CM योगी ने 31,277 शिक्षकों को प्रदान किया नियुक्ति पत्र, कहा- अब आंदोलन नहीं सिर्फ पढ़ाना

सीएम योगी ने 31,277 शिक्षकों को प्रदान किया नियुक्ति पत्र
सीएम योगी ने 31,277 शिक्षकों को प्रदान किया नियुक्ति पत्र

सीएम योगी (CM Yogi) ने कहा कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए हर प्राइमरी स्कृल में मानक के अनुसार शिक्षकों की नियुक्ति हमारी प्रतिबद्धता है

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2020, 11:52 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने शुक्रवार को अपने सरकारी आवास, पांच कालीदास मार्ग पर 31,277 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम का शुभारम्भ किया. उन्होंने पांच लाभार्थियों को अपने हाथ से नियुक्ति पत्र प्रदान किया. इसके बाद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से प्रदेश के 68 जिलों में इसकी शुरुआत की. मुख्यमंत्री ने लखनऊ की मंजुला त्रिपाठी, तनुजा सिंह, प्रिंस पटेल, कुणाल गौतम और कविता कुमारी गौड़ को अपने हाथ से नियुक्ति पत्र भी दिया.

इस अवसर पर सीएम योगी ने कहा कि बेसिक शिक्षा संपूर्ण शिक्षा की बुनियाद है. अगर बुनियाद बेहतर है तो उस पर बुलंद इमारत खड़ी की जा सकती है. ऐसे में में बेसिक शिक्षा परिषद के नव नियुक्त सहायक शिक्षकों का फर्ज बढ़ जाता है. आप बच्चों के लिए शिक्षक के साथ उनके मित्र और मार्गदर्शक भी बनें. उनको शिक्षा के साथ बेहतर संस्कार भी दें. खुद को बच्चों के लिए रोलमॉडल और प्रेरक बनें. अगर आप ऐसा कर ले गये तो देश के भविष्य के निर्माण में आपकी महत्वपूर्ण भूमिका होगी.

अब आंदोलन नहीं सिर्फ पढ़ाना
मुख्यमंत्री ने कुछ नव नियुक्त शिक्षकों से बातचीत भी की. उन्होंने कहा कि नवरात्र के पावन पर्व के पहले मिली इस सौगात के लिए आप सबको सपरिवार शुभकामनाएं. यह सब आपकी परिश्रम का नतीजा है. याद रखें सफलता का कोई शार्टकट नहीं होता और मेहनत का कोई विकल्प नहीं होता. आपमें जो प्रतिभा थी, उसे पहचान मिली है. आंदोलन बहुत हो चुका. अब सिर्फ पूरे लगन से बच्चों को पढ़ाएं, रेग्युलर स्कूल जाएं. ऐसे नवाचार करें जो बच्चों को पसंद हों.




कुछ लोग की आदत ही बाधा डालना है

सीएम योगी ने कहा कि गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए हर प्राइमरी स्कृल में मानक के अनुसार शिक्षकों की नियुक्ति हमारी प्रतिबद्धता है. हम तो वर्ष 2019 में ही 69 हजार शिक्षकों की नियुक्ति करना चाहते थे, पर कुछ लोग जिनकी आदत ही बाधा डालना है वे लोग मामले को कोर्ट में ले गये. यह नियुक्तियां सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के क्रम में हो रहीं है. आगे उसका निर्देश मिलते ही बाकी नियुक्तियां भी की जाएंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज