• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • हमीरपुर सीट जीतकर बीजेपी ने तोड़ा उपचुनावों में हार का सिलसिला

हमीरपुर सीट जीतकर बीजेपी ने तोड़ा उपचुनावों में हार का सिलसिला

योगी सरकार प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आई. इसके बाद भी बीजेपी उपचुनाव में अपने प्रदर्शन को नहीं बदल पायी

योगी सरकार प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आई. इसके बाद भी बीजेपी उपचुनाव में अपने प्रदर्शन को नहीं बदल पायी

दरअसल पिछले पांच सालों में हुए लोकसभा और विधानसभा उपचुनावों में बीजेपी का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा.

  • Share this:
लखनऊ. हमीरपुर सदर की सीट (Hamirpur Assembly Seat) पर हुए उपचुनाव (Byelection) में बीजेपी (BJP) के युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के डॉ मनोज प्रजापति (Dr Manoj Prajapati) को हराकर जीत दर्ज की है. इस जीत के साथ ही बीजेपी ने उपचुनावों में मिल रहे हार का सिलसिला भी तोड़ दिया. दरअसल पिछले पांच सालों में हुए लोकसभा और विधानसभा उपचुनावों में बीजेपी का प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा. 2014 के बाद यूपी में विधानसभा और लोकसभा की कुल 23 सीटों पर उपचुनाव हुए, जिनमे से बीजेपी को महज पांच सीटों पर ही जीत हासिल हुई. योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद भी बीजेपी का उपचुनावों में प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा. कानपुर की सिकंदराबाद विधानसभा सीट को छोड़कर उसे चार उपचुनावों में हार का सामना करना पड़ा. इनमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गोरखपुर और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद ,मौर्य की फूलपुर लोकसभा सीट भी शामिल है. दोनों ही जगह उसे हार का सामना करना पड़ा.

जीत का श्रेय सरकार की योजनाओं को

युवराज सिंह ने सपा प्रत्याशी को 17771 मतों से हराया. युवराज सिंह को 74168 और मनोज प्रजापति को 56397 वोट मिले प्रदेश बीजेपी प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने हमीरपुर विधानसभा उपचुनाव में मिली जीत के लिए स्थानीय जनता को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि पिछले ढाई साल में सरकार ने जो जनहित में कल्याणकारी फैसले लिए हैं उसकी वजह से जनता ने पार्टी पर भरोसा जताया है. उन्होंने कहा कि इस जीत से एक बात साबित हो गई है कि सरकार की विकास योजनाओं को लोग सराह हैं.

2014 के बाद से 18 सीटों पर मिली थी हार

2014 के लोकसभा चुनाव में यूपी की 71 लोकसभा सीटों पर कब्ज़ा करने वाली बीजेपी को उपचुनावों में लगातार हार का मुंह देखना पड़ा. दरअसल 2014 के लोकसभा चुनाव में विधायकों के संसदीय चुनाव जीत जाने के कारण 12 सीटों पर चुनाव हुए तो बीजेपी ने समाजवादी पार्टी के हाथों 8 सीटें गवां दी थी. तब यूपी में समाजवादी पार्टी की अखिलेश यादव सरकार का शासन था. 2015 में भी बीजेपी को दो उपचुनावों में शिकस्त झेलनी पड़ी और 2016 में तो पांच में से सिर्फ एक सीट ही बीजेपी जीत पायी थी.

सत्ता में आने के बाद पांच में से चार पर हार

इसके बाद सूबे में योगी सरकार प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आई. इसके बाद भी बीजेपी उपचुनाव में अपने प्रदर्शन को नहीं बदल पायी. सिकंदराबाद विधानसभा सीट को छोड़कर बीजेपी कोई सीट नहीं जीत पाई. गोरखपुर सहित चार उपचुनावों में हार बीजेपी के लिए बड़ा झटका रहा, क्योंकि योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठे थे. इस सीट से वे पांच चुनाव जीते थे वही हार गए. गोरखपुर के अलावा फूलपुर और कैराना लोक सभा उपचुनाव और नूरपुर विधानसभा के लिए चुनाव में भी बीजेपी को हार मिली थी. अब देखना है कि 21 अक्टूबर को जिन यूपी की जिन 11 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने जा रहे हैं वहां क्या नतीजा रहता है?

ये भी पढ़ेंं:

हमीरपुर उपचुनाव: बीजेपी के युवराज सिंह ने सपा के मनोज प्रजापति को हराया

यूपी उपचुनाव: सपा ने घोषित किए 2 प्रत्याशी, लखनऊ कैंट से मेजर आशीष को टिकट

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज