लाइव टीवी

CAA बवाल: हिंसा की आग में झुलसे यूपी के 20 जिले, 7 प्रदर्शनकारियों की मौत सैकड़ों घायल

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 20, 2019, 11:37 PM IST
CAA बवाल: हिंसा की आग में झुलसे यूपी के 20 जिले, 7 प्रदर्शनकारियों की मौत सैकड़ों घायल
हिंसा में शामिल प्रर्दशनकारियो की शिनाख्त कराकर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है.

नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के विरोध में शुक्रवार को भी उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कई शहरों में प्रदर्शनकारियों ने जमकर बवाल (Violence) किया.

  • Share this:
लखनऊ. नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) और NRC के विरोध में शुक्रवार को भी उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कई शहरों में प्रदर्शनकारियों ने जमकर बवाल (Violence) किया. जानकारी के मुताबिक, इस दौरान 6 प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई. जिसमें बिजनौर में 2, संभल, मेरठ, फिरोजाबाद और कानपुर में 1-1 प्रदर्शनकारियों के मरने की खबर है. वहीं गुरुवार को हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से लखनऊ में एक प्रदर्शनकारी के मरने की खबर थी.

जानकारी के मुताबिक मरने वालों में से कई की मौत गोली लगने से हुई, लेकिन पुलिस महानिदेशक ने पुलिस की गोली से किसी की भी मृत्‍यु होने से इनकार किया. उन्‍होंने बताया कि हिंसा में 50 से ज्‍यादा पुलिसकर्मी भी गम्‍भीर रूप से घायल हुए हैं. पुलिस के मुताबिक फिरोजाबाद, मुजफ्फरनगर, बुलन्दशहर, बहराइच, भदोही, गाजियाबाद और गोरखपुर समेत 20 जिलों में उग्र प्रदर्शनकारियों ने जुमे की नमाज के बाद सड़क पर आकर पथराव और आगजनी की. इन घटनाओं में कुल 667 लोगों को हिरासत में लिया गया है. वहीं सुरक्षा के मद्देनज़र शनिवार को यूपी में सभी स्कूल बंद रखने के आदेश दे दिए गए हैं.

सीएम योगी ने जताई थी खासा नाराजगी 
गुरूवार को राजधानी लखनऊ और संभल में हुए प्रर्दशन के दौरान सामने आई आगजनी और हिंसा की घटना पर खुद सीएम योगी ने खासा नाराजगी जताई थी. और नागरिकता संशोधन कानून के विरोध के नाम पर हिंसा फैलाने वालो की संपत्ति जब्त कर उनके खिलाफ कडी कार्रवाई किये जाने की बात कही थी. जिसके बाद सीएम ने गुरूवार की देर रात ही पुलिस प्रशासन के आला-अधिकारियो को तलब कर वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये सूबे के सभी डीएम-एसपी के साथ बैठक की थी. और सूबे के मौजूदा हालातो की समीक्षा करते हुए हिंसक प्रर्दशन करने वालो के खिलाफ तत्काल कड़ी कार्रवाई कर ऐसे प्रर्दशनो को रोकने का सख्त निर्देश दिया था. लेकिन इसके बावजूद हुए हिंसक प्रर्दशन के बाद अब जल्द ही कई अधिकारियो के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है.

प्रर्दशनकारियो की शिनाख्त कराकर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई
सीएम योगी की सख्ती के बावजूद शुक्रवार को सूबे के करीब डेढ़ दर्जन जिलो में फैली हिंसा से शासन-सत्ता में हड़कंप मच गया है. ऐसे में इन हिंसक प्रर्दशनो को रोकने के लिये एक ओर जहां आगरा में टीवी प्रसारण पर रोक लगा दी गई है. वही राजधानी लखनऊ समेत हिंसक प्रर्दशन से जुड़े अधिकांश जिलो में इंटरनेट को बंद कर दिया गया है. न्यूज 18 से मुखातिब एडीजी प्रशात कुमार के मुताबिक मेरठ में स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है. बुलंदशहर, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर में विशेष सतर्कता बरती जा रही है. इस दौरान संवेदनशील स्थलो पर भारी संख्या में सुरक्षा बलो की तैनाती की गई है. और हिंसा में शामिल प्रर्दशनकारियो की शिनाख्त कराकर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है.'

हिंसा एवं आगजनी की घटनाओं में लगभग दो दर्जन वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया. प्रभावित जिलों से क्षति का आंकलन करते हुए रिपोर्ट मांगी गयी है. हालांकि गुरुवार को हुई हिंसा की चपेट में आये लखनऊ और पिछले करीब एक सप्‍ताह से विरोध प्रदर्शन के दौर से गुजर रहे अलीगढ़ में शुक्रवार को हालात शांतिपूर्ण रहे.

बिजनौर
बिजनौर से मिली रिपोर्ट के मुताबिक जिलाधिकारी रमाकांत पाण्‍डेय ने दो लोगों के मरने की पुष्टि की. उन्‍होंने बताया कि नहटौर इलाके में उग्र भीड़ ने थाना फूंकने की कोशिश की. बचाव में पुलिस ने बल प्रयोग किया. सूत्रों के मुताबिक इस दौरान चली गोली लगने से दो लोगों की मौत हो गयी. हिंसा में कई संख्‍या में लोगों के घायल होने की खबर है. बिजनौर शहर में भी जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शनकारियों ने सिविल लाइन और जजी इलाकों में तोड़फोड़ कर कुछ वाहनों को आग लगा दी. जिसके बाद जिले में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गयी है.

मेरठ
उधर, मेरठ के लिसाड़ीगेट थाना क्षेत्र के इस्‍लामाबाद में प्रदर्शनकारियों की भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया. इसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गये. इसके अलावा शहर कोतवाली क्षेत्र तथा भ्रमपुरी क्षेत्रों में भी बलवाइयों और पुलिस के बीच संघर्ष हुआ. इस दौरान एक व्‍यक्ति की मौत हो गयी.

कानपुर शहर
कानपुर शहर के विभिन्‍न इलाकों में यतीमखाने, मूलगंज, परेड, फूलबाग, बाबूपुरवा ईदगाह के पास बड़ी संख्‍या में एकत्र प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया. बाबूपुरवा पुलिस चौकी पर प्रदर्शनकारियों ने भारी पथराव किया. पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसूगैस के गोले छोड़े. पुलिस के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि बाबूगंज थाना क्षेत्र में हुई हिंसा में एक व्‍यक्ति की मौत हो गयी तथा आठ अन्‍य जख्‍मी हो गये. वहीं हिंसा के मामले में 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

फिरोजाबाद
फिरोजाबाद से मिली रिपोर्ट के मुताबिक सीएए के खिलाफ फिरोजाबाद जिले के दक्षिण कोतवाली और रामगढ़ इलाकों में पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच जमकर संघर्ष हुआ. दक्षिण कोतवाली क्षेत्र में गोली लगने से एक युवक की मौत हो गयी और दो पुलिसकर्मियों समेत छह लोग घायल हो गये. बलवाइयों ने रामगढ इलाके में इटावा-आगरा राजमार्ग पर कई घंटे तक रास्‍ता जाम रखा.

हाथरस
हाथरस जिले के सिकंदराराऊ क्षेत्र में भी जुमे की नमाज के बाद प्रदर्शन हुआ, मगर पुलिस ने मुस्‍तैदी दिखाते हुए उन्‍हें खदेड़ दिया. हालात को देखते हुए जिले में इंटरनेट सेवाएं अगले आदेश तक बंद कर दी गयी हैं.

बहराइच
बहराइच, से मिली रिपोर्ट के मुताबिक जुमे की नमाज के बाद शुक्रवार दोपहर मस्जिदों से निकलकर सीएए के विरोध में इकट्ठा हो उग्र नारेबाजी व पुलिस बल पर पथराव कर रहे प्रदर्शनकारियों को तितर बितर करने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा. जिला प्रशासन के वरिष्‍ठ अधिकारी पिछले 24 घंटे से मुस्लिम धर्मगुरूओ के संपर्क में थे और तमाम जिम्मेदार धर्मगुरूओं और मुस्लिम नेताओं ने लोगों से पूर्व घोषित प्रदर्शन स्थगित करने की अपील भी की थी. बावजूद इसके जुमे की नमाज समाप्त होते ही हजारों की संख्या में लोग घंटाघर चौराहे पर सीएए विरोधी तख्तियां लेकर इकट्ठा हो गये. बाद में वे उग्र नारेबाजी करने लगे. पुलिस द्वारा रोकने पर प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया. पहले से तैयार पुलिस ने लाठी चार्ज व आंसू गैस का प्रयोग कर लोगों को खदेड़ दिया.

(इनपुट: राजीव प्रकाश सिंह)

ये भी पढ़ें:

CAA को लेकर UP में जगह-जगह हिंसक प्रदर्शन, पथराव और फायरिंग में कई पुलिसकर्मी घायल

CAA Protest: कानपुर में प्रदर्शन के दौरान 12 लोग घायल, हैलेट अस्पताल में भर्ती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 20, 2019, 11:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर