होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

UP Election 2022: दलितों और पिछड़ों को 'चुनावी हिन्दू' बनने से रोकेंगे चंद्रशेखर, ये रही प्लानिंग

UP Election 2022: दलितों और पिछड़ों को 'चुनावी हिन्दू' बनने से रोकेंगे चंद्रशेखर, ये रही प्लानिंग

UP Election 2022: दलितों और पिछड़ों को चुनावी हिन्दू बनने से रोकेंगे चंद्रशेखर

UP Election 2022: दलितों और पिछड़ों को चुनावी हिन्दू बनने से रोकेंगे चंद्रशेखर

UP News: चंद्रशेखर लखनऊ (Lucknow) के ईको गार्डन पार्क में 69 हजार शिक्षक भर्ती के उन अभ्यर्थियों के बीच पहुंचे थे जो पिछले 70 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं.

लखनऊ. आजाद समाज पार्टी (भीम आर्मी) के अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद (Chandrashekhar Azad) ने एक बड़ा ऐलान किया है. उन्होंने कहा है कि दलित और पिछड़े चुनावी हिन्दू बनना बंद करें. चुनाव के समय तो उन्हें मुसलमानों का डर दिखाया जाता है और हिन्दू एकता की बात करके वोट लिया जाता है. लेकिन, चुनाव के बाद फिर से उन्हें दलित और पिछड़ा ही छोड़ दिया जाता है. इसके अलावा उन्होंने 2022 के विधानसभा चुनाव में संभावित गठबंधन के बारे में भी बात की है. चंद्रशेखर लखनऊ के ईको गार्डन पार्क में 69 हजार शिक्षक भर्ती के उन अभ्यर्थियों के बीच पहुंचे थे जो पिछले 70 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं. इनका आरोप है कि सरकार ने 69 हजार शिक्षक भर्ती में आरक्षण नियमों का पालन नहीं किया है.

सवाल – छात्र तो आंदोलन कर ही रहे हैं लेकिन, आप जैसे जनप्रतिनिधि एक कदम आगे बढ़कर सरकार के नुमांइदों से बात क्यों नहीं करते?  जवाब – ये सरकार अपने मंत्रियों की तो सुनती नहीं है. सच की आवाज हमारी कहां सुनेगी. ये उनको तो समय देते नहीं है. क्या इस सरकार में दलित और पिछड़े मंत्री नहीं हैं. ये तो बड़े प्रचार कर रहे थे कि हमने इतने ओबीसी मंत्री बनाये. अरे ओबीसी और दलितों के बच्चे पीट रहे हैं. इनकी आवाज क्यों नहीं उठा सकते.

हमारे अधिकारों का किया गया यूज
मुख्यमंत्री से ये सवाल होना चाहिए था कि भाई ये बच्चे क्यों बैठे हुए हैं. ये घोटाला क्यों कर रहे हो. हमारे लोगों को क्यों सता रहे हो. उनको न्याय क्यों नहीं दे रहे हो. ये करने के बजाय इनके चुनाव प्रचार में शामिल हो रहे हैं. ये समझना चाहिए कि इससे क्या होगा, नुकसान हो रहा है. हमारे आदमी को मोहरा बनाकर हमारे ही अधिकारों के खिलाफ हथियार की तरह यूज़ किया जा रहा है.

यूनिट बनाकर चुनावी हिन्दू को रोकने का प्रयास
सवाल – 2022 के विधानसभा चुनाव में दलितों और पिछड़ों को चुनावी हिन्दू बनने से कैसे रोकेंगे?  जवाब – मैंने उसकी पूरी तैयारी कर ली है. अब हमारे कार्यकर्ता 20-20 दिन यूनिट बनाकर लोगों के बात करेंगे. हमनें हर जिले में 300 लोगों की यूनिट बनायी है. हर यूनिट में 12 वक्ता हैं. ये सभी 20 दिन फील्ड में रहेंगे. एक एक गांव में रूकेंगे. बीस गांवों में वो रहेंगे. रात और दिन घर घर जाकर बताएंगे कि बीजेपी ने साढ़े चार साल में दलितों और पिछड़ों को दिया क्या है. बीजेपी के पाखंडवाद को बताएंगे. अपने इतिहास के बारे में बताया जाएगा.

बीजेपी को रोकने के लिए होगा गठबंधन
सवाल – क्या आप भी प्रकाश राजभर के बनाये भागीदारी संकल्प मोर्चा को ज्वाइन कर रहें हैं?  जवाब – जब ज्वाइन करेंगे तो पूरी ताकत से बतायेंगे सबको. अभी एक प्रोग्राम के दौरान उनसे वार्त्ता हुई है. मैंने उनसे पूछा कि बताइये क्या हालात हैं. आपलोग बीजेपी को रोकने का क्या रास्ता बना रहे हैं. मैं समझता हूं कि चीजें बदलेंगे. अभी उनसे बात होगी और हमलोग प्रयास करेंगे कि बीजेपी को उत्तर प्रदेश में रोकें. जो समान विचारधारा के लोग होंगे उनको इकट्ठा करने का प्रयास होगा.

माइनॉरिटी लोगों के हक के लिए लड़ेंगे लड़ाई
सवाल – असदुद्दीन ओवैसी से आपकी क्या बात हुई?  जवाब – मैंने उनसे भी पूछा कि बताइये माइनॉरिटी के हकों के लिए हमलोग क्या कर सकते हैं. माइनॉरिटी की हालत पर मेरा और उनका रिकार्ड मैच करता है. सबसे ज्यादा दलित मुस्लिम और पिछड़े वर्ग के लोग जेलों में बंद हैं.

Tags: BSP UP, Chandrashekhar Azad, CM Yogi, Mayawati, UP Election 2022, UP politics, Yogi government

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर