लाइव टीवी

BJP नेता बोले- जाति आधारित पुलिस भर्ती का नतीजा है एप्पल एक्‍जीक्‍यूटिव की हत्‍या

News18Hindi
Updated: September 29, 2018, 7:52 PM IST
BJP नेता बोले- जाति आधारित पुलिस भर्ती का नतीजा है एप्पल एक्‍जीक्‍यूटिव की हत्‍या
बीजेपी प्रवक्‍ता राकेश त्रिपाठी

बीजेपी नेता राकेश त्रिपाठी ने कहा कि हत्‍या की वजह समाजवादी पार्टी के नेतृत्‍व वाली पिछली सरकार में हुई जाति आधारित भर्ती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 29, 2018, 7:52 PM IST
  • Share this:
काजी फराज अहमद
लखनऊ में एप्पल कंपनी के एक्‍जीक्‍यूटिव को पुलिस द्वारा कथित तौर से गोली मारने  की घटना पर बीजेपी के एक नेता ने राज्य की पिछली अखिलेश यादव सरकार को दोषी ठहराया है. बीजेपी नेता राकेश त्रिपाठी ने कहा कि हत्‍या की वजह समाजवादी पार्टी के नेतृत्‍व वाली पिछली सरकार में हुई जाति आधारित भर्ती है. त्रिपाठी ने कहा, 'मैं इस समय राजनीति में नहीं जाना चाहता, लेकिन यह समाजवादी पार्टी सरकार में जाति के आधार पर हुई भर्ती का नतीजा है. मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव के शासन में भर्तियां विवादित थी और इनमें केवल एक जाति विशेष के लोगों को ही नौकरियां दी जाती थी.'

त्रिपाठी ने मारे गए व्‍यक्ति के परिवार के प्रति हमदर्दी जताते हुए कहा कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. बकौल त्रिपाठी, 'यह ढीलेपन का मामला नहीं है, बल्कि आपराधिक मामला है. हम एक उदाहरण पेश करेंगे जिससे कि इस तरह मामले दोबारा न हो.'

वहीं त्रिपाठी के बयान के बाद राजनीतिक माहौल गरमा गया. सपा ने पलटवार करते हुए कहा कि यह राजनीति करने का वक्‍त नहीं है. सपा के प्रवक्‍ता अनुराग भदौरिया ने कहा कि एप्पल एक्‍जीक्‍यूटिव की हत्‍या के मामले में राजनीति करने पर बीजेपी को शर्म आनी चाहिए. उन्‍होंने कहा, 'बीजेपी का दिमाग खराब हो गया और वह समाजवादी पार्टी को इसमें खींच रही है. एक आम आदमी के कत्‍ल पर राजनीति करने पर उन्‍हें शर्म आनी चाहिए.'

बता दें कि लखनऊ पुलिस पर आरोप है कि उसके एक सिपाही ने शनिवार तड़के कार सवार एक युवक को गोली मार दी. घटना गोमतीनगर विस्तार के सीएमएस स्कूल के पास की है, जहां एक निजी कंपनी में काम करने वाली सना ने बताया कि वह अपने मित्र विवेक तिवारी के साथ कार से जा रही थी. तभी सामने से दो पुलिसकर्मी आए. कार को रोकने के लिए इशारा किया, इस पर कार रोक दी. इतने में एक सिपाही ने अपनी पिस्‍तौल से विवेक को गोली मार दी. गोली लगने से वह घबराया और गाड़ी बढ़ा दी. गाड़ी पुलिस की बाइक और फिर बिजली के खंभे से टकरा गई.

घायल युवक को इलाज के लिए लोहिया अस्पताल लाया गया, जहां कुछ देर बाद डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. मृतक विवेक तिवारी आईफोन बनाने वाली कंपनी Apple में एरिया सेल्स मैनेजर के पद पर कार्यरत था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 29, 2018, 7:11 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर