Home /News /uttar-pradesh /

bjp and allies can win 8 out of 11 rajya sabha seats in up akhilesh yadav mayawati nodark

Rajya Sabha Election: यूपी की 11 सीटों के लिए 10 जून को वोटिंग, NDA की 8 पर जीत पक्‍की, सपा का ऐसा रहेगा हाल

राज्‍यसभा चुनाव के दौरान यूपी में भाजपा और उसके सहयोगी दलों का दबदबा रहेगा.

राज्‍यसभा चुनाव के दौरान यूपी में भाजपा और उसके सहयोगी दलों का दबदबा रहेगा.

Rajya Sabha Election: चुनाव आयोग ने देश की कुल 57 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव कार्यक्रम जारी कर दिया है. इसमें 11 सीटें यूपी की हैं. वहीं, सूबे की सत्‍ता पर काबिज भाजपा और उसके सहयोगी दल आसानी से तीन सीटें जीत सकते हैं, तो वहीं सपा और उसके सहयोगियों के खातें में तीन सीटें जा सकती हैं. इस बार बसपा और कांग्रेस एक भी सीट जीतने की स्थिति में नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगी दल इस बार भी सूबे से राज्यसभा में अपना संख्या बल बढ़ाने जा रहे हैं. एनडीए यूपी में राज्यसभा की खाली होने जा रही 11 सीटों में से आठ पर आसानी से जीत हासिल करने की स्थिति में है. हालांकि इस बार बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस को सीट मिलने की संभावना नहीं है. उत्तर प्रदेश से कुल 31 सदस्य राज्यसभा के लिए चुने जाते हैं. आगामी जून से अगस्त के बीच प्रदेश की 11 राज्यसभा सीटें रिक्त हो रही हैं.

यूपी में जिन सदस्यों का कार्यकाल समाप्त हो रहा है उनमें भाजपा के जफर इस्लाम, शिव प्रताप शुक्ला, संजय सेठ, सुरेंद्र नागर और जयप्रकाश निषाद शामिल हैं. इसके अलावा समाजवादी पार्टी के सुखराम सिंह यादव, रेवती रमण सिंह और विशंभर प्रसाद निषाद, तो बसपा के सतीश चंद्र मिश्रा और अशोक सिद्धार्थ शामिल हैं. वहीं, कांग्रेस की तरफ से कपिल सिब्बल का कार्यकाल खत्‍म हो रहा है.

10 जून को होगा मतदान
चुनाव आयोग ने देश की कुल 57 राज्यसभा सीटों के लिए जो कार्यक्रम जारी किया है उसके मुताबिक, 24 मई को चुनाव की अधिसूचना जारी होगी. इसके साथ मतदान 10 जून को होगा और नतीजे भी उसी दिन आ जाएंगे.

यूपी में भाजपा इस वजह से रहेगी सब पर भारी
उत्तर प्रदेश की 403 सदस्यीय विधानसभा में एनडीए के 273 विधायक हैं. जबकि सपा गठबंधन के पास कुल 125 सदस्य हैं. एक राज्यसभा सदस्य को जिताने के लिए कम से कम 34 सदस्यों का समर्थन मिलना जरूरी है. उस हिसाब से देखें तो भाजपा 11 में से आठ सीटें आसानी से जीतने की स्थिति में है. जबकि सपा गठबंधन भी तीन सीटें आसानी से जीत सकता है. इस चुनाव में सबसे ज्यादा नुकसान कांग्रेस और बसपा को होगा. इन दोनों ही दलों का हाल में संपन्न विधानसभा चुनाव में प्रदर्शन बहुत खराब रहा था. कांग्रेस को दो और बसपा को मात्र एक सीट ही हासिल हुई थी, लिहाजा यह दोनों दल अपने दम पर एक भी सदस्य जिताने की स्थिति में नहीं हैं. बसपा के हिसाब से देखें तो सतीश चंद्र मिश्रा और अशोक सिद्धार्थ का कार्यकाल जुलाई में समाप्त होने के बाद अब संसद के उच्च सदन में राम जी गौतम के रूप में पार्टी का एकमात्र सदस्य रह जाएगा.

Tags: Akhilesh yadav, Mayawati, Rajya Sabha Elections, Yogi adityanath

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर