लाइव टीवी

मंत्री स्वाति सिंह के समर्थन में उतरे BJP एमएलसी, बोले- सीओ को तुरंत करें सस्पेंड

News18 Uttar Pradesh
Updated: November 18, 2019, 4:36 PM IST
मंत्री स्वाति सिंह के समर्थन में उतरे BJP एमएलसी, बोले- सीओ को तुरंत करें सस्पेंड
मंत्री स्वाति सिंह

सीएम योगी (CM Yogi) को भेजे गए खत में कहा गया है कि कोई भी जनप्रतिनिधि या मंत्री जनसमस्याओं के समाधान के लिए किसी अधिकारी से याचक भाव में बात नहीं कर सकता.

  • Share this:
लखनऊ. योगी सरकार में मंत्री स्वाति सिंह (Swati Singh) का सीओ कैंट (CO Cantt) को धमकी देने का ऑडियो वायरल होने के बाद उनके समर्थन में बीजेपी एमएलसी देवेंद्र प्रताप सिंह (BJP MLC Devendra Pratap Singh) उतर आए हैं. एमएलसी देवेंद्र प्रताप सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) को खत लिखकर मंत्री स्वाति सिंह द्वारा सीओ बीनू सिंह को दिए गए निर्देश को सही ठहराया है. लेटर में कहा गया है कि कोई भी जनप्रतिनिधि या मंत्री जनसमस्याओं के समाधान के लिए किसी अधिकारी से याचक भाव में बात नहीं कर सकता. जनहित में निर्देश देना जनप्रतिनिधि का विधायी अधिकार है.

सीएम को लिखे खत में एमएलसी देवेंद्र प्रताप सिंह ने कहा है कि प्रदेश सरकार की मंत्री स्वाति सिंह ने ऐसा कुछ नहीं कहा, जो संसदीय गरिमा के विपरीत हो. बल्कि अधिकारी ने मंत्री से हुई बातचीत को स्वयं वायरल कर प्रशासनिक सेवा नियमावली का उल्लंघन किया है. इसलिए सीओ बीनू सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाए.

क्या है पूरा मामला?
धोखाधड़ी और ठगी के मामले में लखनऊ में अंसल ग्रुप के खिलाफ जांच चल रही है. मामले में ग्रुप के चेयरमैन से लेकर तमाम लोग फंसे हैं. इस बीच अंसल ग्रुप के खिलाफ दर्ज एक नई एफआईआर को लेकर योगी सरकार में मंत्री स्वाति सिंह ने लखनऊ में सीओ कैंट को फोन पर कथित तौर पर धमकी देने का ऑडियो वायरल हो गया. न्यूज़ 18 वायरल हुए इस कथित ऑडियो की पुष्टि नहीं करता.

इस ऑडियो में कथित तौर पर मंत्री स्वाति सिंह सीधे तौर पर सीओ को एफआईआर खत्म करने की हिदायत देती हुई सुनाई दे रही हैं. साथ ही वो ये भी कह रही हैं कि एक दिन आकर बैठ लीजिएगा, अगर यहां पर काम करना है तो. उधर ऑडियो वायरल होने के बाद राज्य के डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने मामले में लखनऊ के एसएसपी (Lucknow SSP) से रिपोर्ट तलब की है.

ऑडियो में बातचीत के अंश 
कथित वायरल ऑडियो में सुनाई दे रहा है कि एक शख्स सीओ को फोन कर कह रहा है कि माननीय मंत्री स्वाति सिंह बात करेंगीं. इसके बाद कॉल पर स्वाति सिंह आती हैं...स्वाति सिंह- सीओ साहब, क्या आपने अंसल पर कोई एफआईआर लिखी है?

सीओ- हां, एक एफआईआर लिखी है.
स्वाति सिंह- क्यों लिखा आपने? क्या आपको पता नहीं है कि ऊपर से आदेश है कि कोई एफआईआर लिखा नहीं जाएगा. सारे फर्जी एफआईआर लिखे जा रहे हैं उसके ऊपर.

सीओ- वो तो जांच कर के एफआईआर लिखी गई है.
स्वाति सिंह- कौन सी जांच हो गई भाई? इतना हाईप्रोफाइल केस है. जांच चल रही है, सीएम साहब तक के संज्ञान में ये चीजें हैं. आपने कौन सी जांच कर दी, चार दिन हुआ आपको आए हुए?

सीओ- पहले की एप्लीकेशन है न, 5-6 महीने पहले की.
मंत्री- अरे फर्जी है ये सब, खत्म कीजिए इसको. एक दिन आकर बैठ लीजिएगा, अगर यहां पर काम करना है तो. ठीक है. मैं गलत काम नहीं बोलती हूं. पता कर लीजिएगा.
सीओ- ठीक है.

(इनपुट: अजीत प्रताप सिंह)

ये भी पढ़ें:

अयोध्या फैसले पर रिव्यू पिटीशन को लेकर मुस्लिम पक्षों में दो फाड़!

सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगा AIMPLB

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 4:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर