इंटेलिजेंस रिपोर्ट में खुलासा: एक ही हथियार से हुई इंस्पेक्टर सुबोध और सुमित की हत्या

एडीजी इंटेलिजेंस एसपी शिरोडकर ने मामले में अपनी जांच रिपोर्ट गृह विभाग को सौंप दी है. रिपोर्ट में कहा गया है कि इंस्पेक्टर सुबोध और सुमित की हत्या एक ही बोर की गोली से हुई है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 7, 2018, 9:57 AM IST
इंटेलिजेंस रिपोर्ट में खुलासा: एक ही हथियार से हुई इंस्पेक्टर सुबोध और सुमित की हत्या
घटनास्थल की जांच करते पुलिस अधिकारी (पीटीआई)
News18 Uttar Pradesh
Updated: December 7, 2018, 9:57 AM IST
बुलंदशहर हिंसा में मारे गए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और ग्रामीण सुमित की हत्या एक ही बोर के हथियार से हुई. यह दावा एडीजी इंटेलिजेंस एसबी शिरोडकर की जांच रिपोर्ट में किया गया है. इंटेलिजेंस रिपोर्ट गृह विभाग को सौंपी गई है, जिस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कार्रवाई कर सकते हैं. हालांकि गृह विभाग ऐसी किसी भी रिपोर्ट के मिलने से इनकार कर रहा है.

एडीजी इंटेलिजेंस एसपी शिरोडकर ने मामले में अपनी जांच रिपोर्ट गृह विभाग को सौंप दी है. रिपोर्ट में कहा गया है कि इंस्पेक्टर सुबोध और सुमित की हत्या एक ही बोर की गोली से हुई है. साथ ही पूरी घटना को एक सुनियोजित साजिश बताया गया है. रिपोर्ट में कहा गया है कि इंस्पेक्टर सुबोध बगैर हेलमेट और बॉडी प्रोटेक्शन के मौके पर पहुंचे थे. मामले में सीनियर पुलिस अधिकारी भी देरी से मौके पर पहुंचे. घटना 9.30 बजे के बाद की है जबकि अधिकारी 11.30 बजे के करीब पहुंचे.



बुलंदशहर हिंसा: एक फौजी ने मारी थी इंस्पेक्टर सुबोध को गोली

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि एक साजिश के तहत ट्रैक्टर ट्राली पर प्रतिबंधित मांस रखकर आरोपी भाग रहे थे, जिसकी वजह से पुलिस ट्राली को हटाने में नाकाम रही. ऐसा कर आक्रोशित भीड़ पुलिस का समय बर्बाद करना चाहती थी. रिपोर्ट में कहा गया है कि इसके कुछ देर बाद ही धार्मिक कार्यक्रम से लौटने वाली भीड़ को उसी सड़क पर आना था. तब स्थिति बेकाबू हो सकती थी.

बुलंदशहर हिंसा का पूरा VIDEO: मारो...मारो... चिल्लाते हुए पत्थर फेंक रही थी भीड़

एडीजी इंटेलिजेंस ने अपनी जांच रिपोर्ट प्रमुख सचिव गृह को सौंपी है. सीएम योगी आदित्यनाथ के दिल्ली से वापस लौटने पर रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई होगी. हालांकि गृह विभाग रिपोर्ट मिलने से इनकार कर रहा है.

(रिपोर्ट: ऋषभमणि त्रिपाठी)ये भी पढ़ें:

बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध के परिवार से मिले CM योगी, किए ये वादे

बुलंदशहर हिंसा के बाद गोकशी को लेकर ताबड़तोड़ छापे, शिक्षक भर्ती में CBI की FIR

महागठबंधन को लेकर कांग्रेस की बैठक में अखिलेश, माया के शामिल होने पर सस्पेंस

पूर्व सांसद उमाकांत यादव गए जेल, MP MLA कोर्ट ने 7 साल की सजा रखी बरकरार
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

वोट करने के लिए संकल्प लें

बेहतर कल के लिए#AajSawaroApnaKal
  • मैं News18 से ई-मेल पाने के लिए सहमति देता हूं

  • मैं इस साल के चुनाव में मतदान करने का वचन देता हूं, चाहे जो भी हो

    Please check above checkbox.

  • SUBMIT

संकल्प लेने के लिए धन्यवाद

जिम्मेदारी दिखाएं क्योंकि
आपका एक वोट बदलाव ला सकता है

ज्यादा जानकारी के लिए अपना अपना ईमेल चेक करें

डिस्क्लेमरः

HDFC की ओर से जनहित में जारी HDFC लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (पूर्व में HDFC स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड). CIN: L65110MH2000PLC128245, IRDAI R­­­­eg. No. 101. कंपनी के नाम/दस्तावेज/लोगो में 'HDFC' नाम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HDFC Ltd) को दर्शाता है और HDFC लाइफ द्वारा HDFC लिमिटेड के साथ एक समझौते के तहत उपयोग किया जाता है.
ARN EU/04/19/13626

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार