Lucknow news

लखनऊ

अपना जिला चुनें

मायावती को बैठक से खबर लीक होने का डर, नेताओं से उतरवाए जूते-चप्पल और ताबीज़

मायावती को बैठक से खबर लीक होने का डर, नेताओं से उतरवाए जूते-चप्पल और ताबीज़

बीएसपी सुप्रीमो मायावती पार्टी कार्यकर्ताओं का अभिवादन करते हुए.

बीएसपी सूत्रों का कहना है कि चुनाव के बाद नए सिरे से रणनीति बनाने और बीएसपी में बड़े बदलाव के मद्देनजर किसी भी तरह की कोई जानकारी सार्वजनिक न हो जाए इस बात का खास ध्यान रखा जा रहा है.

SHARE THIS:
लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजों के बाद बीएसपी प्रमुख मायावती इस महीने दूसरी बार पार्टी नेताओं से मिल रही हैं. ऐसा माना जा रहा है कि मायावती पार्टी में बड़े बदलाव के बारे में सोच रही हैं. इस बैठक को लेकर अब एक चौंकाने वाली खबर है. लखनऊ में रविवार को हो रही इस बैठक में पार्टी के साधारण कार्यकर्ता से लेकर सांसदों तक को भी मीटिंग में जाने से पहले अपना मोबाइल, बैग यहां तक की गाड़ी की चाबी भी बाहर ही जमा करवाने के आदेश दिए गए हैं. हद उस समय हो गई जब महिलाओं के आभूषण और पुरुषों के जूते-चप्पल यहां तक की ताबीज भी उतरवा लिए गए. इसके लिए खास काउंटर भी बनाया गया है, जहां पर यह सभी सामान जमा करवाना है.

बीएसपी सूत्रों का कहना है कि चुनाव के बाद नए सिरे से रणनीति बनाने और बीएसपी में बड़े बदलाव के मद्देनजर किसी भी तरह की कोई जानकारी सार्वजनिक न हो जाए इस बात का खास ध्यान रखा जा रहा है. यह बैठक में मायावती की लखनऊ स्थित आवास पर चल रही है. ऐसा माना जा रहा है कि इस बैठक में मायावती आने वाले उप चुनावों की रणनीति पर भी चर्चा करेंगी.

बीएसपी की बैठक से पहले नेता मोबाइल काउंटर पर जमा करते हुए.


बीएसपी सुप्रीमो पार्टी को कैसे मजबूत किया जाए और प्रदेश में 12 सीटों पर होने वाले उपचुनाव की तैयारियों को लेकर भी पदाधिकारियों को विशेष निर्देश देने वाली हैं. बैठक में सभी जिले के पदाधिकारी पहुंच चुके हैं. बीएसपी सुप्रीमो मायावती पार्टी के पदाधिकारियों के साथ लोकसभा चुनाव में खराब प्रदर्शन की भी समीक्षा कर रही हैं.

मायावती के लखनऊ स्थित आवास पर हो रही बैठक में बैग जमा करते हुए कार्यकर्ता और नेता


ऐसा कहा जा रहा है कि बीएसपी की इस बैठक में नेताओं के मोबाइल और बैग तो काउंटर पर जमा करा लिए गए हैं. साथ ही कार्यकर्ताओं की घड़ियां भी उतरवा ली गई हैं. महिला कार्यकर्ताओं को भी किसी भी तरह का आभूषण पहन कर बैठक में जाने की इजाजत नहीं है. कई कार्यकर्ताओं के ताबीज की भी जांच की गई है.

ये भी पढ़ें- मुजफ्फरपुर के SKMCH के सीनियर डॉक्टर निलंबित

AES से बच्चों की मौत के सवाल पर अश्वनी चौबे बोले सॉरी

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

लखनऊ: भारी बारिश को देखते हुए जिला प्रशासन ने जारी की एडवाइजरी, हेल्पलाइन नंबर

लखनऊ: भारी बारिश को देखते हुए जिला प्रशासन ने जारी की एडवाइजरी, हेल्पलाइन नंबर

Lucknow News: जिला प्रशासन के अनुसार किसी भी तरह की समस्या के होने पर 6389300137/138/139 पर मदद के लिए फ़ोन करें. राजधानी लखनऊ निवासी इमरजेंसी की अवस्था में 0522-4523000 पर फोन करें.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 14:58 IST
SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के कई जिलों में लगातार भारी बारिश (Heavy Rainfall) ने जन-जीवन बुरी तरह अस्त-व्यस्त कर दिया है. कई जगह मकान गिरने, पेड़ गिरने आदि से जानमाल का भी नुकसान हुआ है. इस बीच लखनऊ (Lucknow) में जारी भारी बारिश को देखते हुए जिला प्रशासन ने एडवाइजरी की है. साथ ही हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं.

एडवाइजरी में जिला प्रशासन ने कहा है कि राजधानीवासी बेवजह घरों से निकलने से बचें. बहुत ज्यादा जरूरी होने पर ही घरों से बाहर निकलें. भीड़भाड़ वाले इलाके और ट्रैफिक जाम से लोग बचे. इसके अलावा खुले सीवर, बिजली के तार, खंभों से बचकर रहें.

जिला प्रशासन के अनुसार किसी भी तरह की समस्या के होने पर 6389300137/138/139 पर मदद के लिए फ़ोन करें. राजधानी लखनऊ निवासी इमरजेंसी की अवस्था में 0522-4523000 पर फोन करें.

बता दें लखनऊ में लगातार तेज हवाओं के साथ बारिश के चलते कई इलाकों में पेड़ गिरने और जगह जगह जलभराव से यातायात में दिक्कतें आ रही हैं. लखनऊ में बुधवार की सुबह से गुरुवार की सुबह तक 107 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है. मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले 24 घंटे तक यह सिलसिला जारी रह सकता है.

लखनऊ जिला प्रशासन की एडवाइजरी

advisory, Lucknow rainfall

लखनऊ जिला प्रशासन की एडवाइजरी

स्थिति ये है कि कई मुख्य मार्ग पेड़ गिरने से बंद हो गए हैं. कपूरथला और निरालानगर में पेड़ गिरने से सड़कें बंद हो गई हैं. गोमतीनगर और सरोजनीनगर सहित कई कालोनियों में बारिश का पानी भर गया है, जिससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

कई जिलों में तेज बारिश का सिलसिला जारी

प्रदेश के चार ऐसे जिले हैं जहां पिछले 24 घण्टों में 100 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश हो चुकी है. लखनऊ में बुधवार से अभी तक 107 मिलीमीटर, रायबरेली में 186 मिमी, सुल्तानपुर में 118 मिमी और अयोध्या में 104 मिमी बारिश हो चुकी है. रायबरेली में तो स्कूलों में छुट्टी कर दी गयी है. इसके अलावा पिछले 24 घण्टों में गोरखपुर में 96.6 मिमी, वाराणसी में 88 मिमी, बाराबंकी में 94 मिमी और बहराइच में 30 मिमी बारिश दर्ज की गयी है.

मनीष सिसौदिया का बड़ा ऐलान, UP में 300 यूनिट बिजली फ्री देंगे, किसानों के लिए ज़ीरो बिल, बकाया बिल माफ होंगे

मनीष सिसौदिया का बड़ा ऐलान, UP में 300 यूनिट बिजली फ्री देंगे, किसानों के लिए ज़ीरो बिल, बकाया बिल माफ होंगे

उत्तर प्रदेश चुनाव से छह महीने पहले आम आदमी पार्टी ने बड़ा ऐलान किया कि उप्र में सरकार आते ही लोग अपने भारी भरकम बिजली बिल फाड़कर फेंक दें क्योंकि सबके बकाया बिजली बिल माफ कर दिए जाएंगे.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 14:21 IST
SHARE THIS:

लखनऊ. दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने गुरुवार को बड़ा ऐलान करते हुए उत्तर प्रदेश की चुनावी राजनीति में एक खलबली मचा दी. लखनऊ पहुंचे सिसौदिया ने ऐलान करते हुए कहा कि उप्र की जनता अगर आम आदमी पार्टी को वोट देती है, तो आप की सरकार बनने के 24 घंटों के भीतर घरेलू बिजली फ्री कर दी जाएगी, जिस तरह दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने यह कीर्तिमान रचकर दिखाया है. घरेलू उपयोग के लिए 300 यूनिट तक की बिजली मुफ्त देने का ऐलान करते हुए सिसौदिया ने कहा कि यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार के कार्यकाल में लोग महंगे बिजली बिलों से परेशान हैं और खासकर किसान दुखी हैं, जिन्हें महंगी बिजली मिल रही है. सिसौदिया ने कहा कि ‘आपका वोट इस समस्या को सुलझा सकता है. अगर आप हमें वोट देंगे तो इस समस्या से निजात मिलेगी.’

सिसौदिया ने यह भी कहा कि अगर आम आदमी पार्टी सत्ता में आती है तो राज्य के हर किसान को खेती के लिए बिजली का कोई शुल्क नहीं देना होगा. बड़ा ऐलान करते हुए उन्होंने कहा, ‘चाहे जितनी भी बिजली की ज़रूरत हो, किसानों का बिजली बिल ज़ीरो आएगा.’ सिसौदिया ने कहा कि उप्र में 5 से 10 हज़ार कमाने वाले लोगों के यहां बिजली बिल लाखों रुपये के आ रहे हैं और लोग सुसाइड तक कर रहे हैं. ऐसे सैकड़ों लोग हैं, जो इस तरह से त्रस्त हैं.

सिसौदिया ने एक वीडियो जारी करते हुए अपना पूरा बयान दिया और उप्र के कई मामलों का हवाला देते हुए बताया कि किस तरह लोग बिजली बिलों के चक्कर में आत्महत्या कर रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली में सिर्फ बिजली बिलों की ही नहीं बल्कि पावर कट की समस्या भी सुलझी है. केजरीवाल सरकार का यही कारनामा आप उप्र में भी करके दिखाएगी.

UP JEECUP Counselling 2021: यूपी जेईई पॉलिटेक्निक काउंसलिंग की पहली सीट अलॉटमेंट लिस्ट आज, ऐसे करें चेक

UP JEECUP Counselling 2021: यूपी जेईई पॉलिटेक्निक काउंसलिंग की पहली सीट अलॉटमेंट लिस्ट आज, ऐसे करें चेक

UP JEECUP Counselling 2021: आज पहली सीट अलॉटमेंट लिस्ट में शॉर्टलिस्ट किए गए स्टूडेंट्स को 17 सितंबर से 19 सितंबर के बीच जिला सहायता केंद्रों पर फ्रीज, फ्लोट विकल्प चयन और दस्तावेजों को सत्यापित कराना होगा. दूसरे राउंड के लिए सीट अलॉटमेंट लिस्ट 20 सितंबर को जारी की जाएगी.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 14:20 IST
SHARE THIS:

नई दिल्ली. UP JEECUP Counselling 2021: उत्तर प्रदेश, संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद (UP JEECUP) आज यानी 16 सितंबर को जेईई (पॉलिटेक्निक) काउंसलिंग की पहली सीट अलॉटमेंट लिस्ट जारी करेगा. बता दें कि 14 सितंबर से ग्रेजुएट पॉलिटेक्निक कार्यक्रमों में एडमिशन के लिए पहले दौर की काउंसलिंग शुरू हुई थी. वहीं आज पहली सीट अलॉटमेंट लिस्ट में शॉर्टलिस्ट किए गए स्टूडेंट्स को 17 सितंबर से 19 सितंबर के बीच जिला सहायता केंद्रों पर फ्रीज, फ्लोट विकल्प चयन और दस्तावेजों को सत्यापित कराना होगा.

बता दें कि पहले राउंड की काउंसलिंग प्रक्रिया पूरी होने के बाद दूसरे राउंड के लिए सीट अलॉटमेंट लिस्ट 20 सितंबर को जारी की जाएगी. इसी प्रकारी दूसरे राउंड की काउंसलिंग प्रक्रिया पूरी होने का बाद 23 सितंबर को तीसरे राउंड के लिए सीट अलॉलमेंट लिस्ट जारी की जाएगी.

ये भी पढ़ें-
UPSC CMS 2021: परीक्षा का शेड्यूल जारी, जानें कब होगा एग्‍जाम
Sarkari Naukri: युवाओं के लिए सरकारी नौकरी का मौका, 10वीं पास से लेकर ग्रेजुएट तक करें अप्लाई

13 सितंबर को जारी हुए थे रिजल्ट
उत्तर प्रदेश संयुक्त पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा 2021 का आजोनन 31 अगस्त से 4 सितंबर के बीच किया गया था. इसका रिजल्ट 13 सितंबर को जारी किया गया था. परीक्षा में 187640 छात्र शामिल हुए थे. जिसमें से 174770 छात्र पास हुए हैं. मतलब रिजल्ट 93.11 फीसदी रहा है. यूपी पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा कुल 241810 सीटों के लिए हुई थी. जिसमें सिर्फ 187640 छात्र ही परीक्षा में शामिल हुए थे. ऐसे में 54170 सीटें रिक्त रहना तय है. UPJEECUP 2021 के लिए उत्तर कुंजी 7 सितंबर को जारी की गई थी.

UP JEECUP First Counselling 2021: ऐसे चेक करें काउंसलिंग की पहली सीट अलॉटमेंट लिस्ट

  • सबसे पहले यूपीजेईई की वेबसाइट jeecup.nic.in पर विजिट करें.
  • यहां होमपेज पर दिए गए लिंक ”Online Registration and Choice Filling 2021 for Round 1” पर क्लिक करें.
  • इसके बाद अब UPJEE रोल नंबर, जन्म तिथि और सुरक्षा पिन दर्ज करके सबमिट करें.
  • यहां सीट अलॉटमेंट की पहली लिस्ट स्क्रीन पर आ जाएगी.
  • अब इस लिस्ट को डाउनलोड करके भविष्य के लिए प्रिंट कर लें.

UP Weather Update: जानिए क्यों हो रही है ऐसी तूफानी बारिश? लखनऊ सहित कई जिलाें में टूटे रिकॉर्ड

UP Weather Update: जानिए क्यों हो रही है ऐसी तूफानी बारिश? लखनऊ सहित कई जिलाें में टूटे रिकॉर्ड

Lucknow News: लखनऊ स्थित मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि बारिश की ये रफ्तार आज गुरुवार को पूरे दिन जारी रहेगी. कई जिलों में तो इस मॉनसूनी सीजन की सबसे ज्यादा बारिश रिकार्ड की गयी है.

SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में पश्चिमी यूपी (Western UP) के कुछ जिलों को छोड़ दें तो पूरे सूबे में बारिश (Rainfall) का सिलसिला कमोबेश कल बुधवार से ही चल रहा है. बारिश का ज्यादा जोर लखनऊ (Lucknow) और इसके आसपास के जिलों में देखने को मिल रहा है. लखनऊ में तो बीती रात 12 बजे से ही बरसात थमी नहीं है. और तो और इसमें लगातार बढ़ोतरी ही देखने को मिल रही है. तेज हवाओं के साथ हो रही बारिश के कारण शहर में जगह जगह पेड़ भी गिर गये हैं.

प्रदेश के चार ऐसे जिले हैं जहां पिछले 24 घण्टों में 100 मिलीमीटर से ज्यादा बारिश हो चुकी है. लखनऊ में बुधवार से अभी तक 107 मिलीमीटर, रायबरेली में 186 मिमी, सुल्तानपुर में 118 मिमी और अयोध्या में 104 मिमी बारिश हो चुकी है. रायबरेली में तो स्कूलों में छुट्टी कर दी गयी है. इसके अलावा पिछले 24 घण्टों में गोरखपुर में 96.6 मिमी, वाराणसी में 88 मिमी, बाराबंकी में 94 मिमी और बहराइच में 30 मिमी बारिश दर्ज की गयी है.

लखनऊ स्थित मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि बारिश की ये रफ्तार आज गुरुवार को पूरे दिन जारी रहेगी. रात से या शुक्रवार की सुबह से इसकी तीव्रता थोड़ी कम हो सकती है. हालांकि इस पूरे हफ्ते छिटपुट बारिश जारी रहेगी. कई जिलों में तो इस मॉनसूनी सीजन की सबसे ज्यादा बारिश रिकार्ड की गयी है.

क्यों हो रही है ऐसी तूफानी बारिश?

निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है. इसकी वजह से बंगाल की खाड़ी से आने वाली हवायें उस ओर बढ़ रही हैं. मॉनसूनी सीजन में हवा में नमी भरपूर हो रही है. बंगाल की खाड़ी से चलकर मध्यप्रदेश की ओर बढ़ने वाली नम हवाओं के कारण मध्य यूपी में जोरदार बारिश हो रही है. संभावना ये है कि कल शुक्रवार तक इसमें काफी कमी आ जायेगी. तेज हवायें भी थम जायेंगी.

लखनऊ में भारी बारिश से कई मुख्य रास्ते बंद, गोमतीनगर सहित तमाम इलाकों में भरा पानी

वैसे तो पश्चिमी यूपी के जिलों में भी हल्की बदली छायी हुई है लेकिन, ज्यादा बारिश की फिलहाल संभावना नहीं जताी गयी है. राजस्थान, हरियाणा और उत्तराखण्ड की सीमा से लगने वाले यूपी के जिलों में फिलहाल बारिश का ज्यादा जोर देखने को नहीं मिल रहा है.

बीती रात से अभी तक 7 की मौत

तेज हवाओं के साथ हो रही बारिश से जान- माल को भी काफी नुकसान पहुंचा है. न्यूज़ 18 को मिली जानकारी के मुताबिक बीती रात से अभी तक कुल 7 लोगों की मौत हो चुकी है. सभी लोगों की मौत कच्ची दीवार गिरने की चपेट में आने से हुई है.

हथिया नक्षत्र से पहले ही लखनऊ समेत कई इलाकों में जोरदार बारिश, ऑरेंज अलर्ट भी जारी

मिली जानकारी के अनुसार जौनपुर में 4, सीतापुर में 1, अयोध्या  में 1 और रायबरेली  में भी 1 की मौत हुई है. बारिश का सिलसिला ऐसे ही चलता रहा तो कई हादसों की आशंका बनी हुई है.

UP News: भारी बारिश की वजह से जगह-जगह हादसे, अब तक पांच बच्चों समेत 16 की मौत

UP News: भारी बारिश की वजह से जगह-जगह हादसे, अब तक पांच बच्चों समेत 16 की मौत

Heavy Rain in UP: अब तक मिली जानकारी के मुताबिक जौनपुर और फतेहपुर में मकान की छत और दीवार गिरने से चार-चार लोगों की मौत हुई है. बाराबंकी में दो, अमेठी में दो, कौशांबी, सीतापुर, अयोध्या और रायबरेली में एक-एक लोगों की मौत की सूचना हैं.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 13:33 IST
SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के ज्यादातर इलाकों में पिछले 24 घंटों से हो रही  मूसलाधार बारिश (Incessant Rain) ने आम जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है. अलग-अलग जगहों पर मकान ढहने और दीवार गिरने की वजह से अब तक 16 लोगों की जान जा चुकी हैं, जबकि कई घायल हैं, जिनका इलाज चल रहा है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने बारिश की वजह से हुए जानमाल के नुकसान पर शोक प्रकट करते हुए अधिकारियों को पीड़ितों की आर्थिक मदद और उपचार की सुविधा मुहैया करवाने के निर्देश दिए हैं.

अब तक मिली जानकारी के मुताबिक जौनपुर और फतेहपुर में मकान की छत और दीवार गिरने से चार-चार लोगों की मौत हुई है. बाराबंकी में दो, अमेठी में दो, कौशांबी, सीतापुर, अयोध्या और रायबरेली में एक-एक लोगों की मौत की सूचना हैं. जौनपुर के सुजानगंज क्षेत्र के सरायखानी गांव में कच्चे मकान की छत गिरने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई जबकि दो अन्य घायल हैं. भरत लाल जायसवाल (40), उनकी पत्नी गुलाबा देवी (36) और 9 साल की बच्ची साक्षी की मौत हो गई.

फतेहपुर में तीन हादसों में चार की मौत
फतेहपुर में पिछले 48 घंटों से लगातार हो रही बारिश लोगों पर आफत बनकर टूटी है. जिले के तीन अलग-अलग जगहों पर ढही कच्ची दीवार व छत के मलबे में दबकर तीन बच्ची समेत चार की मौत हो गई. दंपति समेत तीन लोग गंभीर घायल हुए हैं, जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. सुल्तानपुर घोष के दरियापुर गांव में 13 साल की गुड़िया व 3 साल की मुस्कान की मौत हुई. कल्यानपुर के महरहा गांव में 2 साल की कोमल की मौत हो गई और दंपति गंभीर रूप से घायल हो गए. ललौली थाना क्षेत्र के जजरहा गांव में 26 साल के राकेश की मौत हो गई. पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है. राजस्व अधिकारी घाटना स्थल पर पहुंच हर संभव मदद का आश्वासन दिया है.

बाराबंकी में पिता-पुत्र की मौत
बाराबंकी में भी पिछले 12 घंटे से हो रही मूसलाधार बारिश ने दो लोगों की जान ले ली. रामसनेहीघाट थाना क्षेत्र के बसैगापुर गांव में कच्ची दीवार गिरने से पिता-पुत्र की मौके पर ही मौत हो गई.  ग्रामीणों ने मलबे को खोदकर पिता और पुत्र का शव निकाला. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा. कच्चे मकान के मलबे में दबने से तिलोई में एक बच्ची की मौत तो गौरीगंज में अधेड़ की मौत हो गई.

इन जिलों में भी गयी जान
अयोध्या में भी लगातार हो रही बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है. थाना पूराकलंदर के दोस्तपुर गांव में घर की कच्ची दीवार गिरने से वृद्ध महिला की मौत हो गई. वृद्ध महिला की समधन व उसका पोता घायल हो गए. सभी को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया.  कौशांबी में भी लगातार हो रही बारिश के कारण एक मकान गिर गया जिसके मलबे में दब कर पत्नी की मौत गई जबकि पति का इलाज़ चल रहा है. घटना चायल तहसील के बिरनेर गांव की है. उधर सीतापुर के महमूदाबाद कोतवाली इलाके के नवाबपुर में तेज हवाओं व बारिश के चलते दीवार गिरने से मलबे में दबकर भाई की मौत हो गई जबकि तीन बहनें गम्भीर रूप से घायल हैं.

UP technical education service exam 2021: 1370 पदों पर होनी है भर्ती, आवेदन प्रक्र‍िया शुरू, जल्‍दी करें

UP technical education service exam 2021: 1370 पदों पर होनी है भर्ती, आवेदन प्रक्र‍िया शुरू, जल्‍दी करें

UP technical education service exam 2021: आयोग की आधिकारिक वेबसाइट uppsc.up.nic.in पर जाकर आवेदन करें.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 13:19 IST
SHARE THIS:

UP technical education service exam 2021: उत्‍तर प्रदेश टेक्‍नीकल एजुकेशन (टीचिंग) सर्व‍िस परीक्षा 2021 (UP technical education service exam 2021) के लिये आवेदन की प्रक्र‍िया शुरू हो गई है. जो भी उम्‍मीदवार इस परीक्षा के लिये उपस्‍थ‍ित होना चाहते हैं, वह आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अप्‍लाई कर सकते हैं. बता दें कि इस परीक्षा के जरिये उत्‍तर प्रदेश में 1370 लेक्‍चरर, प्र‍िंसिपल, लाइब्रेरियन, वर्कशॉप सुपरीटेंडेंट, इंजीनियर, टेक्‍नीकल और नॉन टेक्‍नीकल पदों पर भर्ती होगी.

इस परीक्षा में जो उम्‍मीदवार शामिल होना चाहते हैं, वह आयोग की आधिकारिक वेबसाइट uppsc.up.nic.in पर जाकर एप्‍ल‍िकेशन फॉर्म भर सकते हैं और जमा कर सकते हैं.  अपना आवेदन फॉर्म जमा करने की आखिरी तारीख 15 अक्‍टूबर है.

डायरेक्‍ट लिंक 

परीक्षा की तारीख और एग्‍जामिनेशन सेंटर फिलहाल तय नहीं है. आयोग द्वारा तारीख और वेन्‍यू तय किए जाने के बाद, आधिकारिक वेबसाइट पर इसकी सूचना दी जाएगी और साथ ही उम्‍मीदवारों को भी ई-एडमिशन सर्ट‍िफिकेट के जरिये इसकी जानकारी दी जाएगी.

कैसे होगा सेलेक्‍शन :
लिखित परीक्षा और इंटरव्‍यू में उम्‍मीदवार का प्रदर्शन जैसा होगा, उसके आधार पर ही उसका चयन निर्भर करेगा.

यह भी पढ़ें:
RRB NTPC Result 2021: किसी भी वक्‍त जारी हो सकता है परिणाम, रजिस्‍ट्रेशन नंबर के साथ रहें तैयार
Teachers Job: जानिये कैसे बन सकते हैं टीचर, भारत में हैं ये 6 तरीके

AAP के सांसद संजय सिंह की बढ़ी मुश्किलें, मानहानि मामले में लखनऊ कोर्ट का नोटिस

AAP के सांसद संजय सिंह की बढ़ी मुश्किलें, मानहानि मामले में लखनऊ कोर्ट का नोटिस

Lucknow News: रश्मि मेटालिक्स कंपनी द्वारा फाइल किये गए मानहानि मामले में आप सांसद संजय सिंह को लखनऊ की निचली अदालत ने नोटिस जारी कर दिया है. कोर्ट ने संजय सिंह को 26 सितंबर को कोर्ट में हाज़िर होने का आदेश दिया है.

SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के जलशक्ति मंत्री डॉ महेंद्र सिंह (Dr Mahendra Singh) पर आम आदमी पार्टी (Aam Admi Party) के राज्यसभा सांसद संजय सिंह (Sanjay Singh) द्वारा लगाए गए आरोपों में रश्मि मेटालिक्स कंपनी द्वारा फाइल किये गए मानहानि मामले में संजय सिंह को बड़ा झटका लगा है. संजय सिंह को लखनऊ की निचली अदालत ने नोटिस जारी कर दिया है. कोर्ट ने संजय सिंह को 26 सितंबर को कोर्ट में हाज़िर होने का आदेश दिया है.

आपको बता दें कि कुछ दिन पहले संजय सिंह ने यूपी जलशक्ति मंत्री डॉ महेंद्र सिंह पर मंत्रालय में घोटाले के आरोप लगाए थे, जिसमें उन्होंने रश्मि मेटेलिक्स नाम की कंपनी का नाम लिया था. आरोपों को खारिज करते हुए कंपनी ने संजय सिंह के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कर दिया था. रश्मि मेटालिक्स ने संजय सिंह को लीगल नोटिस भेजते हुए 7 दिन के अंदर माफी मागंने सहित 5000 करोड़ का मानहानि का दावा ठोंका था.

ये है पूरा मामला

एक प्रेस ब्रीफिंग के दौरान संजय सिंह ने जल जीवन मिशन में हजारों करोड़ का घोटाले की बात कही थी. इसके बाद जल शक्ति मंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उन तमाम आरोपों को बेबुनियाद बताया था. उन्होंने कहा था कि संजय सिंह ने लिखा 1 लाख, 20 हज़ार करोड़ की योजना में घोटाला, पता नहीं ये फिगर कहां से आया?

संजय सिंह ने कहा कि कंपनी जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश सहित कई जगह ब्लैकलिस्टेड है, जबकि जहां का भी उदाहरण दिया, कहीं भी ब्लैकलिस्ट का आदेश नहीं है. संजय सिंह ने 2013 का एक कागज दिखाकर पश्चिम बंगाल में भी ब्लैकलिस्ट होने का दावा किया था, जबकि पश्चिम बंगाल में ही बाद में एक और आदेश जारी हुआ, जिसमें कहा गया कि पहला कागज भूलवश जारी हुआ था. संजय सिंह ने सेना में भी कंपनी को प्रतिबंधित करने की बात कही थी.

लखनऊ में भारी बारिश से कई मुख्य रास्ते बंद, गोमतीनगर सहित तमाम इलाकों में भरा पानी

लखनऊ में भारी बारिश से कई मुख्य रास्ते बंद, गोमतीनगर सहित तमाम इलाकों में भरा पानी

Lucknow News: मौसम विभाग का कहना है कि लखनऊ में आज दिन भर तो बारिश होगी ही अगले दो-तीन दिन भी बादलों की आवाजाही के बीच बूंदाबांदी होती रहेगी.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 12:05 IST
SHARE THIS:

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में जोरदार बारिश (Heavy Rainfall) से एक तरफ मौसम सुहावना हो गया है, वहीं दूसरी तरफ जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. राजधानी में लगातार तेज हवाओं के साथ बारिश के चलते कई इलाकों में पेड़ गिरने और जगह जगह जलभराव से यातायात में दिक्कतें आ रही हैं. लखनऊ में बुधवार की सुबह से गुरुवार की सुबह तक 107 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है. मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले 24 घंटे तक यह सिलसिला जारी रह सकता है.

स्थिति ये है कि कई मुख्य मार्ग पेड़ गिरने से बंद हो गए हैं. कपूरथला और निरालानगर में पेड़ गिरने से सड़कें बंद हो गई हैं. बीती रात से लगातार बारिश के साथ तेज हवाएं भी चल रही हैं. इसका नतीजा यह रहा कि तापमान में गिरावट से लोगों को उमस और गर्मी से निजात मिला है. गोमतीनगर और सरोजनीनगर सहित कई कालोनियों में बारिश का पानी भर गया है, जिससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

मौसम विभाग का कहना है आज दिन भर तो बारिश होगी ही अगले दो-तीन दिन भी बादलों की आवाजाही के बीच बूंदाबादी होती रहेगी. मौसम विभाग का अनुमान है कि सितंबर में मानसून की भरपाई हो जाएगी.

उधर पूरे प्रदेश में बारिश का यही हाल है. लगातार हो रही बारिश से कई शहरों में जलजमाव की स्थिति पैदा हो गई है. इसके अलावा कुछ जिलों में कच्चे मकानों के गिरने से लोगों की जानें भी गई हैं. बारिश से तो नहीं लेकिन हवा के तेज झोंके से किसानों की भी समस्याएं बढ़ती जा रही हैं. हवा के तेज झोंके से धान की फसल गिर रही है.

कई जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट

विभाग की ओर से कई जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया गया है. इन सभी जिलों में हो रही बारिश या तो जारी रहेगी या फिर बारिश की संभावना बनी हुई है. बारिश के साथ साथ 87 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा के तेज झोंके भी चलेंगे.

जिन जिलों में बारिश जारी रहेगी, वह जिले हैं- अमेठी, अयोध्या, बाराबंकी, बहराइच, सीतापुर, लखीमपुर खीरी, हरदोई, लखनऊ, उन्नाव, रायबरेली, कानपुर नगर, कानपुर देहात, औरैया, इटावा, कन्नौज, मैनपुरी, फर्रुखाबाद, शाहजहांपुर, बरेली, पीलीभीत, बदायूं, कासगंज, एटा, मथुरा, अलीगढ़, बुलंदशहर और नोएडा.

इनपुट: अनामिका सिंह

UP’s Terror Connection: गिरफ्तार आमिर का सामने आया कानपुर कनेक्शन

UP’s Terror Connection: गिरफ्तार आमिर का सामने आया कानपुर कनेक्शन

Kanpur News: गिरफ्तार आमिर अपने रिश्तेदार हुमेद के साथ कई बार कानपुर का दौरा कर चुका था. इन्होंने कई इलाकों में रेकी थी. शहर में स्लीपिंग मॉड्यूल का नेटवर्क तैयार करने में लगे थे.

  • News18Hindi
  • LAST UPDATED : September 16, 2021, 11:40 IST
SHARE THIS:

कानपुर. उत्तर प्रदेश एटीएस (UP ATS) और दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) द्वारा पकड़े गए कथित आतंकियों का कानपुर कनेक्शन (Kanpur Connection) भी सामने आया है. पता चला है कि गिरफ्तार आमिर (Amir) अपने रिश्तेदार हुमेद के साथ कई बार कानपुर का दौरा कर चुका था. सूत्रों के अनुसार अपनी जड़ें मजबूत करने के लिए आमिर व उसके कई साथी भी यहां आए थे. इन्होंने कई इलाकों में रेकी थी. शहर में स्लीपिंग मॉड्यूल का नेटवर्क तैयार करने में लगे थे.

बता दें दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और यूपी एटीएस द़्वारा पकड़े गए संदिग्धों से आतंकवादी हमले की परतें खुलने लगी हैं. पता चला कि इस बार हमले में अंडरवर्ल्ड का सहयोग लिया जा रहा था. एक टीम अनीस इब्राहिम के इशारे पर मुंबई अंडरवर्ल्ड से ऑपरेट हो रही थी. उसका खास मोहरा समीर कालिया था, वहीं दूसरी टीम ने दिल्ली में अपना बेस बना रखा था. यहां ओसामा आईएसआई के इशारे पर चालें चल रहा था.

इसी आईएसआई के नेटवर्क के जरिए कश्मीर से लखनऊ में आमिर के पास आईईडी डिवाइस पहुंचाई गई थी. बाद में उसने आईईडी प्रयागराज में जीशान के पास पहुंचा दी.

पता चला कि प्रयागराज से बरामद आईईडी को नई दिल्ली में डिलीवर करने की जिम्मेदारी अंडरवर्ल्ड के पास थी. इसकी डिलिवरी अंडरवर्ल्ड से जुड़े मूलचंद को करनी था.

समीर को अपने अंडरवर्ल्ड के नेटवर्क के जरिए इस आईईडी को प्रयागराज से नई दिल्ली पहुंचाना था. प्रयागराज में जीशान से आईईडी लेकर नई दिल्ली तक पहुंचाने का काम मूलचंद लाला, इम्तियाज उर्फ कल्लू और जमील खत्री का था. यूपी एटीएस ने इम्तियाज, जमील और ताहिर को दिल्ली स्पेशल सेल के हवाले कर दिया था.

उधर समीर कालिया मुंबई से नई दिल्ली के लिए ट्रेन से चला था, लेकिन रास्ते में ही राजस्थान के कोटा से स्पेशल सेल द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया. जानकारी के अनुसार नई दिल्ली पहुंचकर समीर को ओसामा से मीटिंग करनी थी. इसके बाद टार्गेट बताया जाता और समीर आईईडी प्लांट करवाकर और धमाका करवाता.

इनपुट: अमित गंजू

Terror Module Case: जानिए कैसे और कहां से प्रयागराज पहुंची IED, किसके पास थी धमाकों की जिम्मेदारी  

Terror Module Case: जानिए कैसे और कहां से प्रयागराज पहुंची IED, किसके पास थी धमाकों की जिम्मेदारी   

UP News: आईएसआई के नेटवर्क के जरिए कश्मीर से लखनऊ में आमिर के पास पहुंची थी आईईडी डिवाईस। एक हफ्ते रखने के बाद आमिर ने ये आईईडी प्रयागराज में जीशान के पास पहुंचा दी.

SHARE THIS:

लखनऊ. अंडरवर्ल्ड और पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) प्रायोजित आतंकवाद के कनेक्शन को नई दिल्ली स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) और यूपी एटीएस (UP ATS) ने  बेनकाब कर दिया है. जिसके बाद पकड़े गए संदिग्धों से आतंकवादी हमले की परतें खुलने लगी है. जानकारी के मुताबिक आतंक की वारदात को अंजाम देने के लिए दो टीमें बनाई गई थी. पहली अनीस इब्राहिम के इशारे पर चलने वाली मुंबई अंडरवर्ल्ड से जुड़ी टीम है. जिसका सबसे खास मोहरा था समीर कालिया तो दूसरी टीम ने नई दिल्ली में अपना बेस बना रखा था. यहां ओसामा आईएसआई का चेहरा था और आईएसआई के इशारे पर अपने चालें चल रहा था.

आईएसआई के नेटवर्क के जरिए कश्मीर से लखनऊ में आमिर के पास पहुंची थी आईईडी डिवाईस। एक हफ्ते रखने के बाद आमिर ने ये आईईडी प्रयागराज में जीशान के पास पहुंचा दी. जानकारी मिली है कि आमिर के परिवार की एक लड़की की शादी प्रयागराज में जीशान के मोहल्ले में हुई है. जिसके बाद आमिर और जीशान संपर्क में आए. वहीं मुंबई में बैठा अंडरवर्ल्ड का समीर कालिया प्रतापगढ़ के इम्तियाज़ उर्फ कल्लू के संपर्क में था. कल्लू से रायबरेली के ऊंचाहार के मूलचंद लाला और जमील खत्री जुड़े थे. प्रयागराज से बरामद आईईडी को नई दिल्ली में डिलीवर करने की जिम्मेदारी अंडरवर्ल्ड के पास थी. इसकी डेलिवरी अंडरवर्ल्ड से जुड़े मूलचंद को करना था.

अंडरवर्ल्ड के  नेटवर्क के जरिएआईईडी को पहुंचाया जाना था दिल्ली
अब समीर कालिया को अपने अंडरवर्ल्ड के  नेटवर्क के जरिए इस आईईडी को प्रयागराज से नई दिल्ली पहुंचाना था. प्रयागराज में जीशान से आईईडी लेकर नई दिल्ली तक पहुंचाने का काम मूलचंद लाला, इम्तियाज़ उर्फ कल्लू और जमील खत्री का था. हालांकि अभी तक नई दिल्ली स्पेशल सेल ने इम्तियाज़ और जमील की भूमिका का खुलासा नहीं किया है, लेकिन सूत्रों ने कंफर्म किया है कि इन दोनों से पूछताछ हुई है. यूपी एटीएस ने इम्तियाज़, जमील और ताहिर को दिल्ली स्पेशल सेल के हवाले कर दिया था.
उधर ब्लास्ट की फाईनल प्लानिंग के लिए समीर कालिया मुंबई से नई दिल्ली के लिए ट्रेन से चला था, लेकिन रास्ते में ही राजस्थान के कोटा से समीर को स्पेशल सेल ने गिरफ्तार कर लिया।

समीर कालिया को करवाना था धमाके
समीर नई दिल्ली पहुंचकर ओसामा से मीटिंग करता. आईएसआई के इशारे पर ओसामा समीर को टारगेट बताता और अपने नेटवर्क के जरिए समीर इस आईईडी को प्लांट करवाता और धमाका करवाता. लेकिन दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और यूपी एटीएस ने आईएसआई और अंडरवर्ल्ड के मंसूबों को नाकामयाब कर दिया.

Load More News

More from Other District