स्वच्छता मैराथन : CM योगी बोले-न गंदगी करुंगा और न करने दूंगा

सीएम योगी आदित्यनाथ बीजेपी के स्वच्छता मैराथन कार्यक्रम में.
सीएम योगी आदित्यनाथ बीजेपी के स्वच्छता मैराथन कार्यक्रम में.

भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार 2 अक्टूबर को पूरे प्रदेश में स्वच्छता मैराथन का आयोजन किया. लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वच्छता मैराथन हरी ​झंडी दिखाई.

  • Share this:
भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार 2 अक्टूबर को पूरे प्रदेश में स्वच्छता मैराथन का आयोजन किया. लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वच्छता मैराथन को हरी ​झंडी दिखाई.

कार्यक्रम के दौरान सीएम योगी ने सरदार पटेल प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए. इस दौरान डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्रनाथ पांडेय, मंत्री गोपाल टंडन, पंकज सिंह भी मौजूद रहे.

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि स्वच्छता ही सेवा है. इसमें हम सब जन भागीदारी करें. सीएम ने कहा कि गांधी जी ने अंग्रेजों भारत छोड़ो आन्दोलन की शुरुआत की. 2017 से 22 तक हम कैसा भारत चाहते हैं, इसका संकल्प लेना होगा. गांधी जी के साथ पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री को भी नमन.



मुख्यमंत्री योगी ने लोगों को स्वच्छता की शपथ दिलाई. उन्होंने लोगों को हर सप्ताह दो घंटे श्रमदान करने की शपथ दिलाई. सीएम ने कहा कि न खुद गंदगी करूंगा और न किसी को करने दूंगा. सीएम ने कहा कि गांव-गांव तक स्वच्छ भारत मिशन को पहुंचाना होगा.
बीजेपी कार्यकर्ताओं समेत सैकड़ों लोग मैराथन में शामिल हुए. पटेल प्रतिमा से आयोजित ये स्वच्छता मैराथन राजभवन और जीपीओ होते हुए गांधी प्रतिमा तक मैराथन गई.

राजधानी के अलावा हर जिले में होने वाली इस मैराथन में योगी सरकार के मंत्रियों के साथ सांसद और विधायकों व पार्टी के पदाधिकारियों को जिम्मेदारी दी गई. कानपुर में डिप्टी सीएम डिप्टी सीएम केशव मौर्य, आगरा में मंत्री श्रीकांत शर्मा, वाराणसी में मंत्री सुरेश खन्ना शामिल हुए.

बीजेपी स्वच्छता मैराथन अभियान के समन्वयक पूर्व प्रदेश मंत्री वीरेंद्र तिवारी ने बताया कि प्रदेश में नगरीय क्षेत्र के 653 स्थानीय निकाय, नगर निगम, नगर पालिका, नगर पंचायत के 8500 वार्ड हैं. जहां 17 सितम्बर से स्वच्छता अभियान कार्यक्रम चलाया जा रहा है. 2 अक्टूबर को इस अभियान का समापन हो गया.

प्रदेश के अलग-अलग जिलों में स्वच्छता मैराथन में पहुंचने वाले नेता-

पश्चिम क्षेत्र

रामपुर में प्रदेश मंत्री देवेन्द्र सिंह, मुरादाबाद में प्रदेश उपाध्यक्ष जसवन्त सैनी, अमरोहा में कैबिनेट मंत्री चेतन चैहान, शामली में स्वतंत्र प्रभार मंत्री सुरेश राणा, बिजनौर में प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती कान्ता कर्दम, सहारनपुर में कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही एवं विजयपाल सिंह तोमर, मुजफ्फरनगर में प्रदेश महामंत्री अशोक कटारिया, मेरठ में प्रदेश महामंत्री विजय बहादुर पाठक, गाजियाबाद में मंत्री अतुल गर्ग, हापुड़ में प्रदेश मंत्री श्रीमती मंजू दिलेर, गौतमबुद्धनगर कैबिनेट मंत्री जयप्रताप सिंह, बागपत में कैबिनेट मंत्री एस0पी0 सिंह बघेल, सम्भल में राज्यमंत्री बल्देव सिेह औलख, बुलन्दशहर में प्रदेश उपाध्यक्ष अश्वनी त्यागी रहेंगे.

ब्रज क्षेत्र

आगरा में कैबिनेट मंत्री श्रीकान्त शर्मा, मथुरा में स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्री भूपेन्द्र चैधरी, फिरोजाबाद में राज्यमंत्री नीलकण्ठ तिवारी, एटा में क्षेत्रीय अध्यक्ष बीएल वर्मा, अलीगढ़ में प्रदेश मंत्री अनूप गुप्ता, हाथरस में प्रदेश मंत्री धर्मवीर प्रजापति एवं प्रदेश सह कोषाध्यक्ष नवीन जैन, मैनपुरी राज्यमंत्री गिरीश यादव, कासगंज में राज्यमंत्री सुरेश पासी, बरेली में कैबिनेट मंत्री ब्रजेश पाठक, शाहजहांपुर में कैबिनेट मंत्री लक्ष्मीनारायण चौधरी, पीलीभीत कैबिनेट मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा, बदायूं प्रदेश उपाध्यक्ष, राजबीर सिंह.

अवध क्षेत्र

लखनऊ में उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा, कैबिनेट मंत्री आशुतोष टण्डन, प्रदेश महामंत्री पंकज सिंह, रायबरेली में कैबिनेट मंत्री नन्दकुमार गुप्ता ’नन्दी’, सीतापुर में कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा जोशी, लखीमपुर में राज्यमंत्री श्रीमती गुलाबो देवी, हरदोई में स्वतत्र प्रभार राज्यमंत्री अनिल राजभर, अम्बेडकर नगर में प्रदेश उपाध्यक्ष राम नरेश रावत, बाराबंकी में कैबिनेट मंत्री दारा सिंह चैहान, बलरामपुर में स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्री अनुपमा जायसवाल, बहराइच में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, गोण्डा में राज्यमंत्री उपेन्द्र तिवारी, श्रावस्ती में राज्यमंत्री रणवेन्द्र प्रताप सिंह धुन्नी, फैजाबाद में कैबिनेट मंत्री सतीश महाना एवं पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष हरद्वार दूबे, उन्नाव में कैबिनेट मंत्री रमापति शास्त्री.

कानपुर/बुन्देलखण्ड क्षेत्र

कानपुर महानगर दक्षिण में उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, कानपुर ग्रामीण में अर्चना पाण्डेय, इटावा में स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्री स्वतंत्र देव सिंह, कन्नौज में प्रदेश उपाध्यक्ष बाबू राम निषाद, फर्रूखाबाद में प्रदेश महामंत्री सलिल विश्नोई, फतेहपुर कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचौरी, औरैया में राज्यमंत्री धर्म सिंह सैनी, झांसी में कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र प्रताप ‘मोती सिंह’, बांदा में कैबिनेट मंत्री धर्म पाल सिंह, महोबा में प्रदेश मंत्री श्रीमती रंजना उपाध्याय, चित्रकूट में स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्री डा0 महेन्द्र सिंह, हमीरपुर में राज्यमंत्री मनोहर लाल ‘मन्नू कोरी’, जालौन में राज्यमंत्री जय कुमार सिंह जैकी, ललितपुर में प्रदेश मंत्री सुरेश अवस्थी.

काशी क्षेत्र

वाराणसी में कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना, गाजीपुर में पूर्व मेयर शिवनाथ यादव, प्रतापगढ़ में स्वतंत्र प्रभार राज्यमंत्री स्वाती सिंह, भदोही में प्रदेश मंत्री शंकर गिरि, जौनपुर में प्रदेश उपाध्यक्ष राकेश त्रिवेदी, सुल्तानपुर में प्रदेश मंत्री गोविन्द नरायण शुक्ल, अमेठी में राज्यमंत्री मोहसिन रजा एवं प्रदेश मंत्री अमर पाल मौर्य, इलाहाबाद में पूर्व विधायक अशोक धवन एवं विधायक अरूण पाठक, चन्दौली में राज्यमंत्री जय प्रकाश निषाद, कौशाम्बी में प्रदेश उपाध्यक्ष प्रकाश शर्मा, मीरजापुर में प्रदेश महामंत्री विद्या सागर सोनकर, सोनभद्र प्रदेश मंत्री कौशलेन्द्र्र सिंह पटेल.

गोरखपुर क्षेत्र

गोरखपुर में पूर्व प्रदेश महामंत्री रामनरेश अग्निहोत्री एवं पूर्व सांसद राम सकल, संतकबीर नगर में अध्यक्ष युवा मोर्चा सुब्रत पाठक, बस्ती में प्रदेश मंत्री सुभाष यदुवंश, सिद्धार्थनगर में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रमापति राम त्रिपाठी, महराजगंज में प्रदेश मंत्री सन्तोष सिंह, देवरिया में पूर्व केन्द्रीय मंत्री कलराज मिश्र, कुशीनगर में क्षेत्रीय अध्यक्ष उपेन्द्र शुक्ला, आजमगढ़ में विधायक दयाराम चैधरी, मऊ में प्रदेश मंत्री महेश चन्द्र श्रीवास्तव, बलिया में प्रदेश मंत्री कामेश्वर सिंह.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज