मंदिर तोड़ मस्जिद बनाने की धमकी पर BJP नेता का जवाब- यही भावना रही तो चौराहों पर पोस्टरों में चिपक जाओगे
Ayodhya News in Hindi

मंदिर तोड़ मस्जिद बनाने की धमकी पर BJP नेता का जवाब- यही भावना रही तो चौराहों पर पोस्टरों में चिपक जाओगे
बीजेपी प्रवक्ता और सीएम योगी के सूचना सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी (File Photo)

बीजेपी (BJP) के प्रवक्ता और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सूचना सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने जवाबी ट्वीट किया है कि ये 500 साल पुराना भारत नहीं, मोदी जी का नया भारत है. यूपी, योगी जी, सीएए प्रदर्शन, पोस्टर, कुर्की, सरकारी वसूली, ये सब याद है ना.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 6, 2020, 3:21 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर के भूमि पूजन (Ram Mandir Bhumi Pujan) के एक दिन बाद ऑल इंडिया इमाम एसोसिएशन (All India Imam Association) के अध्यक्ष ने भड़काऊ बयान दिया है. एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहम्मद साजिद राशिदी (mohd sajid rashidi) ने मंदिर को ढहाने की धमकी दे डाली है. राशिदी ने कहा कि राम मंदिर तोड़कर वहां मस्जिद बनाई जाएगी. उन्होंने कहा कि विवादित स्थल पर कभी मंदिर था ही नहीं. वहां बाबरी मस्जिद थी और वही रहेगी. उधर बीजेपी प्रवक्ता ने मामले में राशिदी को जवाब दिया है.

ये 500 साल पुराना भारत नहीं, मोदी जी का नया भारत है

बीजेपी के प्रवक्ता और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सूचना सलाहकार शलभ मणि त्रिपाठी ने जवाबी ट्वीट किया है, “ये 500 साल पुराना भारत नहीं, मोदी जी का नया भारत है. UP, योगी जी, CAA प्रदर्शन, पोस्टर, कुर्की, सरकारी वसूली, ये सब याद है ना. वही जिससे बचने के लिए गुहार लगाते हुए सुप्रीम कोर्ट तक दौड़े थे. यही भावना रही तो TV स्क्रिन से निकल कर कभी भी UP के चौराहों पर सरकारी पोस्टरों में चिपक जाओगे.”



...जब चॉपर से उतरते ही बोले पीएम मोदी- योगी जी आज तो आप बेहद खुश हो रहे होंगे
समाचार एजेंसी ANI ने मोहम्मद साजिद राशिदी का ये बयान ट्वीट किया है. ANI के मुताबिक, रशीदी ने कहा, 'इस्लाम कहता है कि एक मस्जिद हमेशा एक मस्जिद होगी. इसे कुछ और बनाने के लिए नहीं तोड़ा जा सकता है. हमारा मानना है कि यह एक मस्जिद थी और हमेशा एक मस्जिद ही रहेगी. मस्जिद को मंदिर ध्वस्त करने के बाद नहीं बनाया गया था, मगर अब मस्जिद बनाने के लिए मंदिर को ध्वस्त किया जा सकता है.'



ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने भी किया विवादित ट्वीट

दरअसल, अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन से ठीक पहले ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB‌) ने विवादित ट्वीट करते हुए कहा था कि बाबरी मस्जिद हमेशा थी और रहेगी. सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सवाल उठाते हुए बोर्ड ने कहा कि ये फैसला अन्यायपूर्ण, दमनकारी, शर्मनाक है. बहुसंख्यक तुष्टीकरण के आधार पर भूमि का पुनर्निर्धारण कर दिया गया था.

वहीं, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (AIMIM) के चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने भी ऐसा ही ट्वीट किया. ओवैसी ने बाबरी मस्जिद और इसके विध्वंस की एक-एक तस्वीर शेयर करते हुए कहा- 'बाबरी मस्जिद थी और रहेगी. इशांअल्लाह.'

पीएम आधारशिला रख दिया था प्रेम-भाईचारे का संदेश

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को विधिवत भूमि पूजा के बाद राम मंदिर की आधारशिला रखी. राम मंदिर के शिलान्यास समारोह का शुभ मुहूर्त 32 सेंकेड का था. 12 बजकर 44 मिनट 8 सेकेंड से लेकर 12 बजकर 44 मिनट 40 सेकेंड तक रहा. आधारशिला रखने के बाद पीएम मोदी ने देशवासियों को संबोधित किया. पीएम ने कहा कि बरसों तक रामलला टेंट के नीचे रहे. अब जल्द ही भव्य मंदिर बनेगा. राम मंदिर भारतीय संस्कृति का आधुनिक प्रतीक भी बनेगा. हमें आपसी प्रेम-भाईचारे के संदेश से राम मंदिर की शिलाओं को जोड़ना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज