UP Bye-election: सीएम योगी बोले- लोकतंत्र के इस महापर्व में अवश्य बनें सहभागी

 लोकतंत्र के इस महापर्व में अवश्य बनें सहभागी (File photo)
लोकतंत्र के इस महापर्व में अवश्य बनें सहभागी (File photo)

इसके अनुसार मतदान (Voting) सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक चलेगा. प्रत्येक पोलिंग बूथ (Polling Booth) पर अधिकतम 1000 वोटर ही मतदान कर सकेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2020, 11:32 AM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) विधानसभा की 7 सीटों पर होने वाले उपचुनाव (UP Bye-election) के लिए मंगलवार को मतदान हो रहे हैं. इसी कड़ी मे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने ट्वीट कर लिखा, 'उत्तर प्रदेश की 07 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हेतु मतदान प्रारंभ हो गया है.' उन्होंने अपीत करते कहा कि सभी सम्मानित मतदातागण कोविड से बचाव सम्बन्धी सावधानियों का पालन करते हुए लोकतंत्र के इस महापर्व में अवश्य सहभागी बनें. वहीं सभी सावधानियां अपनाएं, मतदान का कर्तव्य निभाएं लोकतंत्र जीतेगा, कोरोना हारेगा.

कोरोना वायरस महामारी (COVID-19 Pandemic) के मद्देनजर निर्वाचन आयोग ने मतदान के लिए गाइडलाइन जारी कर दी है. इसके अनुसार मतदान सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक चलेगा. प्रत्येक पोलिंग बूथ पर अधिकतम 1000 वोटर ही मतदान कर सकेंगे. इस वजह से हर मतदान केन्द्र पर सहायक पोलिंग बूथ भी बनाए गए हैं. कोरोना संक्रमित, बुजुर्ग और दिव्यांगजनों को पोस्टल बैलेट से मतदान करने की सुविधा रहेगी.


ऐसे मतदाताओं के पास खुद मतदान कर्मी जाएंगी और उनका वोट संकलित करेंगे. इन 7 विधानसभा सीटों पर कुल 24,27922 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. जिनमें 13,00684 पुरुष और 11,27108 महिला मतदाता होंगे. साथ ही 130 थर्ड जेंडर वोट डालेंगे. आपको बता दें कि उपचुनाव के लिए 3 नवम्बर को मतदान होगा और 10 नवंबर को परिणाम आएंगे. जिन सात सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं, उनमें से 2017 में बीजेपी ने छह सीटों पर कब्ज़ा किया था, जबकि एक सीट सपा के खाते में गई थी. लेकिन इस बार उपचुनाव में बसपा के उतरने से मुकाबला रोचक हो गया.



इन 7 सीटों पर होना है उपचुनाव
जिन विधानसभा चुनावों पर उपचुनाव होनी है उनमें अमरोहा की नौगवां सादात, बुलंदशहर, फिरोजाबाद जिले की टूण्डला सुरक्षित, उन्नाव की बांगरमऊ, कानपुर नगर की घाटमपुर, देवरिया और जौनपुर जिले की मल्हनी. इन सातों जिलों से जुड़े प्रदेश के अन्य जिलों की सीमाओं पर चौकसी भी बढ़ा दी जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज