लखनऊ का अमौसी एयरपोर्ट बना एशिया का बेस्ट एयरपोर्ट, जानिए क्या है वजह

लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट ने बड़ा मुकाम हासिल किया है
लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट ने बड़ा मुकाम हासिल किया है

इसके पहले लखनऊ एयरपोर्ट को वर्ष 2018 में 25 से 50 लाख यात्रियों के वर्ग में एसीआई ने एयरपोर्ट सर्विस क्वालिटी पुरस्कार से सम्मानित किया था. वर्ष 2016 में भी लखनऊ एयरपोर्ट यह पुरस्कार हासिल कर चुका है.

  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में स्थित चौधरी चरण सिंह अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट (Chaudhary Charan Singh Airport) ने वैश्विक स्तर पर होने वाली रैंकिग में अपनी एक और उपलब्धी दर्ज कराई है. अमौसी स्थित चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट ने 50 लाख से 1.5 करोड़ यात्री क्षमता की श्रेणी में बेहतर कस्टमर सर्विस के मामले में एशिया में पहला स्थान हासिल किया है. इस उपलब्धि के बाद एसीआई ने ट्वीट कर लखनऊ एयरपोर्ट को बधाई दी है. इसके साथ ही एयरपोर्ट अथारिटी ऑफ इंडिया ने भी इसे ट्वीट किया है.

कोचीन, चीन और इंडोनेशिया के एयरपोर्ट काे पछाड़ा
लखनऊ एयरपोर्ट को एसीआई यानि (एयरपोर्ट काउंसिल इंटरनेशनल) की ओर से इस वर्ष की रैंकिंग में एशिया पैसिफिक क्षेत्र में पहला पुरस्कार मिला है. आपको बता दें कि कनाडा में मॉन्ट्रियल की संस्था एयरपोर्ट काउंसिल इंटरनेशनल यात्रियों के फीडबैक यानी बातचीत के अनुभव को ध्यान में रखते हुए रैंकिंग तय करती है. इस वर्ग में पहले नम्बर पर लखनऊ का चौधरी चरण सिंह अन्तराष्ट्रीय एयरपोर्ट, दूसरे नम्बर पर कोचीन एयरपोर्ट, तीसरे नम्बर पर चीन का होहोट एयरपोर्ट और चौथे नम्बर पर इंडोनेशिया का एयरपोर्ट शामिल है.

वैसे ये पहला मौका नहीं है, जब लखनऊ एयरपोर्ट पहले नम्बर पर रहा हो. इसके पहले भी 3 बार लखनऊ एयरपोर्ट रैंकिंग में अव्वल रह चुका है. लखनऊ एयरपोर्ट डायरेक्टर एके शर्मा ने बताया कि अमौसी एयरपोर्ट को एयरपोर्ट काउंसिल इंटरनेशनल ने अपने सर्वे में बेस्ट कस्टमर सर्विस, बेस्ट एयरपोर्ट बाई साईज ऐंड रीजन, बेस्ट एयरपोर्ट इन इंवायरमेंट औऱ बेस्ट एयरपोर्ट इन इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए पहला स्थान दिया है.
एयरपोर्ट सर्विस क्वालिटी सर्वे होती है आधार


काउंसिल ने यह अवॉर्ड चार तिमाही की एयरपोर्ट सर्विस क्वालिटी (एएसक्यू) सर्वे के आधार पर यह तय किया. इसमें अमौसी एयरपोर्ट को 4.83 अंक मिले. इस उपलब्धि के बाद अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर लखनऊ एयरपोर्ट की साख और मजबूत हुई है. एयरपोर्ट निदेशक एके शर्मा के मुताबिक विमानन कंपनियों, इमीग्रेशन, एएआइई और कस्टम के अलावा मेट्रो रेल कनेक्टिविटी और गोल्फ कार्ट की सुविधा भी प्रदर्शन में महत्वपूर्ण साबित हुई है.



पहले भी मिल चुका है एयरपोर्ट को पुरस्कार
इसके पहले लखनऊ एयरपोर्ट को वर्ष 2018 में 25 से 50 लाख यात्रियों के वर्ग में एसीआई ने एयरपोर्ट सर्विस क्वालिटी पुरस्कार से सम्मानित किया था. उस वर्ष देश के 6 एयरपोर्ट ने एएसक्यू में जगह बनाई थी. इनमें मुम्बई, दिल्ली एयरपोर्ट शामिल थे.

वर्ष 2016 में भी लखनऊ एयरपोर्ट यह पुरस्कार हासिल कर चुका है. यात्रियों ने हर बार एयरपोर्ट पर मिलने वाली सुविधाओं, कर्मचारियों, इमिग्रेशन और कस्टम के व्यवहार पर संतोष जताते हुए सर्वेक्षणों में भारतीय एयरपोर्टों को ज्यादा अंक दिए हैं.

ये भी पढ़ें:

अयोध्या में 24 मार्च को अस्थाई मंदिर में होगी रामलला का प्राण प्रतिष्ठा

बुलंदशहर: बसपा के पूर्व विधायक हाजी अलीम की मौत मामले में बेटा अनस गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज