.  न्यूज़ 18 से बातचीत अफजाल अंसारी ने कहा कि मुख्तार अंसारी का कोई बाल भी बांका नहीं कर सकता.  5 बार मुख्तार को जान से मारने की कोशिश की गई. मुख्तार अंसारी की पत्नी ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर उनकी सुरक्षा का ख्याल रखने को कहा है. उत्तर प्रदेश सरकार में मुख्तार अंसारी के कई दुश्मन सांठगांठ कर बैठे हैं.

अफजाल अंसारी ने दावा किया कि मुख्तार अंसारी को बम से उड़ाने की कोशिश भी की गई.

कोविड के चलते मुख्तार के मामले में फिजिकल हियरिंग को रोका जा रहा है. अफजाल ने कहा कि मुख्तार के जीवन पर संकट आया है. उत्तर प्रदेश पुलिस को उसकी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने चाहिए.
Youtube Video


अफजाल अंसारी का बड़ा दावा

अफजाल अंसारी ने कहा कि लोग पूछ रहे हैं कि मौका मिल गया है. अब गाड़ी पलट जाएगी. उन्होंने कहा कि उसका ट्रायल होगा और वह बेदाग रिया होगा. अफजाल ने कहा कि कुछ लोग कह रहे हैं कि यह मुख्तार अंसारी का डेथ वारंट है. उसके दुश्मन सोच रहे हैं कि मौका मिले और अंसारी का काम तमाम कर दिया जाए. अफजाल ने कहा कि ऊपर वाले की अदालत में अगर दिन पूरा हो जाए तो कोई बच नहीं सकता. मगर अगर दिन पूरा नहीं हुआ तो कोई कुछ बिगाड़ भी नहीं सकता. अंसारी के ऊपर लगे हुए सारे मुकदमे झूठे हैं.



मुख्तार को यूपी लाने की तैयारी तेज

उत्तर प्रदेश गृह विभाग के मुताबिक मुख़्तार अंसारी को पंजाब की रोपड जेल से लाने के लिए किसी भी विशेष टीम का गठन नहीं किया गया है. उसके पीछे कारण ये है कि यूपी के गृह विभाग का मानना है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक पंजाब से यूपी की बांदा जेल तक मुख़्तार अंसारी को पहुंचाना पंजाब पुलिस की जिेम्मेदारी है. हां, अगर पंजाब पुलिस किसी तरह की मदद चाहती है तो यूपी पुलिस तैयार है. बाकी यूपी सरकार के निर्देश के अनुसार यूपी पुलिस काम करेगी.

ये भी पढ़ें: UP: किसानों के लिए खुशखबरी! कल से शुरू होगी गेहूं की सरकारी खरीद, जानिए MSP

बता दें सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब सरकार को आदेश दिया है कि दो हफ़्ते के भीतर मुख़्तार को यूपी सौपा जाए. अदालत ने ये भी कहा है कि मुख़्तार को पहले यूपी की बांदा जेल में रखा जाए. इस पर यूपी जेल प्रशासन का कहना है कि वैसे तो हमारे पास प्रोटोकॉल के तहत हमेशा पुख़्ता इंतज़ाम रहते हैं लेकिन मुख़्तार के मामले में सारे पहलुओं को ध्यान में रखकर इंतज़ाम किए गए हैं. मुख़्तार को रखने के लिये बांदा जेल में सुरक्षित सेल का चुनाव किया गया है, जहां किसी भीतरी से ख़तरा ना हो सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज