होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /UP Chunav: 10 हजार वोटर्स, 300 सीटों पर सम्मेलन...नाराज ब्राह्मणों को मनाने को BJP ने बनाया यह 'मास्टर प्लान'

UP Chunav: 10 हजार वोटर्स, 300 सीटों पर सम्मेलन...नाराज ब्राह्मणों को मनाने को BJP ने बनाया यह 'मास्टर प्लान'

पीएम मोदी और सीएम योगी की फाइल फोटो

पीएम मोदी और सीएम योगी की फाइल फोटो

UP Brahmin Sammelan: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh Chunav) में 'फिर एक बार योगी सरकार' के सपने को साकार करने के लिए भारती ...अधिक पढ़ें

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh Chunav) में ‘फिर एक बार योगी सरकार’ के सपने को साकार करने के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP News) कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है. यही वजह है कि चुनावी समर में जाने से पहले ही भाजपा अपने टारगेट वोटरों की नाराजगी को दूर करने की कोशिशों में जुटी हुई है. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh News) में ब्राह्मणों की नाराजगी दूर करने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने रोडमैप बना लिया है. इसके लिए प्रदेशभर में ब्राह्मण सम्मेलन (Brahmin Sammelan) का आयोजन किया जाएगा.

सूत्रों के मूताबिक, उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी जनवरी के दूसरे सप्ताह से ब्रह्मणों की नाराजगी को दूर करने के 300 से ज़्यादा सीटों पर ब्राह्मण सम्मेलन करने जा रही है. बीजेपी वैसी विधानसभा सीटों पर ब्राह्मण सम्मेलन करेगी, जहां ब्राह्मण मतदाताओं की संख्या 10 हजार से ऊपर है.

पिछले सप्ताह यूपी बीजेपी की बड़े ब्राह्मण नेताओं की बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान के साथ बैठक हुई थी. इस बैठक में यूपी में नाराज ब्राह्मण समाज को मनाने की रणनीति बनाई गई थी. राज्यसभा सांसद शिव प्रताप शुक्ला के नेतृत्व में चार सदस्यीय कमेटी बनाई गई है. 300 से ज़्यादा विधानसभा सीटों पर केंद्र सरकार में ब्राह्मण मंत्रियों, सांसद और विधायक, प्रबुद्ध ब्राह्मण समाज के लोगों से घर घर जा कर मुलाक़ात करेंगे और कई छोटे बड़े सम्मेलन करेंगे.

आपके शहर से (लखनऊ)

इन ब्राह्मण सम्मेलनों के जरिये ब्राह्मण समाज के लोगों को यह बताया जाएगा कि केंद्र और राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार ने ब्राह्मण समाज के विकास के लिए क्या क्या काम किये हैं. ब्राह्मण समाज के लोगों को ये समझाया जायेगा कि विपक्ष किस तरीके से भ्रम और झूठ फैला रहा है कि यूपी सरकार से ब्राह्मण समाज नाराज है.

ब्राह्मण नेता अपने समाज के लोगों को ये भी बताएंगे की कोविड महामारी में केंद्र सरकार और प्रदेश सरकार की गरीब कल्याण योजनाओं का फ़ायदा ब्राह्मण समाज को भी मिला है और अभी जारी हैं. भाजपा यह बताने की कोशिशों में है कि सरकार बीजेपी शासित सरकारों सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास की सोच के साथ काम करती हैं.

पिछले विधानसभा चुनाव यानी 2017 में उत्तर प्रदेश के 312 बीजेपी विधायकों में से 58 ब्राह्मण उम्मीदवार जीतकर विधानसभा पहुंचे थे. योगी सरकार में जिन 56 चेहरों को मंत्री पद दिया गया था, उनमें श्रीकांत शर्मा, ब्रजेश पाठक, दिनेश शर्मा और जितिन प्रसाद समेत 9 ब्राह्मण मंत्री बनाए गए. यूपी के करीब 60 विधानसभा सीटों पर ब्राह्मण निर्णायक भूमिका में है. ऐसे में सभी राजनतिक पार्टियां ब्राह्मण मतदाताओं को नजरअंदाज नहीं कर पाती है. राज्य में ब्राह्मण के रसूख का अंदाजा ऐसे लगाया जा सकता है कि राज्य में अब तक यहां पर आठ बार ब्राह्मण मुख्यमंत्री रह चुके हैं.

Tags: Uttar pradesh news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें