होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /कृषि कानून वापसी पर मायावती ने बताया फैसले में देरी तो अखिलेश बोले- 'विजय यात्रा' से डर गई सरकार

कृषि कानून वापसी पर मायावती ने बताया फैसले में देरी तो अखिलेश बोले- 'विजय यात्रा' से डर गई सरकार

बसपा को लेकर आने वाले चुनावों में सभी उम्मीद जता रहें हैं.

बसपा को लेकर आने वाले चुनावों में सभी उम्मीद जता रहें हैं.

Farmer Law: बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले करीब एक साल से अधिक समय से विवादों में घिरे तीन कृषि कानूनों ...अधिक पढ़ें

लखनऊ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने तीन नए कृषि कानून (New Farm Laws) वापस लेने का ऐलान किया है. तीनों कृषि कानूनों के वापस लेने के ऐलान के बाद राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आनी शुरू हो गई है. इसी कड़ी में कृषि कानून वापसी पर बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के बयान सामने आए है. बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि फैसला लेने में देरी कर दी. उन्होंने कहा कि यह फैसला बहुत पहले ले लेना चाहिए था. उन्होंने कहा कि एमएसपी को लेकर भी सरकार फैसला करे. इस आंदोलन के दौरान किसान शहीद हुए हैं, उन्हें केंद्र सरकार आर्थिक मदद और नौकरी दे.

वहीं अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि अमीरों की भाजपा ने भूमि अधिग्रहण व काले क़ानूनों से ग़रीबों-किसानों को ठगना चाहा. कील लगाई, बाल खींचते कार्टून बनाए, जीप चढ़ाई लेकिन सपा की पूर्वांचल की विजय यात्रा के जन समर्थन से डरकर काले-क़ानून वापस ले ही लिए. सपा प्रमुख ने कहा कि भाजपा बताए सैंकड़ों किसानों की मौत के दोषियों को सजा कब मिलेगी. उधर, कृषि कानून वापसी को लेकर जयंत चौधरी ने ट्वीट करते हुए कहा कि यह किसान की जीत है, हम सब की जीत है. देश की जीत है.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने किया ट्वीट.

आपके शहर से (लखनऊ)

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने किया ट्वीट.

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले करीब एक साल से अधिक समय से विवादों में घिरे तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने का ऐलान किया है. इसको लेकर संसद के अगले सत्र में विधेयक लाया जाएगा. तीनों कृषि कानूनों के विरोध में किसान आंदोलन कर रहे थे. देश के करीब 40 किसान संगठनों के प्रतिनिधि समूह संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा का स्वागत किया है. उसने ये भी कहा कि एसकेएम सभी घटनाक्रमों का संज्ञान लेगा और जल्द ही बैठक कर आगे के निर्णयों की घोषणा करेगा.

Tags: Akhilesh yadav, BSP UP, Farmer Laws, Farmers Protest, Lucknow news, Mayawati statement, Samajwadi party, UP Election 2022

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें