लाइव टीवी

CAA बवाल: UP में लखनऊ सहित 9 जिलों के 498 लोगों को भेजा जाएगा रिकवरी नोटिस, शासन को भेजी गई रिपोर्ट
Kanpur News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 27, 2019, 8:08 AM IST
CAA बवाल: UP में लखनऊ सहित 9 जिलों के 498 लोगों को भेजा जाएगा रिकवरी नोटिस, शासन को भेजी गई रिपोर्ट
सीएए प्रदर्शन को लेकर उत्तर प्रदेश में सरकार लगातार कार्रवाई कर रही है.

जानकारी के अनुसार मेरठ (Meerut) में सबसे ज्यादा 148 लोगों को चिन्हित किया गया है, उसके बाद लखनऊ (Lucknow) में 82 लोगों को रिकवरी नोटिस के लिए चिन्हित किया गया है. इसी तरह रामपुर में 79, मुजफ्फरनगर में 73, कानपुर नगर में 50, संभल में 26, बुलंदशहर में 19, फिरोजाबाद में 13 और मऊ में 8 लोगों रिकवरी के लिए चिन्हित किया गया है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश शासन (UP Administration) की तरफ से प्रदेश के 9 प्रमुख जिलों के डीएम (DM) को धरना प्रदर्शन के दौरान हुए उपद्रव में सावर्जजिनक संपत्ति के नुकसान का निधार्रण करें. इस निर्देश पर इन जिलों के डीएम ने क्षतिपूर्ति के लिए कुल 498 लोगों को चिन्हित किया है और रिपोर्ट शासन को भेज दी है. जानकारी के अनुसार मेरठ में सबसे ज्यादा 148 लोगों को चिन्हित किया गया है, उसके बाद लखनऊ में 82 लोगों को रिकवरी नोटिस के लिए चिन्हित किया गया है. इसी तरह रामपुर में 79, मुजफ्फरनगर में 73, कानपुर नगर में 50, संभल में 26, बुलंदशहर में 19, फिरोजाबाद में 13 और मऊ में 8 लोगों रिकवरी के लिए चिन्हित किया गया है.

लखनऊ में रिटार्य आईजी समेत कई को नोटिस
बता दें लखनऊ में जिन्हें नोटिस जारी किया गया है उसमें प्रमुख रूप से रिटायर्ड आईजी एसआर दारापुरी (Retired IG SR Darapuri), कांग्रेस नेता सदफ जफर (Sadaf Zafar) और रिहाई मंच के मोहम्मद शोएब (Mohammad Shoaib) प्रमुख हैं.

यह नोटिस हजरतगंज पुलिस द्वारा तैयार बलवाइयों की सूची पर जिला प्रशासन ने जारी की है. बता दें एक अनुमान के मुताबिक उत्तर प्रदेश के कई जिलों में हुए हिंसक प्रदर्शन के दौरान 3 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति के नुकसान होने का अनुमान है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हिंसा में हुए नुकसान की भरपाई बलवाइयों से करने के निर्देश दिए थे. जिसके बाद से ही जिला प्रशासन सूची को चिन्हित कर उन्हें नोटिस भेजकर एक सप्ताह के अंदर जवाब देने को कहा है. इसके बाद अगर वो खुद को निर्दोष साबित नहीं कर पाते हैं तो उन्हें एक तय राशि का भुगतान सरकार को क्षतिपूर्ति के तौर पर करना होगा. निर्धारित राशि न देने वालों पर कानूनी कार्रवाई होगी, जिसमें जेल जाना भी शामिल है.

SC गाइडलाइंस का हो रहा पालन
लखनऊ के जिलाधिकारी (डीएम) अभिषेक प्रकाश के मुताबिक नुकसान का अनुमान करोड़ों में है और अभी आंकलन किया जा रहा है कि आखिर कुल कितना नुकसान हुआ है? हर सेक्टर में नुकसान का आंकलन करके हिंसा करने वालों पर जुर्माने की राशि तय की जाएगी. उन्होंने बताया कि सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइंस का पालन करते हुए हमने ये कार्रवाई शुरू कर दी है.

ये भी पढ़ें:CAA Protest: जुमे की नमाज से पहले UP के कई जिलों में इंटरनेट सेवाएं बंद

लखनऊ हिंसा: पूर्व IG समेत 46 लोगों की संपत्ति होगी कुर्क, नोटिस जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 27, 2019, 8:01 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर