Home /News /uttar-pradesh /

UP Election 2022: सपा के 'यादव' वोटबैंक में सेंधमारी की तैयारी में जुटी बीजेपी! जानें प्लानिंग

UP Election 2022: सपा के 'यादव' वोटबैंक में सेंधमारी की तैयारी में जुटी बीजेपी! जानें प्लानिंग

UP: प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा- भाजपा किसी व्यक्ति विशेष की पार्टी नहीं

UP: प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा- भाजपा किसी व्यक्ति विशेष की पार्टी नहीं

UP Politics: राजनीति के जानकार मानते हैं कि मुलायम सिंह और शिवपाल यादव जमीनी नेता थे जिससे यादवों का विश्वास उनपर बना हुआ था, लेकिन दूसरी तरफ सपा पर यादव परस्त होने का आरोप भी लगने लगा.

लखनऊ. आगामी विधानसभा 2022 (UP Assembly Election 2022) चुनाव से पहले राजधानी लखनऊ (Lucknow) में सामाजिक प्रतिनिधि सम्मेलन के तहत ‘यादवों’ का सम्मेलन आयोजित किया गया. बीजेपी के इस सम्मेलन में प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह सहित बीजेपी के यादव नेताओं ने शिरकत किया. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा सरकार, सबका साथ-सबका विकास के मंत्र पर काम कर रही है. उन्होंने कहा कि भाजपा किसी व्यक्ति विशेष की पार्टी नहीं है और ना ही ट्रस्ट. यह उन सभी लोगों की पार्टी है जो लोग भाजपा में काम कर रहे हैं. भाजपा में प्रत्येक व्यक्ति अपनी योग्यता के आधार पर संगठन व सरकार के शीर्ष स्थान तक पहुंच सकता है. इस मौके पर मंत्री गिरीश यादव ने कहा कि यादवों के ऊपर एक दल का ठप्पा लग गया था. अपने ऊपर से उस दल का ठप्पा हटाना है. मुख्यमंत्री को भी जाना था लेकिन सीएम योगी कार्यक्रम में नहीं पहुंचे.

दरअसल, बीजेपी 2017 के बाद से ही यादव वोटों को अपने पाले में करने में जुटी है. बीजेपी ने जौनपुर से जीते गिरीश यादव को योगी सरकार में मंत्री बनाया वहीं इटावा के हरनाथ यादव को राज्यसभा सदस्य बनाया. सुभाष यदुवंश को पहले बीजेपी युवा मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाया और अब प्रदेश संगठन में जगह दे रखी है. हाल में हुए जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में बीजेपी के टिकट पर यादव समाज के तीन अध्यक्ष बनाने में सफल रही. राजनीति के जानकार मानते हैं कि मुलायम सिंह और शिवपाल यादव जमीनी नेता थे जिससे यादवों का विश्वास उनपर बना हुआ था, लेकिन दूसरी तरफ सपा पर यादव परस्त होने का आरोप भी लगने लगा.

UP: योगी कैबिनेट का बड़ा फैसला, सरकारी स्कूलों में बच्चों को यूनिफॉर्म के लिए मिलेगा 1100 रुपये

जिससे अन्य पिछड़ी जातियों के वोटबैंक बीजेपी की तरफ खिसक गये. अब बीजेपी यादव वोटबैंक को भी खिसकाने मे लगी है. उत्तर प्रदेश के इटावा, एटा, फ़र्रुखाबाद, मैनपुरी, फिरोजबाद, कन्नौज, बदायूं, आजमगढ़, फैजाबाद, बलिया, संतकबीर नगर, जौनपुर और कुशीनगर जिले को यादव बहुल माना जाता है. इन जिलों की करीब 50 विधानसभा सीटें हैं, जहां यादव वोटर अहम भूमिका में हैं. अगर सपा के यादव वोटबैंक खिसक गये तो सपा के लिए मुश्किल हो जाएगा.

Tags: Akhilesh yadav, BJP, CM Yogi, Lucknow news, Samajwadi party, Swatantra dev singh, UP Assembly Election 2022, UP politics

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर