लाइव टीवी

बीजेपी के इस MLA की हो सकती है विधायकी खत्म, चुनाव आयोग ने लिखा पत्र

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 29, 2019, 3:52 PM IST
बीजेपी के इस MLA की हो सकती है विधायकी खत्म, चुनाव आयोग ने लिखा पत्र
बीजेपी विधायक अशोक चंदेल (फाइल फोटो)

मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वर लू ने विधानसभा के प्रमुख सचिव और प्रमुख सचिव, गृह को पत्र लिखकर अशोक चंदेल की विधानसभा से सदस्यता समाप्त करने की मांग की है.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में हुए सामूहिक हत्याकांड के दोषी बीजेपी विधायक अशोक सिंह चंदेल की विधायकी समाप्त हो सकती है. मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वर लू ने विधानसभा प्रमुख सचिव और प्रमुख सचिव गृह को पत्र लिखा है. पत्र में अशोक चंदेल की विधानसभा की सदस्यता समाप्त करने की मांग की गई है.

बता दें कि विधायक ने इसी महीने 14 मई को कोर्ट में सरेंडर किया था. इसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया था. इस दौरान मामले के अन्य दोषियों रघुवीर सिंह, नसीम और भान सिंह ने भी समर्पण कर दिया था. कोर्ट में सरेंडर करते वक्त उनके साथ बड़ी संख्या में समर्थक थे. उन्होंने अपने समर्थकों के साथ ‘शोड शो’ की तरह कोर्ट में सरेंडर किया. सरेंडर करने के दौरान विधायक के समर्थकों और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की भी हुई. इस मामले में 400 अज्ञात समर्थकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया.

पुलिस गिरफ्त में बीजेपी विधायक अशोक चंदेल


क्या था मामला?

22 साल पहले 26 जनवरी 1997 को राजीव शुक्ला के दो भाइयों व एक भतीजे सहित पांच लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. पिछले महीने 19 अप्रैल को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अशोक सिंह चंदेल सहित 9 लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. स्थानीय अदालत ने 8 लोगों के खिलाफ हाईकोर्ट के आदेश के अनुपालन में गिरफ्तारी वारंट जारी किया था. साथ ही कोर्ट ने पुलिस को 13 मई तक न्यायालय में पेश करने का आदेश भी दिया था. इसके बाद से पुलिस इन सभी दोषियों को गिरफ्तार करने के लए तलाशी कर रही थी.

विधायक के आने से पहले पहुंच गए समर्थक

पुलिस की चौकसी को धता बताते हुए 14 मई की सुबह विधायक अशोक चंदेल समेत छह सजायाफ्ता अभियुक्त अपनी फाच्र्यूनर कार से कोर्ट परिसर में पहुंचे थे. उनके आने से पहले करीब दो हजार समर्थकों की भीड़ कोर्ट के बाहर जमा हो चुकी थी. उनके आते ही समर्थकों ने नारेबाजी शुरू कर दी. सरेंडर को लेकर हमीरपुर, महोबा और बांदा का पुलिस फोर्स कोर्ट परिसर में मौजूद था लेकिन सजायाफ्ता पांच लोग सीधे एडीजे द्वितीय की कोर्ट कक्ष में प्रवेश कर गए. कोर्ट कक्ष में पहुंचने से पुलिस विधायक को गिरफ्तार नहीं कर सकी. हालांकि तीन सजायाफ्ता लोगों को कोर्ट आने से पहले पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.
Loading...

ये भी पढ़ें-

यूपी में विपक्षी दलों के लिए एक बार फिर उपचुनाव ही आसरा

बाराबंकी जहरीली शराब से मौत मामला: जिला आबकारी अधिकारी समेत 10 पर गिरी गाज

यूपी: BSP नेता की गोली मारकर हत्या, मिठाई के डिब्बे में पिस्टल लेकर आये थे बदमाश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 29, 2019, 3:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...