• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • LUCKNOW BULANDSHAHR SUDIKSHA BHATI DEATH CASE NATIONAL WOMEN COMMISSION WRITES LETTER TO UP DGP FOR INVESTIGATION CGPG

बुलंदशहर सुदीक्षा मौत मामला:  महिला आयोग ने लिया संज्ञान, UP DGP से 'सही' जांच की मांग 

सुदीक्षा मामले पर अब राष्ट्रीय महिला आयोग यूपी के डीजीपी को एक खत लिखा है. (फाइल फोटो)

Sudeeksha Bhati Death case. सुदीक्षा मामले पर अब राष्ट्रीय महिला आयोग (National Women Commission) ने संज्ञान लिया है. आयोग ने यूपी के डीजीपी (DGP) हितेश चंद्र अवस्थी को पत्र लिखकर सही से जांच करने को भी कहा है.

  • Share this:
    लखनऊ:  उत्तर प्रदेश की होनहार बेटी सुदीक्षा भाटी (Sudiksha Bhati) की सड़क हादसे में मौत के मामले में कार्रवाई तेज होती जा रही है. सुदीक्षा मामले पर अब राष्ट्रीय महिला आयोग (National Women Commission) ने संज्ञान लिया है. आयोग ने यूपी के डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी को पत्र लिखकर सही से जांच करने को भी कहा है. बता दें कि सुदीक्षा के मौत पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं. परिजनों के मुताबिक, सुदीक्षा अपने चाचा सत्येंद्र के साथ बाइक पर थी तब ये हादसा हुआ, जबकि यूपी पुलिसके मुखिया एचसी अवस्थी का कहना है कि फिलहाल मौत एक सड़क हादसा लग रहा है. उनका कहना है कि बाइक सुदीक्षा के भाई निगम चला रहे थे. दोनों ने हेलमेट नहीं पहना था. जबकी परिजनों का कहना है कि बाइक सुदीक्षा के चाचा सत्येन्द्र भाटी चला रहे थे और बुलेट सवार दो युवकों के स्टंट और छेड़खानी की वजह से हादसा हुआ. हालांकि डीजीपी का कहना है कि मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

    इस पूरे मामले में परिजनों का आरोप है कि कुछ मनचलों ने बुलेट से स्टंट के दौरान छेड़खानी की. उसके बाद अचानक ब्रेक लगा दिया जिसकी वजह से एक्सीडेंट हुआ और सुदीक्षा की मौत हो गई. इस हादसे में बाइक चला रहे सुदीक्षा के चाचा सत्नेद्र भाटी ने कई अहम खुलासे किए हैं. उन्होंने न्यूज18 से बातचीत करते हुए कहा कि सोमवार सुबहर 8 बजे सुदीक्षा को बाइक से लेकर वे उसके मामा के घर जा रहे थे. जैसे ही वे बुलंदशहर-औरांगबाद रोड (Bulandshahr-Aurangabad Road) पर पहुंचे, तभी 2 बुलेट पर सवार कुछ मनचलों ने उनका पीछा करना शुरू कर दिया. वे अपनी गाड़ी को कभी उनके आगे करते तो कभी पीछ हो जाते थे.

    राष्ट्रीय महिला आयोग का पत्र.


    ये भी पढ़ें: UP Basic Education: खास मॉड्यूल से तैयार होंगी किताबें, हैंडबुक में अपलोड होगा वीडियो 

    सीएम योगी से न्याय की उम्मीद

    पिता जितेंद्र भाटी ने बेटी की मौत पर कहा, 'मैं जनता हूं कि मेरी सुदीक्षा वापस नहीं आएगी, लेकिन भरोसा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुझे न्याय दिलवाएंगे. पिता का कहना है कि उनकी बेटी की हत्या हुई है. वहीं एसपी सिटी अतुल श्रीवास्तव ने बताया कि स्थानीय लोगों से पूछताछ के दौरान पता चला कि वारदात के वक्त ट्रैफिक की वजह से एक बुलेट बाइक जो सामने से जा रही थी उसे अचानक से रुकना पड़ा. बुलेट सवार के अचानक ब्रेक लगाने की वजह से पीछे से आ रही सुदीक्षा की बाइक उससे टकरा गई. इसके बाद वह गिरी और उसकी मौके पर ही मौत हो गई.
    Published by:Preeti George
    First published: