लाइव टीवी

मायावती ने यूपी की कमिश्नर व्यवस्था को सराहा लेकिन खड़े किये इच्छाशक्ति पर सवाल

Mohd Shabab | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 15, 2020, 11:08 AM IST
मायावती ने यूपी की कमिश्नर व्यवस्था को सराहा लेकिन खड़े किये इच्छाशक्ति पर सवाल
बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि नई कमिश्नर व्यवस्था से भी यूपी में लॉ एंड आर्डर सुधरने वाला नहीं है.

बसपा सुप्रीमो मायावती (BSP Supremo Mayawati) ने कहा कि अब तक की यूपी की सभी सरकारों में बसपा की ही सरकार सबसे बेहतर थी. मायावती ने कहा कि मेरी सरकार में चाहे नेता हो या कार्यकर्ता, अगर कोई कानून तोड़ता था तो उस पर भी मैं एक्शन लेती थी.

  • Share this:
लखनऊ. यूपी की पुलिस कमिश्नर व्यवस्था (Police Commissioner System) को बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने सराहा जरूर लेकिन यूपी की कानून व्यवस्था पर उन्होने सवाल खड़े किये. अपने 64वें जनमदिन के मौके पर मायावती ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि यूपी में कमिश्नर व्यवस्था तो ठीक है लेकिन यूपी में इससे कानून व्यवस्था सुधर जाएगी इस पर सवाल है क्योंकि अपराध खत्म करने के लिये इच्छा शक्ति की जरूरत होती है.

यूपी में रही अपनी सरकार का उदाहारण देते हुए मायावती ने कहा कि अब तक की यूपी की सभी सरकारों में बसपा की ही सरकार सबसे बेहतर थी. मायावती ने कहा कि मेरी सरकार में चाहे नेता हो या कार्यकर्ता, अगर कोई कानून तोड़ता था तो उस पर भी मैं एक्शन लेती थी. अपराध पर बसपा शासन में ही सबसे ज्यादा अंकुश था.

मायावती ने कहा कि नई कमिश्नर व्यवस्था से भी यूपी में लॉ एंड आर्डर सुधरने वाला नहीं है. बीजेपी क्रिमनल एलिमेंट पर कार्रवाई नहीं करती है. इससे पहले अपने जन्मदिन के मौके पर मायावती ने केंद्र की सरकार पर बी जमकर निशाना साधा. उन्होंने अपनी लिखी पुस्तक 'मेरे संघर्षमय जीवन एवं बसपा मूवमेंट का सफरनामा भाग-15' पुस्तक का भी विमोचन किया.

देश की अर्थव्यवस्था बीमारी की हालत में पहुंच गई है: मायावती

मायावती ने कहा कि बसपा कार्यकर्ता 5 जनवरी को मेरे जन्मदिन को जनकल्याणकारी दिवस के रूप में मना रहे हैं औऱ हर साल बसपा के लोग मेरे जन्मदिन पर गरीब कमज़ोर लोगों की मदद करते हैं. केंद्र की सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि देश की 130 करोड़ जनता के सामने तमाम समस्याएं खड़ी हैं. देश की अर्थव्यवस्था बीमारी की हालत में पहुंच गई है. केंद्र सरकार की गलत सोच का नतीजा है जो देश इतने पीछे जा रहा है. उन्होंने बीजेपी के साथ कांग्रेस को भी आड़े हाथो लिया और कहा कि देश की जनता ने इससे खराब हालत भी कांग्रेस पार्टी की सरकारों भी देखे हैं और यही वजह थी कि कांग्रेस की सरकार को सत्ता से बाहर होना पड़ा था. बसपा सुप्रीमों ने कहा कि कांग्रेस की तरह ही बीजेपी भी सत्ता का दुरुपयोग कर रही है. बसपा जिस तरह कांग्रेस के शासन काल मे चिंतित थी वैसे ही बीजेपी शासन काल मे भी चिंतित है.

'NRC और CAA पर कांग्रेस लगा रही झूठा आरोप'

NRC और NPR पर बोलते हुए मायावती ने कहा कि ये लोगों का जी का जंजाल बन गया है. उन्होंने कहा कि जनहित के मुद्दों पर बीजेपी को काम करना चाहिए. देश मे छोटे धंधे बंद हो रहे हैं और बड़े-बड़े पूंजीपतियों को ही सारा लाभ दिया जा रहा है. देश में किसानों की हालत बहुत खराब है. बेरोजगारी बहुत ज्यादा है. मैं अपने जन्मदिन के मौके पर बसपा के लोगों से कहूंगी कि वो ज़रूरतमंदों की मदद करनी चाहिए. कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस झूठा आरोप लगाती है. कांग्रेस कहती है कि NRC और CAA पर कोई दूसरी पार्टी कुछ नहीं कर रही है तो इस पर वो जान लें कि बसपा ने सबसे पहले इसका विरोध किया था. संसद के दोनो सदने में इसका विरोध किया गया था.ये भी पढ़ें:

मायावती बोलीं- कांग्रेस की राह पर बीजेपी, देश में अराजकता का माहौल

वाराणसी में गंगा की मैली तो होगी जेब ढीली, नगर निगम ने लगाया भारी जुर्माना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 11:08 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर