• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • BJP की तरह कांग्रेस भी बसपा को खत्म करना चाहती है: मायावती

BJP की तरह कांग्रेस भी बसपा को खत्म करना चाहती है: मायावती

बसपा सुप्रीमो मायावती. फाइल फोटो.

बसपा सुप्रीमो मायावती. फाइल फोटो.

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस की मंशा पर ही सवाल उठाते हुए कहा कि बीजेपी जैसे साम्प्रदायिक पार्टी को सत्ता से दूर रखने के लिए हमेशा से कांग्रेस का साथ दिया, लेकिन बदले में हमेशा उसने छुरा घोपा हैं.

  • Share this:
    बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने बुधवार को गठबंधन की राजनीति पर कांग्रेस पर बड़ा हमला किया. उन्होंने कहा कि बीजेपी की तरह ही कांग्रेस भी बसपा को खत्म करना चाहती है. लेकिन बसपा संघर्षों से तैयार हुई पार्टी है.  मायावती ने कहा, "बसपा से गठबंधन करने से पहले यह ज़रूर याद रखना चाहिए कि यह पार्टी अनेक संघर्षों से निकली है. बाबा साहब के किसी अनुयायी के खून में यह नहीं हो सकता कि किसी के भी हाथ का खिलौना आसानी से बन जाए." इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'कांग्रेस पार्टी आज चुनाव में मुसलमानों को उम्मीदवार बनाने से डर सकती है, लेकिन बसपा ऐसा नहीं करती."

    बसपा सुप्रीमो ने कहा कि सीबीआई से डरने वाली बात बेबुनियाद है. उन्होंने कहा, "व्यापक जनहित और देशहीत को ध्यान में रखते हुए ही हमारी पार्टी ने अहंकारी सरकार के आगे सत्ता में आने से अपनी असहमति ज़ाहिर की है."

    बसपा सुप्रीमो ने कांग्रेस की मंशा पर ही सवाल उठाते हुए कहा कि उसे लगातार बीजेपी के हाथों हार मिल रही है. इसके बावजूद कांग्रेस पार्टी गठबंधन को लेकर गंभीर नहीं है. उन्होंने कहा कि बीजेपी जैसे साम्प्रदायिक पार्टी को सत्ता से दूर रखने के लिए हमेशा से कांग्रेस का साथ दिया, लेकिन बदले में हमेशा उसने छुरा घोपा हैं. यही वजह है कि बसपा ने दक्षिण भारत में जनता दल सेक्युलर और हरियाणा में इंडियन लोक दल से गठबंधन किया. लेकिन मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस से गठबंधन नहीं हो सका.

    मायावती ने कहा कि कांग्रेस पार्टी अहंकार में डूबी हुई है. कांग्रेस का रवैया अड़ियल रहा है. आने वाले चुनाव में कांग्रेस को जनता सबक सिखाएगी. कांग्रेस पार्टी ने बदले की भावना से हमेशा छुरा घोपने का काम किया है.

    'कांग्रेस के साथ मिलकर कभी भी चुनाव नहीं लड़ेगी बसपा'

    उन्होंने कहा कि अब बसपा कांग्रेस के साथ मिलकर कभी भी चुनाव नहीं लड़ेगी. मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बसपा अकेले या क्षेत्रीय दलों के साथ मिलकर चुनाव लड़ेगी. मायावती ने कहा कि बसपा सर्वसमाज की पार्टी है और बाबा साहेब के बताए रास्ते पर चलती है. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी दलितों के सम्मान के साथ समझौता नहीं कर सकती.

    मायावती ने कांग्रेस की नीतियों पर भी सवाल खड़े किए. उन्होंने कहा कांग्रेस खुद में सुधार लाने के लिए ही तैयार नहीं है. कांग्रेस ने मुझे ताज कॉरिडोर मामले में फंसाया. कांग्रेस बीजेपी के साथ मिलकर बसपा को समाप्त करने का षड्यंत्र रच रही है.

    हालांकि कांग्रेस पर हमला करते हुए भी मायावती ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी की तारीफ की. उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी का कांग्रेस और बसपा के बीच गठबंधन की ईमानदार मंशा है. लेकिन दिग्विजय सिंह जैसे नेता गठबंधन नहीं होने देना चाहते.

    ये भी पढ़ें:

    आत्महत्या के दंश से जूझती यूपी पुलिस, दबाव को बयां करतीं ये 5 कहानियां

    लखनऊ शूटआउट: तस्वीरों में देखिए सिपाही प्रशांत ने कैसी मारी थी विवेक तिवारी को गोली

    विवेक तिवारी मर्डर: आरोपी सिपाही के समर्थन में सामूहिक अवकाश पर जा सकते हैं यूपी पुलिस के जवान!

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज