दो साल से अधूरी भर्ती के खिलाफ अभ्यर्थियों का UPSSSC पर जोरदार प्रदर्शन

अभ्यर्थियों का कहना है कि तमाम अड़चनों के बाद इसी साल जुलाई में आयोग ने इसका रिजल्ट जारी किया. लेकिन इसमें 116 अभ्यर्थियों का रिजल्ट अभिलेखों में त्रुटियों की बात कहते हुए रोक दिया गया. इसके अलावा 70 भूतपूर्व सैनिकों का भी रिजल्ट रोक दिया गया.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 12, 2018, 2:28 PM IST
दो साल से अधूरी भर्ती के खिलाफ अभ्यर्थियों का UPSSSC पर जोरदार प्रदर्शन
प्रदर्शन करते अभ्यर्थी. Photo: News 18
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 12, 2018, 2:28 PM IST
नियुक्ति की मांग को लेकर बुधवार को सैकड़ों अभ्यर्थियों ने अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन किया. प्रदर्शन करने वालों में कनिष्ठ सहायक और वीडीओ के अभ्यर्थी शामिल रहे. इन दोनों की ही भर्ती 2016 में आई थी जो आज तक अधूरी है.

कनिष्ठ सहायक के अभ्यर्थियों ने बताया कि उनकी भर्ती 5 फरवरी, 2016 को आई थी. 24 अप्रैल, 2016 को परीक्षा के बाद रिजल्ट भी आ गया. इसके बाद टाइपिंग टेस्ट का भी परिणाम घोषित हो गया. इन सब में 12,545 अभ्यर्थी सफल हुए थे. इसके बाद 17 दिसंबर 2016 से इनका इंटरव्यू शुरू हुआ, जो 20 अप्रैल 2017 तक चलना था. लेकिन इसी बीच सरकार बदली और 30 मार्च 2017 को वर्तमान सरकार ने इस भर्ती पर रोक लगा दी.

इसी साल जनवरी में आयोग के नए अध्यक्ष के आने के बाद नए सिरे से इंटरव्यू का फैसला हुआ. 12 जून से 8 अगस्त तक इंटरव्यू भी हुए लेकिन अभी तक रिजल्ट पेंडिंग है. इसी तरह वीडीओ के अभ्यर्थियों ने बताया कि उनकी भर्ती भी 2016 में आई थी. तमाम अड़चनों के बाद इसी साल जुलाई में आयोग ने इसका रिजल्ट जारी किया. लेकिन इसमें 116 अभ्यर्थियों का रिजल्ट अभिलेखों में त्रुटियों की बात कहते हुए रोक दिया गया. इसके अलावा 70 भूतपूर्व सैनिकों का भी रिजल्ट रोक दिया गया. यह अभ्यर्थी भी अब अपनी नियुक्ति के लिए धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं.

(रिपोर्ट: शैलेश अरोड़ा)

ये भी पढ़ें: 

जानिए किस तरह योगी हिंदुत्व और केशव पिछड़ों को साधने में जुटे हैं

बुलन्दशहर: मंत्री नंदगोपाल नंदी पर जानलेवा हमले के मुख्य आरोपी राजेश पायलेट की मौत
Loading...
शिवपाल सिंह यादव ने जारी की सेक्युलर मोर्चा के 9 प्रवक्ताओं की लिस्ट
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर