यूपी में अब कहीं भी हो सकेगी विदेशी शराब की बॉटलिंग, योगी कैबिनेट ने दी मंजूरी
Greater-Noida News in Hindi

यूपी में अब कहीं भी हो सकेगी विदेशी शराब की बॉटलिंग, योगी कैबिनेट ने दी मंजूरी
विदेशी शराब की बॉटलिंग को लेकर योगी सरकार ने बड़ा निर्णय लिया है.

यूपी सरकार (UP Government) के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि पहले उत्तर प्रदेश की विदेशी शराब की बॉटलिंग 5 जगह ही अनुमन्य थी. अब पूरे यूपी में इसकी छूट दे दी गई है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी कैबिनेट (Yogi Cabinet) में मंगलवार को 16 प्रस्तावों पर मुहर लगी. इसमें इलेक्ट्रिक वाहनों (Electric Vehicles) के निर्माण में सहूलियत देने के लिए रोड टैक्स में छूट का प्रस्ताव के अलावा ट्रैफिक उल्लंघन से जुड़े चालानों में बढ़ोत्तरी, प्रदेश में श्रमिक सेवायोजन आयोग के गठन के अलावा विदेशी शराब (Foreign Liquor) की प्रदेश में बॉटलिंग (Bottling) को लेकर प्रस्तावों को मंजूरी मिल गई.

यूपी में 92 प्लांट में सैनेटाइजर बनाया जा रहा

यूपी सरकार के प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि पहले उत्तर प्रदेश की विदेशी शराब की बॉटलिंग 5 जगह ही अनुमन्य थी. अब पूरे यूपी में इसकी छूट दे दी गई है. अब प्रदेश में कहीं भी अनुबंधित जगह पर विदेशी शराब लाकर उसकी बॉटलिंग कर आगे भेजा जा सकता है. यूपी में 92 प्लांट से सैनेटाइजर बनाया जा रहा है. अब इसे निर्यात करने की भी भी तैयारी है. पहले एक भी सैनेटाइजर यूपी में नहीं बनता था. इसके लिए नियमावली बनाई जा रही हैं.



ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन पर चालान पड़ेगा महंगा
कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि उत्तर प्रदेश मोटरयान कराधान अधिनियम 1997 के अंतर्गत दो धाराओं धारा-4 और धारा-6 में संशोधन किया गया है. इसके तहत यूपी में ज्यादा से ज्यादा इलेक्ट्रिक वाहनों के ज्यादा से ज्यादा निर्माण करने को प्रोत्साहन देने के लिए कोशिश की गई है. इसमें एक लाख टू व्हीलर पर रोड टैक्स पर शत-प्रतिशत छूट मिलेगी. 5 प्रतिशत रोड टैक्स जमा करना होता है. वहीं फोर व्हीलर्स के अन्य प्रकारों पर रोड टैक्स पर 75 प्रतिशत छूट दी जाएगी.

उन्होंन बताया कि केंद्र सरकार द्वारा सड़क सुरक्षा की बैठकों में पिछले साल 7 जून, 2019 में पेनाल्टी में वृद्धि की गई थी. यूपी सरकार की तरफ से अब कुछ और वृद्धि की गई है.
ये प्रमुख रूप से इस प्रकार हैं…

1- पहले पार्किग के नियम का उल्लंघन करने पर पहली बार 500 रुपए और दोबारा उल्लंघन पर 1000 रुपए जुर्माना लगता था, ये अब बढ़ाकर 500 रुपए और 1500 रुपए कर दिया गया है.

2- अधिकारी आदेश न मानना, काम में बाधा डालने पर पहले 1000 रुपए जुर्माना था, अब 2000 रुपए कर दिया गया है.

3- इसी तरह गलत तथ्य छिपाकर ड्राइविंग लाइसेंस हासिल करने में पहले 2500 का जुर्माना लगता था, इसे बढ़ाकर अब 10 हजार रुपये कर दिया गया है.

4- पहले गाड़ी में परिवर्तन कर उसे बेचने पर कोई जुर्माना नहीं लगता था, अब इसमें एक लाख प्रति वाहन जुर्माना लगेगा.

5- इसी तरह बिना हेलमेट का चालान 500 रुपए होता था, इसे अब 1000 रुपए कर दिया गया है.

6- फायर ब्रिगेड, एंबुलेंस को रास्ता नहीं देने पर 10000 रुपए जुर्माना लगेगा.

उन्होंने कहा कि सरकार का मानना है कि इससे सड़क दुर्घटनाओं में कमी आएगी, सरकार की नीयत है कि इससे लोग सुरक्षित रहेंगे.

ये भी पढ़ें:

UP में बिना हेलमेट 1000 रुपये का चालान, इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर पर रोड टैक्स नहीं

प्रयागराज के पूर्व एसएसपी IPS सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज