लाइव टीवी

बीजेपी का तंज- हताश अखिलेश यादव अब हाथ की लकीरें दिखाते फिर रहे हैं
Lucknow News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 17, 2020, 1:52 PM IST
बीजेपी का तंज- हताश अखिलेश यादव अब हाथ की लकीरें दिखाते फिर रहे हैं
बीजेपी प्रवक्ता डॉ चंद्रमोहन

बीजेपी प्रवक्त डॉ चंद्रमोहन के अनुसार हार को भूलकर अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) अब अपनी हाथ की लकीरों का जिक्र कर सपा कार्यकर्ताओं को प्रदेश में दोबारा सत्ता पाने का सब्जबाग दिखा रहे हैं, यह केवल उनका लड़कपन ही है. इसके बूते सत्ता में वापसी का केवल सपना ही देखा जा सकता है.

  • Share this:
लखनऊ. भारतीय जनता पार्टी (BJP) मंगलवार को कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के नेतृत्व में चल रही सरकार के अच्छे कार्यों से समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) बेहद हताशा में हैं. इनकी हताशा इस कदर बढ़ गई है कि ये अब लोगों को हाथ की लकीरें दिखाते फिर रहे हैं. पार्टी प्रदेश मुख्यालय पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए प्रदेश प्रवक्ता डॉ चन्द्रमोहन ने कहा कि अखिलेश यादव का यह कहना कि उनकी हाथ की लकीरें देखकर वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में 350 सीटें जीतने की भविष्यवाणी की गई है, यह बेहद हास्यास्पद कथन है.

डॉ चंद्रमोहन ने कहा  कि यह साबित करता है कि अखिलेश यादव अपने कार्यकर्ताओं को दिलासा देने के लिए हाथ की लकीरों का सहारा ले रहे हैं. उन्हें इस बात का अभास नहीं है कि वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने किस कदर अपना पसीना बहाकर जनता की देखभाल की थी. इसी का नतीजा था कि भाजपा ने प्रदेश में 300 से अधिक सीटें जीती थीं.

प्रदेश प्रवक्ता डॉ चन्द्रमोहन ने कहा कि अखिलेश के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी की सरकार के प्रति जनता की नाराजगी अभी तक बनी हुई है. यही वजह है कि इस पार्टी के कार्यकर्ताओं को हमेशा जनता के बीच जाने में भय सताता रहता है. दूसरी ओर भाजपा सरकार के अच्छे कार्यों से जनता के बीच एक सकारात्मक माहौल बना है. इससे बेहद डरे अखिलेश यादव अब हिंदू-मुसलमान के बीच दुराव पैदा कर केवल गंदी राजनीति पर उतर आए हैं. अखिलेश यादव का यह कहना कि रामपुर से सपा सांसद आजम खान को मुसलमान होने की वजह से भाजपा सरकार प्रताड़ित कर रही है, सपा की मुस्लिम तुष्टीकरण की राजनीति का जीता जागता उदाहरण है.



प्रदेश प्रवक्ता डॉ चन्द्रमोहन ने कहा कि हालांकि प्रदेश की सम्मानित जनता को अखिलेश यादव की समाज को बांटने वाली राजनीति की पूरी तरह से पहचान हो चुकी है. यही वजह है कि जनता ने अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली सपा को 2014, 2017 व 2019 चुनाव दर चुनाव बुरी हार दी है.



हार को भूलकर अखिलेश यादव अब अपनी हाथ की लकीरों का जिक्र कर सपा कार्यकर्ताओं को प्रदेश में दोबारा सत्ता पाने का सब्जबाग दिखा रहे हैं, यह केवल उनका लड़कपन ही है. इसके बूते सत्ता में वापसी का केवल सपना ही देखा जा सकता है. असलियत में तो सपा को अगले विधानसभा चुनाव में और बुरी हार मिलने वाली है.

ये भी पढ़ें:

कोरोना पीड़ितों को मुफ्त इलाज देगी योगी सरकार, स्कूल-कॉलेज 2 अप्रैल तक बंद

टेंट नहीं, बुलेटप्रूफ मंदिर में विराजेंगे रामलला,नवरात्र के पहले दिन स्थापना
First published: March 17, 2020, 1:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading