गुजरात में हिन्दुत्व का पताका फहराएंगे सीएम योगी: विजय बहादुर पाठक

Kumari ranjana | ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 13, 2017, 9:51 AM IST
गुजरात में हिन्दुत्व का पताका फहराएंगे सीएम योगी: विजय बहादुर पाठक
यूपी बीजेपी के महामंत्री विजय बहादुर पाठक की फोटो.
Kumari ranjana | ETV UP/Uttarakhand
Updated: October 13, 2017, 9:51 AM IST
दक्षिण के राज्यों के बाद अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुजरात में हिन्दुत्व का पताका फहराएंगे. दो दिवसीय दौरे में सीएम योगी उत्तरभारतीय बाहुल्य और हिन्दु बाहुल्य इलाकों में जनता को संबोधित करेंगे. नाथ पंथ देश के लगभग सभी राज्यों में फैला है.

ऐसे में गोरक्षपीठ के महंथ और उत्तर प्रदेश जैसे बड़े राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सभी राज्यों के लिए एक चेहरा बनते जा रहे हैं. सीएम योगी इस दौरे से पहले केरल गए थे,और अब गुजरात के दौरे पर जा रहे है.

उद्योग धंधो से और पुरानी मान्य़ताओं से जुड़े गुजरात में इससे पहले तक सीएम योगी आदित्यनाथ की ऐसी डिमांड नहीं थी. जितना अब हो रही है. स्थानीय लोग की वरीयता सूची में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय अमित शाह के बाद पहले नंबर पर है सीएम योगी. गुजरात बीजेपी लगातार उनके कार्यक्रम को लेकर डिमांड कर रही है. लेकिन बीजेपी इसे एक सामान्य बीजेपी कार्यकर्ता की डिमांड बता रही है.

यूपी बीजेपी के महामंत्री विजय बहादुर पाठक ने बताया कि डिमांड को देखते हुए सीएम योगी के पहले चरण के प्रचार के लिए वलसाड,नवसारी और सूरत को चुना है. वलसाड के दो विधानसभा क्षेत्रों पारडी और वलसाड के तीन जगहों नवसारी के गणदेवी,नवसारी और जलालपोर विधानसभा क्षेत्र और सूरत जिले के चोर्यासी विधानसभा में 11 कार्यक्रम तय हुआ,जिसमें से पांच बड़ी जनसभाएं हैं.

बता दें, कि दो दविसीय दौरे के पहले दिन 11 जनसभाएं और दूसरे दिन कच्छ इलाके के भुज विधानसभा क्षेत्र, अबडासा और मांडवी विधानसभा क्षेत्र में कुल चौदह जिसमें से चार बड़ी जनसभाएं तय की गयीं.

पहले दिन के प्रचार के बाद सीएम योगी पलसाना में रुकेंगे और दूसरे दिन मांडवी में विश्राम करेंगे. ये सभी प्राचीन और पौराणिक मिथकों से जुड़े हुए जगह हैं. ऐतिहासिक मान्यताओं के साथ ही वलसाड और नवसारी में नब्बे प्रतिशत हिन्दु आबादी है.

वहीं सूरत हिन्दू बाहुल्य होने के साथ ही वहां उत्तरभारतीय,उड़ीसा,राजस्थान,महाराष्ट्र से सबसे अधिक लोग हैं और इनकी संख्या लगभग पचपन प्रतिशत है. वहीं कच्छ में 75 प्रतिशत आबादी हिन्दुओं की है और पाकिस्तान सीमा से लगा हुआ जिला है.

जबकि मांडवी में लगभग हिन्दु मुसलमानों का अनुपात में कोई विशेष अंतर नहीं है. सीएम योगी का इन जगहों पर बुलाने का मतलब हिन्दू वोटों को एकजुट करने की रणनीति है.
First published: October 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर