होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

लोकसभा चुनाव 2024: खुद योगी आदित्यनाथ अपने दोनों डिप्टी के साथ परखेंगे जमीनी तैयारी, ये है प्लान

लोकसभा चुनाव 2024: खुद योगी आदित्यनाथ अपने दोनों डिप्टी के साथ परखेंगे जमीनी तैयारी, ये है प्लान

लोकसभा चुनाव 2024 को देखते हुए इसे एक अहम निर्णय माना जा रहा है.

लोकसभा चुनाव 2024 को देखते हुए इसे एक अहम निर्णय माना जा रहा है.

Lucknow News: सीएम योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद और ब्रजेश पाठक 25-25 जिलों का भ्रमण करेंगे. जिलों में सरकार के कामकाज की समीक्षा समेत कार्यकर्ताओं और सरकार के बीच सामंजस्य स्थापित करने का काम करेंगे.

हाइलाइट्स

जिलों में सरकार के कामकाज की समीक्षा समेत कार्यकर्ताओं और सरकार के बीच सामंजस्य स्थापित करेंगे.
लोकसभा चुनाव 2024 को देखते हुए एक अहम निर्णय.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारियों के मद्देनजर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला लिया है. सरकार और संगठन में सामंजस्य बिठाने और प्रशासनिक स्तर पर मिल रही शिकायतों को दूर करने के लिए खुद मुखमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने साथ दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और बृजेश पाठक को प्रदेश के 25- 25 जिलों का प्रभार दिया है. तीनों लोग प्रदेश के सभी जिलों में जायेंगे और स्थानीय स्तर पर जाकर समीक्षा करेंगे. जिस से लोकसभा चुनाव से पहले जो भी संगठन, सरकार और प्रशासनिक स्तर पर जो समस्याएं आ रही हैं उनको दूर करके 80 सीट जीतने का जो लक्ष्य तय किया है उसको लेकर काम किया जा सके.

उत्तर प्रदेश में सरकार और संगठन में सामंजस्य स्थापित करने और प्रशासनिक व्यवस्था की शिकायतों को दुरुस्त करने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़ा फैसला लिया है. मुख्यमंत्री और दोनों उपमुख्यमंत्रियों को यूपी के 6-6 मंडलो के 25-25 जिले गए आवंटित किए हैं. सीएम योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद और ब्रजेश पाठक 25-25 जिलों का भ्रमण करेंगे. जिलों में सरकार के कामकाज की समीक्षा समेत कार्यकर्ताओं और सरकार के बीच सामंजस्य स्थापित करने का काम करेंगे. लोकसभा चुनाव की तैयारियो को लेकर अहम माना जा रहा है ये निर्णय.

सीएम और डिप्टी सीएम में बांटे गए जिले

  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहारनपुर मंडल, मेरठ मंडल, मुरादाबाद मंडल, अलीगढ़ मंडल, वाराणसी मंडल और आजमगढ़ मंडल के 25 जिलों में जाकर समीक्षा करेंगे.
  • उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य कानपुर, झांसी, चित्रकूट, प्रयागराज, मिर्जापुर और अयोध्या मंडल के 25 जिलों में जायेंगे.
  • इसके अलावा उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक की बात करें तो वो गोरखपुर, बस्ती, देवीपाटन, आगरा, बरेली और लखनऊ मंडल के 25 जिलों में जाकर स्तिथि का जायजा लेंगे.

100 दिन का टारगेट, जिलों में जाकर तैयार करेंगे रिपोर्ट
जिस तरह से योगी सरकार के पहले कार्यकाल में सरकार और संगठन में सामंजस्य की कई शिकायतें सामने आई थी. उसके अलावा पार्टी कार्यकर्ताओं की शिकायत थी, कि अधिकारी सुनवाई नहीं करते हैं. अब दूसरे कार्यकाल की शुरुआत में ही पहले सभी मंत्रियों को 100 दिन का लक्ष्य दिया. सभी जिलों में जाकर रिपोर्ट तैयार करने को कहा है. अब रिपोर्ट मिलने के बाद खुद मुख्यमंत्री ने अपने दोनों उपमुख्यमंत्री के साथ मिलकर जमीन पर जाकर स्थिति की समीक्षा करने और उसको सुधारने का फैसला किया है. जिससे लोकसभा चुनाव से पहले सभी तरह की समस्याओं को दूर कर लिया जा सके.

इस वजह से बनाई रणनीति
उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर भाजपा ने प्लानिंग करना शुरू कर दिया है. वर्तमान में सभी कार्यां की रूपरेखा इसी तरह बनाई जा रही है कि 2024 के लिए धरातल तैयार किया जा सके. उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में भाजपा ज्यादा फोकस कर रही है. दरअसल, यहां विधानसभा चुनाव के दौरान समाजवादी पार्टी गठबंधन का प्रदर्शन एनडीए गठबंधन की अपेक्षा बेहतर रहा था. ऐसे में भाजपा इस इलाके को लेकर अलग रणनीति बनाने की कोशिशों में जुटी है. यही कारण है कि इस इलाके में हर थोड़े दिन बाद सीएम योगी दौरा कर रहे हैं. इसके अलावा विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण भी भाजपा के प्लान 2024 का ही हिस्सा बताया जा रहा है.

जनता से सीधे संवाद
ऐसे में सीएम योगी की ओर से जिलों का आवंटन सीधे तौर पर दर्शा रहा है कि भाजपा इस बार अलग तरह से काम करना चाहती है. भाजपा चाहती है कि उत्तर प्रदेश के हर जिले को कवर किया जाए और सीधे तौर पर जनता से संवाद किया जाए. इस कड़ी में सीएम के साथ ही दोनों डिप्टी सीएम को भी बड़ी जिम्मेदारियां दी गई हैं. आमजन के साथ ही पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच भी अभी से सामंजस्य बैठाने की कोशिशें तेज कर दी गई हैं ताकि चुनावों के दौरान पार्टी कार्यकर्ता बिना किन्हीं शिकायतों के सिर्फ पार्टी के हित पर ध्यान दें.

Tags: CM Yogi Aditya Nath, Lucknow News Today

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर