कालाधन, भ्रष्टाचार, आतंकवाद के खात्मे के आंकड़े कहां हैं: अखिलेश

बहराइच में सीएम अखिलेश यादव ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए पूछा कि नोटबंदी से आपने कहा था कि कालाधन, भ्रष्टाचार और आतंकवाद खत्म हो जाएगा, सारा पैसा जमा हो गया है, बताइए आंकड़े कहां हैं?

News18Hindi
Updated: February 22, 2017, 7:04 PM IST
कालाधन, भ्रष्टाचार, आतंकवाद के खात्मे के आंकड़े कहां हैं: अखिलेश
बहराइच में सीएम अखिलेश यादव ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए पूछा कि नोटबंदी से आपने कहा था कि कालाधन, भ्रष्टाचार और आतंकवाद खत्म हो जाएगा, सारा पैसा जमा हो गया है, बताइए आंकड़े कहां हैं?
News18Hindi
Updated: February 22, 2017, 7:04 PM IST
बहराइच में सीएम अखिलेश यादव ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए पूछा कि नोटबंदी से आपने कहा था कि कालाधन, भ्रष्टाचार और आतंकवाद खत्म हो जाएगा, सारा पैसा जमा हो गया है, बताइए आंकड़े कहां हैं?

अखिलेश ने कहा कि बहराइच में तो शेर भी हैं, चीता भी दिखता होगा, कर्तनिया घाट पर घड़ियाल भी दिखता होगा. गुजरात के एक बड़े मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को पता ही नहीं है हमारे गधों के बारे में. हम कहते हैं कि हमें गधों के बारे में जानना ही नहीं है.

अखिलेश ने कहा ये सरकार बनाने वाला चुनाव है. हमारे समाजवादी जब बहुत उत्साह में होते हैं तो हाथ छोड़कर भी साइकिल चला लेते हैं. अब कांग्रेस का हाथ भी साथ है, तो साइकिल की रफ्तार और भी तेज हो जाएगी.

अखिलेश ने कहा कि समाजवादी लोगों के काम पर सभी को भरोसा है. बहुत जल्द ही बहराइच में 300 बेड का अस्पताल बनकर तैयार हो जाएगा. आने वाले समय में यही जिला अस्पताल 500 बेड का और फिर मेडिकल कॉलेज बनाने के लिए काम किया जाएगा.

बहराइच से श्रावस्ती सड़क समाजवादियों ने बनाई. शहर की तरह गांव में भी चौबीस घंटे बिजली देंगे.  बहराइच में 90 हजार से ज्यााद गरीबों को समाजवादी पेंशन से जोड़ा है. आने वाले समय में एक भी गरीब नहीं छूटेगा. अभी 500 रुपए महीना दे रहे हैं, आनेवाले समय में 1000 रुपए महीना दिया जाएगा.

अखिलेश ने कहा कि बताओ कितने दिन अच्छे दिन आए. इन्होंने अच्छे दिन के बहाने सबको लाइन में खड़ा कर दिया. सब पैसा जमा करा लिया. कहते थे, जब पैसा आ जाएगा तो गरीबों को 15 लाख एकाउंट में देंगे, 15 हजार भी पहुंचाए हों, तो बता दें?

बहराइच में सीएम अखिलेश यादव ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए पूछा कि नोटबंदी से आपने कहा था कि कालाधन, भ्रष्टाचार और आतंकवाद खत्म हो जाएगा, आंकड़े कहां हैं?
हमें सुना रहे हैं मन की बात. बहुत सुना ली मन की बात, टीवी पर भी आने लगी मन की बात. जनता अभी तक नहीं समझ पाई इनके मन की बात. हमने प्रधानमंत्री से कहा, कब करोगे काम की बात. कोई काम नहीं किया. बीजेपी के लोग कम से कम एक काम बताएं. केवल धोखा देने का काम किया है.

हमारी सरकार पर आरोप लगाते हैं कि हम जाति और धर्म का भेदभाव करते हैं. एंबुलेंस, सड़कों पर कोई भेदभाव कर सकता है क्या. हमने लैपटॉप बिना भेदभाव के दिया.

हमारे गांव में गंगा मइया की कसम खाते हैं. पीएम बनारस गए थे, कहा था कि गंगा मइया ने उन्हें बुलाया है. उन्होंने बिजली के सवाल पर जाने क्या कह दिया. आंकड़े हमने दिए, आंकड़ों में उलझ गए. जब गंगा मइया ने बुलाया तो खाओ गंगा मइया की कसम काशी में हमने चौबीस घंटे बिजली दी कि नहीं. अभी तक हमारे इस सवाल का उत्तर नहीं आया है.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...