लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन पर यात्री नहीं खा सकेंगे केला, ये है वजह...

रेलवे अधिकारियों का मानना है कि केले के छिलके से प्लेटफॉर्म पर गंदगी फैलती है. इसे देखते हुए रेलवे प्रशासन ने चारबाग रेलवे स्टेशन पर केले की बिक्री पर रोक लगा दी है. प्रशासन ने चेतावनी दी है कि अगर कोई इस नियम को तोड़ते हुए पाया जाएगा तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

News18Hindi
Updated: August 28, 2019, 1:24 PM IST
लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन पर यात्री नहीं खा सकेंगे केला, ये है वजह...
रेलवे अधिकारियों का मानना है कि केले के छिलके से प्लेटफॉर्म पर गंदगी फैलती है. इसे देखते हुए रेलवे प्रशासन ने चारबाग रेलवे स्टेशन पर केले की बिक्री पर रोक लगा दी है. प्रशासन ने चेतावनी दी है कि अगर कोई इस नियम को तोड़ते हुए पाया जाएगा तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.
News18Hindi
Updated: August 28, 2019, 1:24 PM IST
केला का नाम सुनते ही बहुत लोगों के मन में इसे खाने की इच्छा प्रबल हो जाती है. मगर इस सदाबहार फल को लखनऊ रेलवे स्टेशन पर बैन (प्रतिबंध) कर दिया गया है. केले पर प्रतिबंध लगाने की वजह स्वच्छता में व्यवधान (अड़चन) बताई जा रही है. रेलवे अधिकारियों का मानना है कि केले के छिलके से प्लेटफॉर्म पर गंदगी फैलती है. इसे देखते हुए रेलवे प्रशासन ने चारबाग रेलवे स्टेशन पर केले की बिक्री पर रोक लगा दी है. प्रशासन ने चेतावनी दी है कि अगर कोई इस नियम को तोड़ते हुए पाया जाएगा तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार केले की बिक्री पर रोक लगने से दुकानदार और यात्री खुश नहीं हैं. चारबाग स्टेशन पर फलों की दुकान लगाने वाले ने कहा कि इससे न सिर्फ उसकी आमदनी पर असर पड़ेगा. अन्य फलों की तुलना में केला सस्ता होता है इसलिए ये सफर के दौरान आम यात्री के भोजन का प्रमुख साधन है. उसने बताया कि वो पिछले 5-6 दिन से केले नहीं बेच रहा है. प्रशासन ने इसकी बिक्री पर रोक लगा दी है.


Loading...

केले से ज्यादा प्लास्टिक से रेलवे प्लेटफॉर्म पर होती है गंदगी 

वहीं रेल यात्रियों ने प्रशासन के इस कदम को बेतुका करार दिया है. उन्होंने कहा कि केले से कहीं ज्यादा प्लास्टिक रेलवे प्लेटफॉर्म पर गंदगी फैलाते हैं. उन्होंने प्लास्टिक उत्पादों- बोतलबंद पानी और पैकेट वाले स्नैक्स को रेलवे स्टेशन पर बेचने पर रोक लगाने की मांग की. पानी की बोतलों और पैक किए हुए स्नैक्स पर भी प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि केला के छिलके ऑर्गेनिक हैं, इनसे प्रदूषण और वातावरण को कोई नुकसान नहीं होता.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 1:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...