लाइव टीवी

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी बोले-समय मिला तो हम भी देखेंगे फिल्म 'छपाक'
Lucknow News in Hindi

Kumari Ranjana | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 10, 2020, 7:07 PM IST
केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी बोले-समय मिला तो हम भी देखेंगे फिल्म 'छपाक'
केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी बोले-समय मिला तो हम भी देखेंगे फिल्म 'छपाक' (फाइल फोटो)

मुख्तार अब्बास नकवी कहते हैं कि फिर जब नई सरकार आई तो इसे पास किया गया. इस प्रकार लोकसभा से दो दो बार पास होने के बाद यह (CAB) राज्यसभा से पास हुआ और CAA कानून बना.

  • Share this:
लखनऊ. यूपी की राजधानी लखनऊ (Lucknow) पहुंचे केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी (Mukhtar Abbas Naqvi) ने दीपिका पादुकोण की फिल्म 'छपाक' पर जारी विवाद बोलते हुए कहा कि मौका मिला तो वह भी यह फिल्म देखना चाहेंगे. शुक्रवार को मीडिया से बातचीत के दौरान बीजेपी द्वारा संविधान को न मानने वाले प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) के बयान पर नकवी ने कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि प्रियंका ने कभी संविधान पढ़ा भी है. उनके यहां एक ही संविधान चलता है, वो उस परिवार से हैं जहां इंडिया इज इंदिरा और इंदिरा इज इंडिया होता है.

पोलिटिकल पाखंड

नकवी ने कहा कि नागरिकता कानून को लेकर विपक्ष द्वारा जो दुष्प्रचार किया जा रहा है. वह एक बड़े राजनीतिक षडयंत्र का हिस्सा है. उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों कांग्रेस, सपा और वामपंथी दलों द्वारा जो षडयंत्र किया जा रहा है. वह पोलिटिकल पाखंड है. नौजवानों के कंधों पर बंदूक रखकर यह अशांति फैलाकर एक वर्ग विशेष को भ्रमित कर अपनी राजनीति कर रहे हैं.

कई संशोधन के बाद आया CAA बिल

केंद्रीय मंत्री ने सीएए (CAA) के बारे में कहा कि इसमें कई संशोधन करने के बाद यह बिल लाया गया है. हम चाहते तो जनवरी 2019 में ही इसे पास करा लेते परन्तु तब इस बिल को सेलेक्ट कमेटी को भेजा गया, क्योंकि पीएम मोदी की मंशा थी कि विपक्ष चाह रहा है तो इसपर चर्चा परिचर्चा होनी चाहिए और इसे सेलेक्ट कमेटी को भेजा जाए. 7 जनवरी को कमेटी ने अपनी रिपोर्ट दी और 8 जनवरी को यह बिल लोकसभा में पास होकर राज्यसभा को भेजा गया. राज्यसभा में यह बिल पेंडिंग पड़ा रहा.

मुसलमान यहां कम्पल्शन से नहीं कमिटमेंट से रहता है

मुख्तार अब्बास नकवी कहते हैं कि फिर जब नई सरकार आई तो इसे पास किया गया. इस प्रकार लोकसभा से दो दो बार पास होने के बाद यह (CAB) राज्यसभा से पास हुआ और (CAA) कानून बना.जो लोग भी इस कानून के नाम पर विरोध कर रहे हैं उन्हें मालूम है कि हिंदुस्तान का कोई नागरिक इस कानून से प्रभावित नहीं है. ना हिन्दू ना मुसलमान कोई भारतीय इस कानून से प्रभावित नहीं होगा. इस देश का मुसलमान यहां कम्पल्शन से नहीं कमिटमेंट से रहता है. कुछ लोग निजी हितों के लिए उन्हें भ्रमित करना चाहते हैं. यह ताकतें कामयाब नहीं होंगी और उनके द्वारा जो भ्रम पूर्ण साजिश की जा रही है, इसका पर्दाफाश भी हो रहा है. कोई सरकार नहीं चाहती नागरिक हिंसा हो.

 भ्रम पैदा करने वालों की साजिश 

नकवी ने कहा यह जो कुछ बवाल और देश के नागरिकों का नुकसान हुआ है, यह भ्रम पैदा करने वालों की साजिश के चलते हुआ है. जितने बड़े पैमाने पर लोगों में डर फैलाकर इस कानून के बारे में एक वर्ग को डराया गया इसका अंदाजा नहीं था. फिर भी सरकार ने देश विरोधी ताकतों के द्वारा फैलाये जा रहे भ्रम के खिलाफ कमर कसी और आज देश को पता है कि किसी भारतीय पर इस कानून का कोई प्रभाव नहीं होगा.

ये भी पढ़ें:

प्रियंका का काशी दौरा: 5 घंटे में 3 प्रमुख मंदिरों के दर्शन, संत रविदास, श्री मठ और बाबा विश्वनाथ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 10, 2020, 7:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर