• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • यूपी में राहुल गांधी की इस रणनीति में सेंध लगाने की कोशिश में मायावती

यूपी में राहुल गांधी की इस रणनीति में सेंध लगाने की कोशिश में मायावती

File Photo

File Photo

बसपा सुप्रीमो मायावती की नई रणनीति कहीं न कहीं कांग्रेस के लिए चुनौती बनती दिख रही है. बता दें तीन राज्यों के विधानसभा चुनावों में जीत के बाद कांग्रेस किसानों के मुद्दे पर ही यूपी में उतरने की जोर-शोर से तैयारी कर रही है.

  • Share this:
देश के तीन राज्यों में किसान मुद्दे को लेकर कांग्रेस की जीत के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी अपनी रणनीति किसानों पर केंद्रित कर ली है. लोकसभा चुनाव में मायावती ने किसान कर्जमाफी का मुद्दा जोर-शोर से उठाने और केंद्र सरकार को घेरने की कोशिश शुरू कर दी है.

इसकी तस्दीक उन्होंने जन्मदिन के मौके पर किसानों को 100 फीसदी कर्जमाफी मुद्दे को उठाकर की. यही नहीं उन्होंने तीन राज्यों की कांग्रेस सरकार को भी किसानों को महज दो लाख की कर्जमाफी की बजाए शत प्रतिशत कर्जमाफी की बात कही.

सपा-बसपा कार्यकर्ताओं की एकजुटता ही मेरा बर्थडे गिफ्ट: मायावती

मायावती की नई रणनीति कहीं न कहीं कांग्रेस के लिए चुनौती बनती दिख रही है. बता दें तीन राज्यों के विधानसभा चुनावों में जीत के बाद कांग्रेस किसानों के मुद्दे पर ही यूपी में उतरने की जोर-शोर से तैयारी कर रही है. जन्मदिन के मौके पर अपने भाषण में मायावती ने तीन राज्यों में कांग्रेस सरकार द्वारा किसानों की कर्जमाफी पर भी सवाल उठाए.

बर्थडे पर बोलीं मायावती- इस चुनाव में कांग्रेस एंड कंपनी को सबक सिखाएंगे

मायावती ने कहा कि तीन राज्यों में जहां कांग्रेस की सरकार बनी है, वहां किसानों की कर्जमाफी को लेकर उंगलियां उठ रही हैं. जमीनी हकीकत यही है कि छोटे किसान आज भी प्राइवेट बैंक महाजनों से लोन ले रहे हैं. किसानों की कर्जमाफी के लिए कोई नीति नहीं है. 70 फ़ीसदी किसान प्राइवेट बैंकों से लोन ले रहे हैं. सरकार को इन किसानों के कर्जमाफी के लिए कदम उठाना चाहिए. अगर सरकार किसानों की मदद करना चाहती है तो उसे स्वामीनाथन आयोग की संस्तुति को लागू करना चाहिए.

बता दें विधानसभा चुनावों में कांग्रेस पार्टी की तरफ से राहुल गांधी ने किसानों के मुद्दे को अपना सबसे बड़ा हथियार बनाया. यही नहीं उत्तर प्रदेश की चुनाव तैयारी में भी कांग्रेेस किसानों के मुद्दे पर बीजेपी सरकार को घेरने की तैयारी कर रही है. राहुल गांधी खुद पीएम मोदी और केंद्र सरकार को चुनौती दे चुके हैं कि वह किसानों की शत प्रतिशत कर्ज माफी के लिए सरकार को मजबूर करेंगे. यूपी में कांग्रेस की तैयारियों की बात करें तो किसानों की पदयात्राओं का एक विस्तृत प्रोग्राम बनाया गया है. यही नहीं चुनावी रैलियों में भी किसानों को केंद्र में रखने की कोशिश है.

‘मेरा सपना है कि बीएसपी प्रमुख मायावती प्रधानमंत्री बनें’

यही नहीं अपने भाषण के दौरान मायावती ने ये भी साफ करने की कोशिश की कि भले ही रायबरेली और अमेठी की सीट गठबंधन ने कांग्रेस के लिए छोड़ी हो लेकिन गठबंधन में उसके लिए कोई जगह नहीं है. कार्यकर्ता जरा भी कांग्रेस को लेकर कंफ्यूज न हों. मायावती ने कहा कि देश में सबसे ज्यादा राज कांग्रेस पार्टी ने किया है. हमें 1984 में अपनी पार्टी बनानी पड़ी. हमारे बाद भी कई पार्टियां बनी लेकिन उनकी सोच कांग्रेस पार्टी से कुछ अलग नहीं है. इस चुनाव में कांग्रेस एंड कंपनी को सबक सिखाएंगे.

ये 'ठगबंधन' है, पहले भी बीजेपी की गोद में बैठ चुकी हैं मायावती: शिवपाल यादव

मायावती ने कहा कि लोकसभा चुनाव में तीन राज्यों में हुए चुनाव के परिणाम से बीजेपी ही नहीं बल्कि कांग्रेस पार्टी एंड कंपनी को भी सबक सीखने की जरूरत है. चुनाव परिणाम से साफ है कि सिर्फ जुमले और झूठे वादे करने वालों का अब टाइम नहीं है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज