SP और BSP की सरकारों ने शिक्षा माफिया के साथ मिलकर यूपी बोर्ड की गरिमा को धूमिल कर दिया

एनसीईआरटी की पाठ्यपुस्तकों से सरकारी विद्यालयों में पढ़ाई करवाने से अब यूपी बोर्ड के विद्यार्थियों के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करना काफी आसान हो जाएगा.

भाषा
Updated: February 15, 2018, 2:28 PM IST
SP और BSP की सरकारों ने शिक्षा माफिया के साथ मिलकर यूपी बोर्ड की गरिमा को धूमिल कर दिया
बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता चन्द्रमोहन
भाषा
Updated: February 15, 2018, 2:28 PM IST
भारतीय जनता पार्टी ने गुरुवार को कहा कि यूपी बोर्ड परीक्षाओं में नकल पर रोक लगाकर सरकार ने प्रदेश में शिक्षा के क्षेत्र में गुणात्मक सुधार लाने की दिशा में तेजी से कदम बढ़ा दिया है.

प्रदेश पार्टी मुख्यालय पर प्रदेश प्रवक्ता चन्द्रमोहन ने कहा कि सपा और बसपा की पिछली सरकारों ने नकल और शिक्षा माफियों के साथ मिलकर यूपी बोर्ड की गरिमा को धूमिल कर दिया. यूपी बोर्ड परीक्षाएं नकल की वजह से बदनाम होने लगीं. इस बार की बोर्ड परीक्षाओं को जिस तरह से नकल विहीन बनाया गया है वह एक स्वागतयोग्य कदम है.

परीक्षा केंद्रों में सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था, परीक्षा केंद्र निर्धारण की आनलाइन व्यवस्था से माफियाओं को बाहर करना, कोडिंग सिस्टम जैसे अभूतपूर्व कदम उठाकर भाजपा सरकार ने विद्यार्थियों को उनकी मेहनत का वाजिब फल देने की पृष्ठभूमि तैयार की है.

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि उपमुख्यमंत्री डा0 दिनेश शर्मा जिस तरह से बोर्ड परीक्षा केंद्रों का आकस्मिक निरीक्षण कर रहे हैं उससे सरकार की विद्यार्थियों के भविष्य को लेकर चिंता उजागर होती है. बोर्ड परीक्षाओं की शुचिता में बढ़ावा होने से यहां से उत्तीर्ण होने वाले विद्यार्थी कहीं ज्यादा काबिल और सक्षम साबित होंगे, इससे प्रदेश का भविष्य संवरेगा.

उन्होंने कहा कि एनसीईआरटी की पाठ्यपुस्तकों से सरकारी विद्यालयों में पढ़ाई करवाने से अब यूपी बोर्ड के विद्यार्थियों के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करना काफी आसान हो जाएगा. इसके साथ ही सरकार विद्यालयों में खाली पड़े शिक्षकों के पदों को प्राथमिकता के तौर पर भरने की पूरी कोशिश में लगी है. अब विद्यार्थियों के भविष्य से खिलवाड़ करने की छूट किसी को भी नहीं दी जाएगी.

ये भी पढ़ेंः
US के दबाव में आया पाकिस्तान, हाफिज सईद को घोषित किया आतंकी
आतंकवादियों को पैसा पहुंचा रहा है पाक! कड़े एक्शन की तैयारी में US
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर