Rajya Sabha Elections: क्षत्रिय-ब्राह्मणों में संतुलन के साथ BJP की जातीय समीकरण साधने की कोशिश

जेपी नड्डा के साथ योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)
जेपी नड्डा के साथ योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

भारतीय जनता पार्टी (BJP) की ओर से राज्यसभा चुनाव के लिए जारी प्रत्याशियों की लिस्ट में क्षत्रिय, ब्राह्मण, पिछड़ा वर्ग, एससी और अल्पसंख्यक समुदाय के साथ महिलाओं की नुमाइंदगी का भी खयाल रखा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 27, 2020, 11:49 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश से भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha elections) के लिए अपने 8 प्रत्याशियों की लिस्ट जारी कर दी है. इस लिस्ट में बीजेपी ने जातीय समीकरण को साधने की पूरी कोशिश की है. तमाम विपक्षी दलों द्वारा योगी सरकार में ब्राह्मण विरोध के सुर बुलंद किए जा रहे थे. वहीं, इस लिस्ट में पार्टी ने दो क्षत्रियों के साथ दो ब्राह्मण प्रत्याशियों को जगह देकर कहीं न कहीं संतुलन साधने और विरोधियों को जवाब देने की कोशिश की है.

बीजेपी ने क्षत्रिय, पिछड़े, एससी और अल्पसंख्यक समुदाय के साथ महिलाओं की नुमाइंदगी का भी खयाल रखा है. बीजेपी की लिस्ट में सीमा द्विवेदी और गीता शाक्य दो महिला चेहरे भी हैं. वहीं, जातियों की बात करें तो अरुण सिंह, नीरज शेखर (क्षत्रिय), हरिद्वार दुबे और सीमा द्विवेदी (ब्राह्मण), बीएल वर्मा और गीता शाक्य (पिछड़े वर्ग) से हैं, जबकि यूपी के पूर्व डीजीपी बृजलाल एससी और हरदीप सिंह पुरी सिख हैं.

9वां प्रत्याशी उतरने की उम्मीद नहीं
वैसे बीजेपी की इस लिस्ट को लेकर एक और चर्चा आम है. वह यह कि क्या बीजेपी अपना 9वां प्रत्याशी खड़ा करेगी? बीजेपी के सभी 8 प्रत्याशी बुधवार को नामांकन कर देंगे, ऐसे में 9वें प्रत्याशी के मौदान में उतरने की संभावना कम ही मानी जा रही है.
तो बसपा का प्रत्याशी जीत जाएगा निर्विरोध


दिलचस्प बात ये है कि कम विधायक संख्या होने के बावजूद इस बार बसपा ने भी अपने प्रत्याशी खड़े किए हैं. अगर बीजेपी प्रत्याशी नहीं खड़ा करती है तो बसपा की राहें आसान होती हैं. इसे कहीं न कहीं बीजेपी के मिशन 2022 में बसपा (BSP) के लिए एक संकेत माना जा सकता है, क्योंकि बीजेपी या उसके सहयोगी दल का 9वां प्रत्याशी अगर मैदान में नहीं होगा तो चुनाव नहीं होगा और बसपा-सपा सहित सभी बीजेपी के प्रत्याशी निर्विरोध राज्यसभा पहुंच जाएंगे.

9 नवंबर को मतदान
निर्वाचन आयोग ने राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव की घोषणा 13 अक्टूबर को की थी. इन सीटों के लिए चुनाव की अधिसूचना 20 अक्टूबर को जारी हो गई है. घोषित कार्यक्रम के अनुसार 27 अक्टूबर नामांकन की अंतिम तिथि है. 28 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की जांच की होगी. 2 नवंबर तक नाम वापस लिए जा सकेंगे. 9 नवंबर को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक मतदान होगा. उसी दिन शाम पांच बजे से मतगणना होगी और परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे. उत्तर प्रदेश में राज्यसभा की 10 सीटें 25 नवंबर को खाली हो रही हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज