Home /News /uttar-pradesh /

मिशन 2019 में लगे अमित शाह यूपी के सांसदों, विधायकों की लेंगे 'परीक्षा'

मिशन 2019 में लगे अमित शाह यूपी के सांसदों, विधायकों की लेंगे 'परीक्षा'

BJP राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (फाइल फोटो)

BJP राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (फाइल फोटो)

4 जुलाई को अमित शाह लखनऊ से सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी जाएंगे, यहां वह करीब 2000 सोशल मीडिया वालान्टियर्स को संबोधित करेंगे.

    उत्तर प्रदेश में लोकसभा और विधानसभा उपचुनाव में हार के बाद भारतीय जनता पार्टी ने मिशन 2019 की तै​यारियों में पूरी ताकत झोंक दी है. एक तरफ राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ लगातार बीजेपी संगठन और सरकार के मंत्रियों के बीच बेहतर तालमेल की कोशिश में लगा हुआ है. वहीं दूसरी तरफ बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी अब माइक्रो लेवल पर संगठन को दुरुस्त करने में लग गए हैं.

    राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 4 जुलाई को वाराणसी और मिर्ज़ापुर में पार्टी नेताओं से मिलेंगे. इसके बाद वह 5 जुलाई को आगरा जाकर पश्चिमी यूपी के बीजेपी नेताओं की तैयारी का जायजा लेंगे. इस दौरान सीएम योगी भी उनके साथ रहेंगे. मिर्जापुर में जहां वह अवध, गोरखपुर और काशी क्षेत्र के पदाधिकारियों, सांसदों विधायकों से मिलेंगे. वहीं आगरा में ब्रज, पश्चिम और कानपुर-बुंदेलखंड क्षेत्र के नेताओं के साथ बैठक करेंगे. यही नहीं अमित शाह की आईटी सेल के साथ अलग से बैठक होनी है.

    यह भी पढ़ें: ऐसे तो यूपी की 71 में से 46 लोकसभा सीटें गंवाती दिख रही है BJP!

    दरअसल 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले अमित शाह यूपी के प्रभारी हुआ करते थे. उस समय उन्होंने इसी माइक्रो मैनेजमेंट के दम पर यूपी में विपक्षियों को चारों खाने चित कर दिया था. 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को यूपी में ऐतिहासिक 71 सीटें मिली थीं, इस जीत ने अमित शाह के मैनेजमेंट का लोहा मनवाया.

    सांसदों, विधायकों से किए जाएंगे जवाबी सवाल
    इसी क्रम में एक बार फिर राष्ट्रीय अध्यक्ष यूपी दौरे पर हैं. इस बार भी उन्होंने एक जगह बैठकर सभी नेताओं से फीडबैक और रणनीति पर चर्चा करने की बजाए, प्रदेश भर में घूम-घूम कर स्थानीय स्तर पर रणनीति बनाने की तैयारी की है. पार्टी सूत्रों के अनुसार यूपी की हर विधानसभा को लेकर फीडबैक पहले ही अमित शाह के पास पहुंच चुका है.

    अब वाराणसी और आगरा में होने वाली बैठक में संगठन पदाधिकारियों के साथ जो भी सांसद, विधायक राष्ट्रीय अध्यक्ष से मिलेगा, उसे 'परीक्षा' का सामना करना पड़ेगा. यहां वह अपनी समस्याओं से राष्ट्रीय अध्यक्ष को अवगत तो करा सकेगा लेकिन साथ ही उसे हाईकमान की तरफ से जवाबी सवालों का भी सामना करना पड़ेगा.

    यह भी पढ़ें: 2019 रण के लिए यूपी में खिंचीं तलवारें, बीजेपी और कांग्रेस उतरीं मैदान में

    आक्रामक आईटी रणनीति बनाने की तैयारी में बीजेपी

    4 जुलाई को लखनऊ पहुंचने के बाद अमित शाह सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी जाएंगे, यहां वह करीब 2000 सोशल मीडिया वालंटियर्स को संबोधित करेंगे. वाराणसी में सोशल मीडिया वालंटियर्स के अमित शाह की बैठक को बीजेपी की रणनीति का अहम हिस्सा माना जा रहा है. कहा जा रहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में इन वालंटियर्स के जरिए, बीजेपी आक्रामक आईटी रणनीति अपनाने की तैयारी में है. इसके अलावा शाह मिर्जापुर और आगरा में संगठन पदाधिकारियों के साथ भी बैठक करेंगे.

    बता दें कि उत्तर प्रदेश में करीब डेढ़ साल की हो रही योगी सरकार में मंत्रिमंडल फेरबदल लंबित है. वहीं 2019 की तैयारियों को लेकर टिकट बंटवारे पर मंथन चल रहा है. ऐसे में अमित शाह का ये दौरा यूपी के मंत्रियों और सांसदों के भविष्य पर अंतिम मुहर लगाएगा.

    यह भी पढ़ें: 2019 के रण से पहले यूपी बीजेपी में अहम बदलाव, संघ के प्रचारकों के सहारे फतेह की तैयारी

    राष्ट्रीय अध्यक्ष का कार्यकर्ताओं से मिलने का रहा है जबरदस्त रिकॉर्ड: बीजेपी
    इस दौरे पर यूपी बीजेपी के प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा कि राष्ट्रीय अ​ध्यक्ष अमित शाह का कार्यकर्ताओं के बीच जाने, उनके साथ बैठकर काम करने, उनकी समस्या को सुनने, उसे हल करने का जबरदस्त रिकॉर्ड रहा है. यही कारण है कि वह लगातार प्रवास पर रहते हैं. इसी क्रम में वह वाराणसी और आगरा भी आ रहे हैं.

    इस दौरान वह कार्यकर्ताओं से जानेंगे कि यूपी और केंद्र सरकार की योजनाएं जनता तक पहुंच रही हैं, या नहीं पहुंच रही हैं. वहीं कार्यकर्ताओं की क्या समस्याएं हैं, इसका भी वह फीडबैक लेंगे. उन्होंने बताया कि इस दो दिन के कार्यक्रम में राष्ट्रीय अध्यक्ष को प्रदेश के सभी क्षेत्रों के पदाधिकरियों से मिलना है. इस दौरान जन प्रतिनिधि भी उनसे मिलेंगे.

    ये भी पढ़ें: 

    राम मंदिर पर गरमाई सियासत, संतों, नेताओं के आवाज बुलंद करने से बीजेपी की बढ़ी मुश्किलें

    बीजेपी को घेरने के लिए सपा कर रही फॉर्मूले पर काम, कांग्रेस को लग सकता है झटका

    लोकसभा चुनाव 2019: राहुल गांधी नहीं, मायावती बनाम मोदी होने वाला है!

    Tags: Amit shah, BJP, General Election 2019, Uttarpradesh news, लखनऊ

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर