उत्तर प्रदेश में मिशन-2022 के लिए BJP ने की डिजिटल तैयारी, तमाम दलों से निकली आगे

बीजेपी ने यूपी में मिशन 2022 को देखते हुए डिजिटल तैयारी की है.
बीजेपी ने यूपी में मिशन 2022 को देखते हुए डिजिटल तैयारी की है.

बीजेपी (BJP) संगठन के 92 जिलों में जिला कार्यालय बनाने के साथ ही अब 56 कार्यालयों से सीधे संपर्क कर सकेगी. जिला कार्यालयों की नींव 2017 में बीजेपी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और गृहमंत्री अमित शाह ने रखी थी.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में मिशन 2022 (Mission 2022) की तैयारियों में तो सभी राजनीतिक दल जुटे हैं लेकिन 'अग्रसोची, सदा सुखी' के सिद्धांत पर चलते हुए बीजेपी (BJP) ने जमीन के साथ डिजिटल तैयारी भी शुरू कर दी है. यूपी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election) की तैयारियों के मामले में तमाम दल बीजेपी से कहीं पीछे हैं. बीजेपी अब संगठन के 92 जिलों में जिला कार्यालय बनाने के साथ ही अब 56 कार्यालयों से सीधे संपर्क कर सकेगी. जिला कार्यालयों की नींव 2017 में बीजेपी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और गृहमंत्री अमित शाह ने रखी थी.

इन्हीं तैयारियों के तहत प्रदेश के रामपुर, मुरादाबाद, मेरठ, सहारनपुर, हाथरस, मैनपुरी, बरेली, मथुरा, शाहजहांपुर, इटावा, औरैया, महोबा, ललितपुर, सीतापुर, लखीमपुर, हरदोई, अमेठी, कुशीनगर, महराजगंज, सोनभद्र, बस्ती सहित 56 जिलों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जोड़ दिया गया है.

राष्ट्रीय स्तर ये जिलों से सीधे हो सकेगा संवाद
बीजेपी महामंत्री संगठन सुनील बंसल के लिए मिशन 2022 से पहले इसको पूर्णरूपेण तैयार कराना लक्ष्य था. सुनील बंसल ने कहा कि जिला कार्यालयों पर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग की सुविधा शुरू होने के साथ ही पार्टी की जिला इकाइयां प्रदेश व राष्ट्रीय मुख्यालय से डिजिटली जुड़ गई हैं. अब राष्ट्रीय स्तर से जिला स्तर की संवाद प्रकिया सहज हो सकेगी. अभियान और संवाद से सोशल डेस्टिसिंग का पालन करते हुए भी सहजता से जुड़ सकेंगे.
कोरोना के कारण हुई थोड़ी देर


उन्होंने कहा कि पार्टी संगठन ने उत्तर प्रदेश में फरवरी-मार्च में वीडियों कॉन्फ्रेसिंग रूम शुरू करने की योजना बनाई थी, लेकिन कोरोना वैश्विक आपदा के कारण थोड़ा विलम्ब हुआ. उन्होंने पार्टी पदाधिकारियों से अपेक्षा की कि वे अब जिला स्तर पर पार्टी कार्यालयों में स्थापित किए गए वीडियो कॉन्फ्रेसिंग रूम का उपयोग संगठनात्मक गतिविधियों के लिए करते हुए मण्डल-सेक्टर-बूथ तक के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करें.

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश नेतृत्व भी क्षेत्रवार बैठकों और अभियानों की समीक्षा के वर्चुअल कार्यक्रम करेगा और सम्बंधित जिलों के पदाधिकारी व कार्यकर्ता अपने केंद्र से ही जुड़ सकेंगे. बीजेपी प्रदेश कार्यालय से महामंत्री सुनील बंसल और अपने आवास से प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इन जिलों के कार्यकर्ताओं से जिला कार्यालय के माध्यम से जुड़े.

चुनावी तैयारियों में मिलेगी मदद: प्रदेश अध्यक्ष
प्रदेश अध्यक्ष कहते हैं कि ये सब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान डिजिटल इंडिया से प्रेरणा लेकर किया गया है और इससे चुनावी तैयारियों में काफी मदद मिलेगा. वैसे तो देशभर में बीजेपी के संगठनात्मक कामों में तेजी लाने के लिए तकनीक का इस्तेमाल तेजी से हो रहा है, लेकिन उसमें सबसे ऊपर उत्तरप्रदेश का नाम है. तकनीकी रूप से जिला कार्यालयों को लैस कर बीजेपी मिशन 2022 के लिए अपना रास्ता आसान बनाने की स्क्रिप्ट  तैयार कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज