राहुल गांधी गेहूं, धान, ज्वार के पौधे पहचान लें तो करूंगा स्वागत: बीजेपी सांसद
Lucknow News in Hindi

राहुल गांधी गेहूं, धान, ज्वार के पौधे पहचान लें तो करूंगा स्वागत: बीजेपी सांसद
भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त. Photo: News 18

भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह ने कहा कि किसान संवाद कार्यक्रम के माध्यम से किसानों की खुशहाली के लिए पीएम मोदी जल्द ही स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने जा रहे हैं.

  • Share this:
भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद वीरेन्द्र सिंह 'मस्त' ने मंगलवार को प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र और यूपी की सरकार किसान हितैषी सरकार है. ये 2022 तक किसानों की समृद्धि के लिए उनकी आय में दोगुना वृद्धि के लिए पूरी तरह कटिबद्ध है. उन्होंने कहा कि बीजेपी किसान मोर्चा किसानों की ऋण माफी, गन्ना किसानों के भुगतान, रिकार्ड गेहूं-धान और आलू की खरीद जैसे किसानों के हित में लिए गए निर्णय पर यूपी में 6 ऋषि-कृषि परम्परा सम्मेलन आयोजित करेगा. इसमें प्रदेश के मुख्यमंत्री को सम्मानित करेगा.

किसान मोर्चा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि कृषि इस देश में व्यवसाय नहीं बल्कि भारत के लोगों की जीवनधारा है. भारतीय जनता पार्टी का मानना है कि किसानों के सामाजिक, आर्थिक और सांस्कृतिक विकास राष्ट्र की समृद्धि के लिए नितांत आवश्यक है. उन्होंने कहा कि यूपी के इतिहास में किसान समृद्धि आयोग का गठन कर अन्नदाता को खुशहाल व समृद्ध बनाने की दिशा में जो निर्णय लिया वह अत्यन्त सराहनीय निर्णय है.

वीरेन्द्र सिंह ने कहा कि किसान संवाद कार्यक्रम के माध्यम से किसानों की खुशहाली के लिए पीएम मोदी जल्द ही स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने जा रहे हैं. सरकार ने भेड़ पालन के लिए 10 भेड़ पर 1 लाख और 100 भेड़ पर 10 लाख देने का निर्णय किया है. पशुपालन व फलदान वृक्ष लगाकर खेत के मेड़ों पर पेड़ लगाए जाने की अनेक ऐसी योजनाओं पर कार्य कर रही है, जो किसानों की आय को दोगुनी करने में मदद करेगें.



इस दौरान किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को चुनौती देते हुए कहा कि यदि वह गेहूं, धान, ज्वार के पौधे को पहचान लें तो वह भाजपा किसान मोर्चा के अध्यक्ष होने के नाते उनके कार्यालय जाकर उनका स्वागत करेंगे.



किसान मोर्चा अध्यक्ष ने कहा कि शासन, प्रशासन और समाज तीनों मिलकर लाभार्थियों को योजना का लाभ पहुचाएंगे. उन्होंने कहा कि कृषि उत्पादन लागत घटाने तथा किसानों को उपज की लागत का डेढ़ गुना कीमत प्राप्त हो, किसान समृद्ध हो केन्द्र व राज्य दोनों सरकार इसके लिए कृत संकल्पित है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading