CBI छापों से नाराज हैं CM योगी आदित्यनाथ, आईएएस अफसरों पर गिर सकती है गाज

कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सीबीआई छापे में करोड़ों की संपत्ति के खुलासे से नाराज हैं और आईएएस अधिकारी अभय सिंह, विवेक और देवी शरण उपाध्याय पर बुधवार शाम तक गाज गिर सकती है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 10, 2019, 5:36 PM IST
CBI छापों से नाराज हैं CM योगी आदित्यनाथ, आईएएस अफसरों पर गिर सकती है गाज
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की फाइल फोटो
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 10, 2019, 5:36 PM IST
सपा शासन काल में अवैध खनन के जरिये काली कमाई से अकूत संपत्ति जुटाने वाले आईएएस अफसरों पर सीबीआई की ताबड़तोड़ कार्रवाई चल रही है. सीबीआई की 12 जिलों में हो रही छापेमारी के बाद सरकार की निगाहें भी अब इन आईएएस अफसरों पर सख्त होती दिख रही है. कहा जा रहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सीबीआई छापे में करोड़ों की संपत्ति के खुलासे से नाराज हैं और आईएएस अधिकारी अभय सिंह, विवेक और देवी शरण उपाध्याय पर बुधवार शाम तक गाज गिर सकती है. उधर सीबीआई की कार्रवाई से यूपी के आईएएस अफसरों में हड़कंप मचा हुआ है.

दरअसल, यूपी में सपा शासन काल में जारी किए गए अवैध खनन पट्टों से जुड़े दो मामलों में सीबीआई की टीम ने बुधवार को 12 जगहों पर छापेमारी की. इनमें सबसे अहम छापा यूपी के चर्चित आईएएस और बुलंदशहर के डीएम अभय सिंह के सरकारी आवास पर मारा गया, जहां सीबीआई को नोट गिनने की मशीन मंगानी पड़ी. सीबीआई को अभय सिंह के घर से करीब 47 लाख रुपये कैश और करोड़ों की संपत्ति के दस्तावेज मिलने की बात कही जा रही है.

दूसरा मामला भी खनन से ही जुड़ा है, जिसके तहत देवरिया के डीएम रहे आईएएस विवेक (वर्तमान में कौशल विकास निगम के एमडी) के लखनऊ स्थित आवास पर छापा मारा गया है. कहा जा रहा है कि सीबीआई ने संपत्तियों के दस्तावेज जब्त किये हैं. उधर इसी मामले से जुड़े एक अन्य अधिकारी के यहां भी छापे की कार्रवाई चल रही है. देवरिया के तत्कालीन एडीएम देवी शरण उपाध्याय (वर्तमान में आजमगढ़ के सीडीओ) के घर से 10 लाख रुपये कैश बरामद हुआ है.

आईएएस अधिकारी अभय सिंह और विवेक पर FIR दर्ज

सीबीआई ने खनन मामले में गड़बड़ी के आरोप में बुलंदशहर के डीएम अभय सिंह और आईएएस विवेक कुमार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है. अभय सिंह पर फतेहपुर का डीएम रहते खनन पट्टों में गड़बड़ी का आरोप है. जबकि विवेक पर देवरिया के डीएम पद पर तैनाती के दौरान अवैध खनन में लिप्त होने का आरोप है.

12 ठिकानों पर चल रही छापेमारी
सीबीआई की टीम लखनऊ, बुलंदशहर, देवरिया, आजमगढ़, इलाहाबाद, फतेहपुर, नोएडा और गोरखपुर समेत 12 ठिकानों पर छापेमारी कर रही हैं. खनन मामले से जुड़े दो केस को लेकर यह छापेमारी चल रही है. पहला मामला फतेहपुर के डीएम रह चुके अभय सिंह से जुड़ा है. दूसरा मामला देवरिया के डीएम रहे आईएएस अधिकारी विवेक से जुड़ा है.
Loading...

क्या है पूरा मामला?
दरअसल, साल 2012 में अवैध खनन पट्टों को लेकर हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल की गई थी. जिस पर सुनवाई के दौरान कोर्ट ने 2013 में आदेश दिया कि अब कोई भी नया पट्टा नहीं दिया जाएगा और पुराने पट्टों का नवीनीकरण भी नहीं होगा. इस दौरान करीब 10 महीने तक अभय सिंह फतेहपुर के डीएम थे. आदेश के बावजूद जिले में खनन जारी रहा. जिसके बाद जुलाई 2016 में इलाहाबाद हाईकोर्ट कोर्ट ने यूपी के सात जिलों में अवैध खनन मामले में सीबीआई जांच के आदेश दिए थे जिसमें, फतेहपुर, सहारनपुर, कौशांबी, हमीरपुर, शामली, देवरिया और सिद्धार्थनगर शामिल हैं.

सीबीआई कई सालों से अवैध खनन मामले की जांच कर रही थी. जांच के दौरान सीबीआई को पता चला कि अवैध खनन से हुई काली कमाई की मलाई खाने में कई सफेदपोश और अधिकारी शामिल हैं. जांच के आधार पर ही अब सीबीआई लगातार छापेमारी कर रही है.

ये भी पढ़ें: अवैध खनन: बुलंदशहर DM के घर CBI का छापा, नोट गिनने की मशीन मंगाई गई

खनन मामले में एक और IAS के आवास पर सीबीआई का छापा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 10, 2019, 3:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...