होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /मोहम्मद जुबैर के खिलाफ मामलों की जांच के लिए यूपी सरकार ने किया SIT का गठन, कई जिलों में केस दर्ज

मोहम्मद जुबैर के खिलाफ मामलों की जांच के लिए यूपी सरकार ने किया SIT का गठन, कई जिलों में केस दर्ज

यूपी सरकार मोहम्मद जुबैर के खिलाफ दर्ज मामलों की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है.

यूपी सरकार मोहम्मद जुबैर के खिलाफ दर्ज मामलों की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है.

Mohammad Zubair Case: ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर के मामलों की जांच के लिए यूपी सरकार ने एसआईटी (SIT) का ग ...अधिक पढ़ें

लखनऊ. ऑल्ट न्यूज़ के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर (Mohammed Zubair) के मामलों की जांच के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने एसआईटी (SIT) का गठन किया है. आईजी प्रीतिंदर सिंह की अध्यक्षता में एसआईटी जांच करेगी. डीआईजी अमित कुमार वर्मा भी जांच टीम में शामिल हैं. मोहम्मद जुबैर के खिलाफ उत्तर प्रदेश के सीतापुर लखीमपुर खीरी हाथरस और मुजफ्फरनगर में केस दर्ज हैं.

बीते दिन मोहम्मद जुबैर को उत्तर प्रदेश की लखीमपुर खीरी की अदालत ने पिछले साल सितंबर में उनके खिलाफ दर्ज एक मामले में 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. अदालत जुबैर की जमानत याचिका पर 13 जुलाई को सुनवाई करेगी. मोहम्मद जुबैर को सीतापुर जेल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अदालत में पेश किया गया था और उनके खिलाफ एफआईआर में धारा 153 बी, 505 (1) (बी) और 505 (2) जोड़ी गई.

लखीमपुर खीरी में कोर्ट ने भेजा न्यायिक हिरासत पर
लखीमपुर खीरी की एक अदालत ने पिछले साल दर्ज एक मामले में मोहम्मद जुबैर को तलब किया था. लखीमपुर खीरी पुलिस ने जुबैर के खिलाफ 2021 में दुश्मनी को बढ़ावा देने के लिए दर्ज एक प्राथमिकी के संबंध में अदालत में पेश होने के लिए वारंट जारी किया था. मोहम्मद जुबैर के खिलाफ मामला 25 नवंबर को स्थानीय पत्रकार द्वारा दर्ज किया गया था. सोमवार को मोहम्मद जुबैर को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया था. अभियोजन पक्ष ने पुलिस हिरासत की मांग की थी, अदालत ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया.

आपके शहर से (लखनऊ)

सीतापुर में सुप्रीम कोर्ट ने दी है राहत
इससे पहले आज सुप्रीम कोर्ट ने सीतापुर केस में मोहम्मद जुबैर को राहत दी है. कोर्ट ने उनकी अंतरिम जमानत की अवधि को बढ़ा दिया है. कोर्ट ने मंगलवार को जुबैर की याचिका पर सुनवाई करते हुए अंतरिम जमानत को अगले आदेश तक बढ़ा दिया है. वहीं सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार को 4 हफ्ते में जवाब दाखिल करने को कहा. मामले की अगली सुनवाई 7 सितंबर को होगी.

मोहम्मद जुबैर को दिल्ली पुलिस ने किया था गिरफ्तार
बीते शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा दर्ज एक मामले में मोहम्मद जुबैर को अंतरिम जमानत दी थी. हालांकि, ज़ुबैर दिल्ली पुलिस द्वारा दायर एक मामले को लेकर मोहम्मद जुबैर हिरासत में ही रहेगा. मोहम्मद जुबैर को दिल्ली पुलिस ने पिछले महीने उनके एक ट्वीट के जरिए धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में गिरफ्तार किया था.

Tags: UP news, UP police

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें