एग्जिट पोल पर बोले डिप्टी CM मौर्य- 10 नवंबर को नतीजे अलग होंगे, बिहार में बनेगी NDA सरकार

यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि एग्जिट पोल और 10 नवंबर को आने वाले वास्तविक नतीजों में अंतर होगा
यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि एग्जिट पोल और 10 नवंबर को आने वाले वास्तविक नतीजों में अंतर होगा

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshav Prasad Maurya) ने कहा है कि एग्जिट पोल के नतीजे (Exit Poll Results) और 10 नवंबर को आने वाले वास्तविक नतीजों में फर्क होगा. उन्होंने कहा कि बिहार (Bihar Assembly Election 2020) में एनडीए गठबंधन की सरकार बनेगी

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2020, 6:07 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. शनिवार की शाम आए ज्यादातर एग्जिट पोल में बिहार (Bihar Exit Poll Result) में राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेतृत्व वाले महागठबंधन (Mahagathbandhan) की सरकार बनती दिख रही है. सत्ता की रेस में एनडीए (NDA) पिछड़ता हुआ दिख रहा है. इस पर उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य (Deputy CM Keshav Prasad Maurya) ने कहा है कि एग्जिट पोल के नतीजे (Exit Poll Results) और 10 नवंबर को आने वाले वास्तविक नतीजों में फर्क होगा. उन्होंने कहा कि बिहार (Bihar Assembly Election 2020) में एनडीए गठबंधन की सरकार बनेगी. साथ ही उत्तर प्रदेश में आठ विधानसभा सीटों के लिए हुए उपचुनावों में भी बीजेपी का शानदार प्रदर्शन रहेगा.

रविवार को मीडिया ने केशव प्रसाद मौर्य से बिहार चुनाव के संदर्भ में आए एग्जिट पोल पर सवाल पूछा तो उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा कि अब ज्यादा समय नहीं है, 10 नवंबर का इंतजार कीजिए, सरकार एनडीए की ही बनेगी. डिप्टी सीएम ने फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष राजू श्रीवास्तव के कार्यालय के उद्घाटन के दौरान यह बातें कही. बता दें कि राजू श्रीवास्तव को एक साल से अधिक हो गए हैं फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष पद संभालते हुए लेकिन उनका कार्यालय अब बनकर तैयार हुआ है. केशव प्रसाद मौर्य ने रविवार को उसी कार्यालय का उद्घाटन किया.

राजू श्रीवास्तव का कार्यालय साल भर बाद बनकर तैयार 



इस मौके पर राजू श्रीवास्तव ने कहा कि कार्यालय बनने से काम करने में आसानी होगी और इसके लिए मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद कहना चाहता हूं. प्रदेश में फिल्म निर्माण के लिए सरकार प्रोत्साहन दे रही है जिससे कि लोगों को अधिक से अधिक रोजगार मिल सके. उन्होंने कहा कि स्थानीय भाषा में फिल्म बनाने वालों को पचास फीसदी सब्सिडी तो हिंदी फिल्म के लिए 25 फीसदी सब्सिडी दी जा रही है. नोएडा फिल्म सिटी का उद्देश्य है कि ज्यादे से ज्यादे फिल्मों की यहां शूटिंग हो.



फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष न कहा कि मैने सीएम योगी से लखनऊ और कानपुर में भी फिल्मसिटी बनवाने का आग्रह किया है. जिस पर मुख्यमंत्री का आश्वासन मिला है कि नोएडा फिल्मसिटी के बाद लखनऊ और कानपुर की फिल्मसिटी पाइपलाइन में है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज