Home /News /uttar-pradesh /

मिशन 2019: यूपी में BJP की बढ़ी मुश्किलें, सीट बंटवारे पर सहयोगी दलों ने बढ़ाया दबाव

मिशन 2019: यूपी में BJP की बढ़ी मुश्किलें, सीट बंटवारे पर सहयोगी दलों ने बढ़ाया दबाव

File Photo

File Photo

अपना दल (एस) के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशीष पटेल ने मिर्जापुर में कहा कि बीजेपी की प्रदेश इकाई में अपना दल के कार्यकर्ताओं का सम्मान नहीं है. प्रदेश बीजेपी उनके कार्यकर्ताओं की उपेक्षा कर रही है. अगर बीजेपी का यही रवैया रहा तो गठबंधन पर विचार किया जाएगा.

अधिक पढ़ें ...
    एक तरफ उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा गठबंधन की तरफ तेजी से बढ़ते दिख रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ बीजेपी की हालत पतली होती दिख रही है. यहां उसके सहयोगी दल ही विरोध के सुर तेज करने लगे हैं. सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के ओेम प्रकाश राजभर तो हमेशा से ही बीजेपी के खिलाफ मुखर रहे हैं, वहीं अब अपना दल (सोनेलाल) ने भी विरोध के स्वर बुलंद करने शुरू कर दिए हैं. इस रणनीति को हाल ही में बिहार में बीजेपी गठबंधन के सहयोगी दलों के दबाव और उसके बाद बीजेपी द्वारा सहयोगी दलों को दी गई सीटों से जोड़कर देखा जा रहा है.

    दरअसल 2014 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने यूपी से 71 सीटें जीती थीं, वहीं सहयोगी अपनपा दल ने भी 2 सीटों पर जीत हासिल की थी. पार्टी की प्रमुख अनुप्रिया पटेल मोदी सरकार में मंत्री भी हैं. लेकिन लोकसभा चुनाव से पहले एनडीए में फूट पड़ती दिख रही है. मतभेद में बाद शिवसेना, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी, तेलुगू देशम पार्टी पहले ही एनडीए से अलग हो चुकी है. अब अपना दल सोने लाल ने भी बीजेपी के रवैये को लेकर अपनी नाराज़गी जाहिर की है.

    अपना दल के चीफ बोले- सम्मानजनक सीट मिले तो करेंगे गठबंधन

    अपना दल (एस) के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशीष पटेल ने मिर्जापुर में कहा कि बीजेपी की प्रदेश इकाई में अपना दल के कार्यकर्ताओं का सम्मान नहीं है. प्रदेश बीजेपी उनके कार्यकर्ताओं की उपेक्षा कर रही है. अगर बीजेपी का यही रवैया रहा तो गठबंधन पर विचार किया जाएगा. उन्होंने काह कि हम लोगों को सम्मानजनक सीट मिलनी चाहिए, नहीं तो हमारी पार्टी गठबंधन पर विचार करेगी.

    मिशन 2019: यूपी फतेह के लिए राहुल गांधी ऐसे बिछा रहे बिसात

    आशीष पटेल ने कहा कि स्थिति ये है कि केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल को कार्यक्रमों में नहीं बुलाया जाता है. वह अपनी नाराजगी बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से जता चुकी हैं. उन्होंने कहा कि वे गठबंधन में सम्मान चाहते हैं. वे चाहते हैं कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में दोबारा सरकार बने. लेकिन बीजेपी को तीन प्रदेशों में मिली पराजय से सीख लेनी चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि आश्वासन के बाद भी किसी भी आयोग में अपना दल के नेताओं को जगह नहीं दी गई है.

    अखिलेश यादव का ऐलान- नए साल में साइकिल पर चढ़कर सपा करेगी BJP का पर्दाफाश

    उन्होंने कहा कि अगर समय रहते समस्याओं का हल नहीं किया गया तो एनडीए को सबसे ज्यादा नुकसान उत्तर प्रदेश में होगा.  उन्होंने कहा कि सपा-बसपा का गठबंधन हमारे लिए बहुत बड़ी चुनौती है. केंद्रीय नेतृत्व को इस पर विचार करना चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर हमारी मांगें नहीं मानी गईं, तो हमारी पार्टी गठबंधन से अलग भी हो सकती है. इसका निर्णय आने वाले वक्त में लिया जाएगा.

    'सपा- बसपा के नेता अगर लायक होते तो आज प्रदेश में BJP की सरकार नहीं होती'

    वहीं बीजेपी के खिलाफ शुरू से ही हमलावर रहे सुभासपा के ओेम प्रकाश राजभर कहते हैं कि अगर बीजेपी चाहेगी तो उसके साथ रहेंगे. नहीं तो हम 80 सीट पर यूपी में और 16 सीट पर बिहार में चुनाव लड़ेंगे. इसके लिए तैयारी की जा रही है.

    उन्होंने आगे कहा कि हमको खत्म करने के लिये जब यूपी के सभी बीजेपी नेता असफल हो गये, तब वो देश के प्रधानमंत्री जी को लाकर खड़ा कर दिए. उनकी माने तो ओमप्रकाश राजभर को खत्म करने के लिए अब धरती पर किसी को दूसरा अवतार लेना पड़ेगा. उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि इंसान को बांटने की राजनीति की गई. जब उसमें सफलता नहीं मिली तो अब भगवान को बांटने की कवायद शुरू हो गई है.

    उधर इस मसले पर बीजेपी प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी कहते हैं कि गठबंधन में बीजेपी हमेशा से ही अपने सहयोगियों के साथ मित्रवत संबंध रखती आई है. आगे भी ऐसा ही करेगी. उन्होंने कहा कि जो सहयोगी दलों की समस्याएं हैं, उन्हें बैठकर हल कर लिया जाएगा. हमेशा से ऐसा होता रहा है. उन्होंने कहा कि यूपी में गठबंधन पूरी तरह मजबूत है और बीजेपी सहयोगियों के साथ चुनाव में उतरेगी और जीत का परचम लहराएगी.

    ये भी पढ़ें: 

    अवैध शिकार में बॉलीवुड एक्ट्रेस चित्रांगदा के पूर्व पति और अंतर्राष्ट्रीय गोल्फर ज्योति रंधावा गिरफ्तार

    कांवड़ियों पर फूल बरसाने वाली यूपी पुलिस को नमाज से दिक्कत होती है: ओवैसी

    ओवैसी के कांवड़ यात्रा और नमाज पर आए Tweet पर भड़की बीजेपी, बताया मानसिक दिवालिया

    मैनपुरी: क्रिसमस पर 20 ईसाइयों ने अपनाया हिंदू धर्म, बजरंग दल ने करवाया यज्ञ

    PHOTOS: प्रयागराज की सड़कों पर नागा साधुओं की तलवारबाजी, हाथी, घोड़े पर सवार दिखे संत

    राम मंदिर पर आया अध्यादेश तो जाएंगे सुप्रीम कोर्ट: बाबरी एक्शन कमेटी

    Tags: Lucknow news, Om Prakash Rajbhar, Uttar Pradesh Politics, Uttarpradesh news, लखनऊ

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर