जेपी नड्डा आज आएंगे लखनऊ, मंत्रिमंडल विस्तार पर हो सकती हैं चर्चा

बीजेपी भले ही 325 विधानसभा में जीत दर्ज की हो, लेकिन इस लोकसभा चुनाव में 281 जगहों पर ही जीत पाई है. ऐसे मे जिन संसदीय क्षेत्रों में पार्टी का प्रदर्शन अच्छा नहीं हुआ है.

Kumari ranjana | ETV UP/Uttarakhand
Updated: July 5, 2019, 12:35 PM IST
जेपी नड्डा आज आएंगे लखनऊ, मंत्रिमंडल विस्तार पर हो सकती हैं चर्चा
कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा
Kumari ranjana | ETV UP/Uttarakhand
Updated: July 5, 2019, 12:35 PM IST
भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा शुक्रवार को लखनऊ आ रहे हैं. नड्डा शाम 6 बजे के बाद भाजपा मुख्यालय पर संगठन के पदाधिकारियों के साथ बैठक करेंगे. कोर कमेटी की बैठक में मंत्रिमंडल विस्तार पर चर्चा हो सकती हैं. एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ, कैबिनेट मंत्री डा.महेन्द्र नाथ पाण्डेय, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य समेत कई अन्य मंत्री व पार्टी पदाधिकारी उनका स्वागत करेंगे.

वहीं पार्टी कार्यकर्ताओं ने स्वागत की जोरदार तैयारी कर रखी है. एयरपोर्ट पर कार्यकर्ता ढो़ल नगाड़ों के साथ स्वागत तो करेंगे इसके साथ ही पुरानी चुंगी,अवध चौराहा, जेल रोड, कैंटोनमेंट, गीतापल्ली वीवीआईपी पर भी स्वागत करेंगे और उसके बाद वे पार्टी कार्यालय पहुंचेंगे. जहां पार्टी के नेता औपचारिक रुप से स्वागत करेंगे. नड्डा रात्रि में यहीं विश्राम कर 6 जुलाई की सुबह 8 बजे वाराणसी रवाना हो जाएंगे.

मंत्रिमंडल पुनर्गठन 

बता दें कि मंत्रिमंडल पुनर्गठन का काम भी लगभग एक सप्ताह में हो जाएगा, जिसके बाद मंत्रिमंडल में फेरबदल होगा. मंत्रिमंडल को लेकर भी राष्ट्रीय अध्यक्ष चर्चा कर सकते हैं. ये माना जा रहा है कि बीजेपी जातीय और क्षेत्रीय संतुलन को ध्यान मे रखते हुए मंत्रिमंडल में फेरबदल कर सकती है. पार्टी के रणनीतिकार चाहते हैं कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में यूपी से शामिल होने वाले चेहरों के मद्देनजर प्रदेश कैबिनेट का पुनर्गठन कर क्षेत्रीय और जातीय प्रतिनिधित्व का संतुलन साधा जाए.

मंत्रियों की छुट्टी

बीजेपी भले ही 325 विधानसभा में जीत दर्ज की हो, लेकिन इस लोकसभा चुनाव में 281 जगहों पर ही जीत पाई है. ऐसे मे जिन संसदीय क्षेत्रों में पार्टी का प्रदर्शन अच्छा नहीं हुआ है, वहां के मंत्रियों की छुट्टी हो सकती है. मुख्यमंत्री नियमित तौर पर मंत्रियों के उनके विभागों में प्रदर्शन का आंकलन कर रहे हैं और यह एक दूसरा कारक होगा मंत्रिमंडल में फेरबदल का.

संगठन में विस्तार
Loading...

पार्टी को 2022 के चुनाव की तैयारी करनी है ऐसे में समाज के उन वर्गो को अधिक प्रतिनिधित्व देगी जो सियासत में वोट बैंक प्रभावित करने की स्थिति में होगा और अभी तक पार्टी से दूर रहा है. दलित नेता विद्यासागर सोनकर को भी संगठन से सरकार में लाकर सरकार संदेश दे सकती है.

सत्यदेव पचौरी और रीता जोशी जैसे ब्राह्मण नेताओं के सांसद बनने के चलते पार्टी महामंत्री संगठन विजयबहादुर पाठक पर दांव लगा सकती है. इसी तरह स्वतंत्रदेव सिंह, अनुपमा जायसवाल जैसे लोगों को संगठन में लाया जा सकता है. मंत्रालयों की संख्या घटने पर राज्य मंत्रियों की संख्या बढ़ाकर पार्टी दलितों और पिछड़ों को साधने की कोशिश करेगी.

ये भी पढ़ें:

मुस्लिम महिलाओं के लिए चूड़ियां और सिंदूर इस्लाम में हराम नहीं: वसीम रिजवी

अलीगढ़ में गीता पढ़ने पर मुस्लिम शख्‍स पर हमला, मामला दर्ज

यूपी में 26 एडिशनल एसपी के तबादले, यहां देखें लिस्ट

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 5, 2019, 12:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...