Home /News /uttar-pradesh /

यूपी में 'बाउंड्री पॉलिटिक्स': रामलीला मैदान की चारदीवारी पर विपक्ष ने योगी सरकार को घेरा

यूपी में 'बाउंड्री पॉलिटिक्स': रामलीला मैदान की चारदीवारी पर विपक्ष ने योगी सरकार को घेरा

सीएम योगी आदित्यनाथ की फाइल फोटो

सीएम योगी आदित्यनाथ की फाइल फोटो

दरअसल, लोकसभा चुनाव से पहले अब यूपी में धर्म की राजनीति भी शुरु हो गई है. वह चाहे पूर्ववर्ती सपा सरकार हो या फिर वर्तमान की बीजेपी सरकार, सभी अपने एजेंडे को धार देने में लगी हैं.

    अखिलेश सरकार की तर्ज पर अब योगी सरकार भी अग्रसर है. अखिलेश सरकार ने अपने कार्यकाल में यूपी के कब्रिस्तानों की चारदीवारी कराई थी और बकायदा इसके लिए बजट भी रिलीज किया था. अब यूपी की योगी सरकार ने भी अनुपूरक बजट में प्रदेशभर के रामलीला स्थलों और मैदानों की चारदीवारी का ऐलान कर दिया है. इसके लिए बकायदा बजट घोषित कर दिया है.

    दरअसल, लोकसभा चुनाव से पहले अब यूपी में धर्म की राजनीति भी शुरु हो गई है. वह चाहे पूर्ववर्ती सपा सरकार हो या फिर वर्तमान की बीजेपी सरकार, सभी अपने एजेंडे को धार देने में लगी हैं. कोई अल्पसंख्यक समुदाय की राजनीति कर रहा है तो कोई हिंदुत्व का एजेंडा. यही वजह है कि अब योगी सरकार ने रामलीला मैदान स्थलों की चारदीवारी बनाने का ऐलान कर दिया है. इसके साथ ही प्रदेश भर में गौशालाओं की बात भी अनुपूरक बजट में की गई है. बजट में किसानों पर भी फोकस किया गया है. जाहिर है सरकार के इस फैसले पर विपक्ष भी निशाना साधने से नहीं छोक रहा.

    रामलीला मैदान के मुद्दे पर समाजवादी पार्टी ने भी सरकार पर निशाना साधा और कहा कि सरकार अपने फायदे के लिए काम कर रही है. पार्टी की प्रवक्ता जूही सिंह ने कहा रामलीला बाउंड्री के मुद्दे पर एक बड़ा दुष्प्रचार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि सपा सरकार ने न केवल कब्रिस्तान की बाउंड्री बनवाया बल्कि कोई भी मैदान या फिर ग्राम पंचायत की जमीन है घाट सभी की बाउंड्री इसलिए बनाती थी कि लोग उन जमीनों पर कब्जा ना कर सकें. कब्रिस्तान की बाउंड्री के मुद्दे को चुनाव में गलत तरीके से पेश किया गया. भारतीय जनता पार्टी का चरित्र ही झूठा है. वह झूठ बोलने में माहिर है. उन्होंने कहा कि किसी की भी बाउंड्री बनवाएं अच्छी बात है, लेकिन जो जमीन इनके विधायक कब्जा कर रहे हैं उनका क्या? स्कूलों में किताब तक नहीं पहुंच रही है.

    वहीं कांग्रेस ने भी इस मुद्दे पर जमकर निशाना साधा और कहां नियम और कानून सबके लिए बराबर होते हैं. सरकार कोई पक्षपात ना करे. रामलीला बाउंड्री के मुद्दे पर सुरेंद्र राजपूत ने कहा, "देखिए जितनी भी सामाजिक जगहों की जमीनें हैं, उनकी सबकी बाउंड्री बनाने का एक निश्चित नियम होना चाहिए. चाहे वह कब्रिस्तान हो, रामलीला मैदान हो या फिर श्मशान. इसके लिए एक फंड निर्धारित किया जाना चाहिए ताकि अवैध कब्जा ना हो पाए. लेकिन भारतीय जनता पार्टी के लोग कहीं न कहीं हिंदू-मुसलमान का रंग देना चाहते हैं, जो सर्वथा अनुचित है.

    उधर बीजेपी ने इस मुद्दे पर अपना पक्ष रखा और पार्टी के प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने कहा, "सरकार का जो काम है वह कर रही है. विपक्ष अपना काम करे और विकास की योजनाओं को आगे आने दे." उन्होंने कहा देखिए निश्चित रूप से स्वागत योग्य फैसला है. रामलीला मैदान के नाम पर विभिन्न जिलों पर विभिन्न पहलुओं पर गांव में जमीनें हैं, जहां अतिक्रमण की गुंजाइश रहती है. अतिक्रमण हुए भी हैं. ये जमीन सुरक्षित होनी चाहिए. यह सार्वजनिक स्थल होता है, जहां रामलीला के अलावा भी अन्य कार्यक्रम और महोत्सव होते हैं. ऐसे सार्वजनिक स्थलों की सुरक्षा सुनिश्चित होनी चाहिए. इसलिए योगी आदित्यनाथ ने को मैं धन्यवाद देना चाहूंगा. उन्होंने सार्वजनिक भूमि सुरक्षित करने के लिए यह कदम उठाए हैं.

    (रिपोर्ट: अजीत प्रताप सिंह)

    यह भी पढ़ें:

    अमर सिंह ने आजम खान को बताया मुलायम का दत्तक पुत्र, कहा-दाऊद से भी संबंध

    हापुड़: हाईवे पर ऑटो चालक ने तमंचे के बल पर एक युवती से किया रेप

    आपके शहर से (लखनऊ)

    Tags: Congress, News 18 Hindi Special, Samajwadi party, Yogi adityanath, लखनऊ

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर