Farmers Protest: मायावती बोलीं- BSP की एक मांग, कृषि कानूनों को वापस ले केंद्र सरकार

 कृषि कानूनों को वापस ले केंद्र सरकार (फाइल फोटो)

कृषि कानूनों को वापस ले केंद्र सरकार (फाइल फोटो)

बसपा सुप्रीमो ने कहा, 'इस प्रकार मेरी सरकार के साल 2012 में जाने के बाद यूपी में जो कुछ भी थोड़ा विकास संभव हुआ है वे अधिकांश बीएसपी (BSP) की सोच के ही फल है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 19, 2020, 1:38 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन नए कृषि कानूनों (Farmers Bill) के खिलाफ चल रहे विरोध प्रदर्शन के बीच बहुजन समाज पार्टी (BSP) प्रमुख मायावती (Mayawati) ने इसे लेकर ट्वीट किया है. शनिवार को बसपा सुप्रीमो ने ट्वीट के माध्यम से केंद्र सरकार से तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की है. उन्होंने लिखा कि केंद्र की सरकार को हाल ही में देश में लागू तीन नए कृषि कानूनों को लेकर आंदोलित किसानों के साथ हठधर्मी वाला नहीं, बल्कि उनके साथ सहानुभूतिपूर्ण रवैया अपनाकर उनकी मांगों को स्वीकार करके, उक्त तीनों कानूनों को तत्काल वापस ले लेना चाहिए. बसपा की यह मांग है.

मायावती ने यूपी सरकार पर साधा निशाना

इससे पहले मायावती ने अपने ट्वीट में लिखा कि मेट्रो एवं अयोध्या, वाराणसी, मथुरा, कन्नौज सहित यूपी के प्रचीन व प्रमुख शहरों में बुनियादी जनसुविधाओं की नई स्कीमें व इनको रिकॉर्ड समय में पूरा करने का काम भी बीएसपी का ही विकास माडल है, जो कानून द्वारा कानून के राज के साथ प्राथमिकता में रहा, जिससे सर्वसमाज को लाभ मिला.


बसपा सुप्रीमो ने कहा, 'इस प्रकार मेरी सरकार के साल 2012 में जाने के बाद यूपी में जो कुछ भी थोड़ा विकास संभव हुआ है वे अधिकांश बीएसपी की सोच के ही फल है. मेरी सरकार में ये काम और अधिक तेजी से होते. अगर तब कांग्रेस की रही केन्द्र सरकार पर्यावराण आदि के नाम पर राजनीतिक स्वार्थ की अड़ंगेबाजी नहीं करती.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज