लाइव टीवी

विपक्ष के विरोध का योगी सरकार के अफसर देंगे जवाब, CAA-NRC पर लोगों को करेंगे जागरूक

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 1, 2020, 4:28 PM IST
विपक्ष के विरोध का योगी सरकार के अफसर देंगे जवाब, CAA-NRC पर लोगों को करेंगे जागरूक
सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को दिए निर्देश

सीएम योगी के अफसरों को निर्देश दिए गए हैं कि वो मीडिया, प्रोफेसरों, डॉक्टरों, धर्मगुरुओं तथा अन्य लोगों की मदद लेते हुए अल्पसंख्यक वर्ग में CAA व NRC को लेकर फैलाए गए भ्रम को दूर करें. CAA नागरिकता देने का कानून है, लेने का नहीं...

  • Share this:
लखनऊ. CAA, NRC, NPR को लेकर हो रहे विरोध-प्रदर्शनों और विपक्ष की सक्रियता को देखते हुए यूपी के  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश भर के अधिकारियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये दिशा-निर्देश दिए हैं. इस दौरान सीएम योगी ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए  कहा कि इस संबंध में भ्रम फैलाकर पूरे प्रदेश में अराजकता फैलाई गई जिसके कारण उपद्रव हुए.

CAA नागरिकता देने का कानून है, लेने का नहीं
यूपी सीएम ने सभी जिलाधिकारियों एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों एवं पुलिस अधीक्षकों को इनके संबंध में नागरिकों के बीच जागरूकता लाने के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि इस कार्य में प्रबुद्ध वर्ग का सहयोग लिया जाए. उन्होंने मीडिया, प्रोफेसरों, डॉक्टरों, धर्मगुरुओं तथा अन्य लोगों की मदद लेते हुए अल्पसंख्यक वर्ग में फैलाए गए भ्रम को दूर करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि CAA नागरिकता देने का कानून है, लेने का नहीं. उन्होंने वीडियो क्लिपिंग के माध्यम से उपद्रवियों को चिन्हित करते हुए उन्हें एक सप्ताह का नोटिस देते हुए नुकसान की भरपाई करने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि NHRC से भी इन वीडियो क्लिपिंग्स को शेयर किया जाए.

युवा महोत्सव का आयोजन

उत्तर प्रदेश में आगामी 12 जनवरी 2020 से युवा महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है. सीएम योगी ने सभी जिलाधिकारियों को अपने-अपने जनपदों से कर्मठ युवाओं को इसमें भाग लेने के लिए चिन्हित कर आयोजकों को सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि साथ ही आगामी 02 फरवरी, 2020 से प्रदेश के प्रत्येक PHC पर हर रविवार आरोग्य मेले आयोजित किए जाएंगे. इसमें डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ इत्यादि मौजूद रहेंगे. उन्होंने मरीजों को 3 से 5 दिन की दवा देने के निर्देश दिए. उन्होंने सभी जिलाधिकारियों व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों एवं पुलिस अधीक्षकों को जनता की सुनवाई प्रभावी ढंग से करने को कहा.

जनगणना के आधार पर नीतियां
सीएम योगी ने जनवरी 2020 में कई संगठनों के विरोध-प्रदर्शन का अंदेशा जताते हुए सभी DM, SSP, SP  को इस संबंध में सतर्क रहने के निर्देश दिए. साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी कुछ माह में जनगणना-2021 (सेंसस) का कार्य प्रारम्भ होने वाला है. इसे लेकर उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि यह सुनिश्चित किया जाए कि इस कार्य में लगाए गए कर्मी विभिन्न सरकारी योजनाओं से लाभान्वित होने वाले लोगों के ब्यौरे को भी अपने प्रोफार्मा में शामिल करें. वे किस योजना से लाभान्वित हुए, इसका उल्लेख कालम बनाकर किया जाए.सीएम योगी ने कहा कि जनगणना अत्यन्त महत्वपूर्ण कार्य है. इससे जहां एक ओर देश की जनसंख्या का पता तो लगता ही है साथ ही बदलते हुए जीवन स्तर का भी पता लगता है. सरकार को अपनी योजनाएं बनाने में इससे काफी सहूलियत होती है. वीडियो कान्फ्रेंसिंग कर सीएम योगी ने अफसरों को 31 दिसबंर की रात ये निर्देश दिया. इस दौरान मुख्य सचिव,अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव नगर विकास मनोज कुमार सिंह, पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे.

ये भी पढ़ें-प्रियंका का CM योगी पर पलटवार- हिंदू धर्म में हिंसा और बदले की भावना के लिए जगह नहीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 1, 2020, 4:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर