बुलंदशहर हिंसा: पत्नी और जीतू के बयानों में अंतर से उलझ रही इंस्पेक्टर हत्या की गुत्थी

एसटीएफ के अनुसार जीतू फौजी ने अपने बयान में स्वीकार किया है कि वह घटनास्थल पर मौजूद था. वहीं जीतू की पत्नी ने दावा किया है कि हिंसा के दौरान जीतू उनके साथ खरीदारी करने स्याना मार्केट गए हुए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 10, 2018, 10:55 AM IST
  • Share this:
उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में गोकशी के शक में भड़की हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या मामले में आरोपी जितेंद्र मलिक उर्फ जीतू फौजी को एसटीएफ गिरफ्तार कर लाई है. एसटीएफ के अनुसार जीतू फौजी ने अपने बयान में स्वीकार किया है कि वह घटनास्थल पर मौजूद था. उधर इसके बाद जीतू फौजी की पत्नी प्रियंका का एक बयान सामने आया है, जिसमें वह आरोप लगा रही हैं कि पुलिस झूठे केस में उनके पति को फंसा रही है.

जीतू की पत्नी ने दावा किया है कि हिंसा के दौरान जीतू उनके साथ खरीदारी करने स्याना मार्केट गए हुए थे. जीतू के पत्नी के दावे के बाद सवाल खड़े हो रहे हैं कि सच किसे माना जाए, जीतू के एसटीएफ को दिए बयान को या उसकी पत्नी के दावे को?

बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर की हत्या का आरोपी फौजी STF के सुपुर्द, बोला- मुझे कुछ नहीं पता



दरअसल एसएसपी एसटीएफ अभिषेक सिंह ने मेरठ में बताया कि बुलंदशहर मामले में आर्मी के जवान जितेंद्र मलि को गिरफ्तार कर लिया गया है. आर्मी ने उसे 12.50 बजे हैंडओवर किया है. मामले की शुरुआती जांच हो गइ है. उसे बुलंदशहर भेज दिया गया है. आज उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा. एसएसपी ने कहा कि जीतू ने स्वीकार किया है कि घटनास्थल पर जब भीड़ इकट्ठा होनी शुरू हुई तो वह मौके पर मौजूद था. उन्होंने कहा कि शुरुआती जांच में ये बात सही निकली है.
 



हालांकि एसटीएफ एसएसपी ने इसके बाद कहा कि ये अभी साफ नहीं हुआ है कि जीतू ने ही इंस्पेक्टर को गोली मारी या सुमित ने. उसने बयान दिया है कि वह गांव वालों के साथ घटनास्थल पर गया था लेकिन उसने पुलिस पर पत्थर फेंकने की बात से इंकार किया है. मामले में उसके मोबाइल की फॉरेंंसिक जांच कराई जा रही है.

बुलंदशहर हिंसा: जीतू फौजी की पत्नी ने कहा- घटना के वक्त मेरे साथ मार्केट में थे

उधर जीतू फौजी की पत्नी प्रियंका ने वीडियो जारी कर दावा किया है कि पुलिस झूठे केस में मेरे पति को फंसा रही है. हिंसा के दौरान मेरे पति मेरे साथ खरीदारी करने स्याना मार्केट गए हुए थे. प्रियंका ने बताया कि घटना के बाद पुलिस ने घर में घुसकर जमकर तंडव किया. उन्होंने कहा कि पुलिस मेरे पति की तलाश में घर में घुसकर हमारे साथ मारपीट की. शरीर पर पिटाई के निशान दिखाते हुए प्रियंका ने कहा कि सीएम योगी को इस मामले में कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए.

इससे पहले आज सुबह जीतू फौजी को लेकर यूपी एसटीएफ की टीम बुलंदशहर पहुंची. एसआईटी की टीम यहां उससे पूछताछ कर रही है. प्राप्त जानकारी के मुताबिक यूपी एसटीएस की टीम इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या में इस्तेमाल हुई पिस्टल बरामद करने की कोशिश करेगी. पुलिस आज ही जीतू को बुंलदशहर कोर्ट में पेश कर उसका रिमांड मांगेगी.

बुलंदशहर हिंसा: जीतू फौजी को लेकर यूपी STF पहुंची बुलंदशहर, पिस्टल का लगाएगी पता

एसटीएफ की पूछताछ में जीतू ने पुलिस इंस्पेक्टर या सुमित नाम के युवक को गोली मारने से इनकार करते हुए कहा कि उसे इस बारे में कुछ नहीं पता. हालांकि उसने यह स्वीकार किया है कि वह भीड़ का हिस्सा था. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस को मिले बुलंदशहर हिंसा के वीडियो में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या के वक्त जीतू उनके बेहद करीब खड़ा था.

बता दें कि बुलंदशहर के स्याना स्थित चिंगरावटी में गोकशी के शक को लेकर भीड़ की हिंसा में थाना कोतवाली में तैनात इंस्पेक्टर सुबोध सिंह और सुमित नाम के एक अन्य युवक की मौत हो गई थी. इस मामले में 27 नामजद लोगों और 50-60 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है.

ये भी पढ़ें: 

सीएम योगी के बयान के बाद रामपुर के हनुमान मंदिर पर वाल्मीकि समाज ने ठोका दावा

यूपी में लचर प्रशासनिक व्यवस्था पर बिफरे सीएम योगी, ​मुख्य सचिव को कड़े निर्देश जारी

रामपुर में भीषण सड़क हादसा, कार में आग लगने से 4 लोगों की मौत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज