लाइव टीवी

चिन्मयानंद पर रेप का मुकदमा लखनऊ की MP-MLA कोर्ट में ट्रांसफर, ये है वजह
Lucknow News in Hindi

Rishabh Mani | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 12, 2020, 11:53 PM IST
चिन्मयानंद पर रेप का मुकदमा लखनऊ की MP-MLA कोर्ट में ट्रांसफर, ये है वजह
कोर्ट में पेश नहीं हुए चिन्मयानंद.

पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद (Chinmayanand) से जुड़े दोनों मामले शाहजहांपुर से लखनऊ की एमपी-एमएलए कोर्ट (MP-MLA Court) में ट्रांसफर कर दिए गए हैं. इसमें चिन्मयानंद के खिलाफ चल रहा रेप (Rape) का मुकदमा और दुष्कर्म की पीड़िता द्वारा पूर्व मंत्री को ब्लैकमेल करने के आरोपों वाला मुकदमा भी शामिल है.

  • Share this:
लखनऊ. पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद (Chinmayanand) के खिलाफ रेप (Rape) का मुकदमा और दुष्कर्म की पीड़िता द्वारा पूर्व मंत्री को ब्लैकमेल करने के आरोपों वाले मुकदमे की सुनवाई को शाहजहांपुर से लखनऊ की एमपी-एमएलए कोर्ट (MP-MLA Court) में ट्रांसफर कर दिया गया. एमपी-एमएलए कोर्ट के स्पेशल जज पवन कुमार राय के छुट्टी पर होने के चलते मामले को सुनवाई के लिए एडीजे डॉ. अवनीश कुमार के सामने पेश किया गया, जहां कोर्ट ने मामले में सुनवाई के लिए 19 फरवरी की तारीख तय की है.

विशेष कोर्ट में रिसीव कराई गईं फाइलें
इसके पहले हाईकोर्ट के आदेश से दोनों मुकदमों की फाइलें शाहजहांपुर से लाकर लखनऊ की विशेष कोर्ट में रिसीव कराई गईं, जहां बुधवार सुनवाई के लिए तारीख तय थी. दुराचार के मामले में आरोपी चिन्मयानंद बुधवार को एमपी-एमएलए कोर्ट में हाजिर नहीं हुए, लेकिन उनकी ओर से उनकी हाजिरी माफ करने की अर्जी दी गई, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया और सुनवाई के लिए तारीख तय कर दी.
चर्चित दुराचार मामले में 3 फरवरी को चिन्मयानंद की जमानत अर्जी की सुनवाई इलाहाबाद हाईकोर्ट में हो रही थी, जहां सुनवाई के दौरान पीड़िता की ओर से कहा गया कि आरोपी प्रभावशाली व्यक्ति है और वह सुनवाई के दौरान गवाहों को प्रभावित कर सकता है.

हाईकोर्ट ने दिया था ये आदेश
हाईकोर्ट ने चिन्मयानंद को जमानत देने के साथ शाहजहांपुर एडीजे तृतीय की अदालत में चल रहे दोनों मामलों को लखनऊ ट्रांसफर करने का आदेश दिया था. लखनऊ ट्रांसफर किए गए दोनों मामलों में से एक मामले में चिन्मयानंद के खिलाफ दुराचार का मामला है, जबकि दूसरा मामला चिन्मयानंद से ब्लैकमेलिंग करने का है. इस मामले में पीड़िता, उसके तीन साथी और डीसीबी के चेयरमैन डीपीएस राठौर के साथ ही भाजयुमो नेता अजीत सिंह आरोपी है.

ये भी पढ़ें-IRCTC इस रूट पर चलाएगी देश की तीसरी प्राइवेट ट्रेन, ये है खासियत

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हो सकता UP बोर्ड परीक्षाओं का नाम!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 11:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर