Home /News /uttar-pradesh /

कोरोना संक्रमण की प्रत्येक चेन को तोड़ना पहला संकल्प, गोवंश के लिए स्थापित करें भूसा बैंक- CM योगी

कोरोना संक्रमण की प्रत्येक चेन को तोड़ना पहला संकल्प, गोवंश के लिए स्थापित करें भूसा बैंक- CM योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को राजस्थान के कोटा से लौटे छात्रों से बातचीत की. (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को राजस्थान के कोटा से लौटे छात्रों से बातचीत की. (फाइल फोटो)

उधर, मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि प्रत्येक जनपद में 15,000 से 25,000 क्षमता के क्वारंटीन सेण्टर तथा आश्रय स्थल की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए.

    लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने लॉकडाउन (Lockdown) का सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिये हैं. मंगलवार को लोकभवन में एक उच्चस्तरीय बैठक में सीएम योगी ने कहा है कि सोशल डिस्टेंसिंग पर विशेष ध्यान दिया जाए. पुलिस द्वारा नियमित तौर पर पेट्रोलिंग की जाए. यह भी सुनिश्चित किया जाए कि हॉटस्पाट क्षेत्रों में केवल स्वास्थ्य, सफाई और होम डिलिवरी से जुड़े कर्मी ही जाएं. साथ ही हॉटस्पाट क्षेत्रों में सभी घरों को सैनेटाइज किया जाए.

    कोरोना संक्रमण की प्रत्येक चेन को तोड़ना

    मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण की प्रत्येक चेन को तोड़ना है. मेडिकल इन्फेक्शन को रोकने के लिए सभी स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षित किया जाए. उन्होंने बायो मेडिकल वेस्ट का उचित निस्तारण सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये. उन्होंने कहा कि जनपद स्तर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी नर्सिंग होम के संचालकों और अन्य डॉक्टरों के साथ बैठक करते हुए टेलीमेडिसिन के माध्यम से चिकित्सीय परामर्श उपलब्ध कराने वाले डॉक्टरों की व्यवस्था करें.

    गोवंश के लिए स्थापित करें भूसा बैंक 

    सीएम योगी ने कहा कि वर्तमान समय में बड़ी मात्रा में भूसा उपलब्ध रहता है. इसके दृष्टिगत निराश्रित (बेसहारा) गोवंश के लिए गोवंश आश्रय स्थलों पर भूसा बैंक स्थापित किया जाए. वहीं तीन मई, 2020 के पश्चात औद्योगिक इकाइयों को किस प्रकार शुरू किया जाए, इसके लिए एक कार्य योजना तैयार किया जाए. प्रवासी श्रमिकों (मजदूरों) को रोजगार देने की कार्य योजना बनायी जाए. उन्होंने कहा कि निराश्रित व्यक्ति की मृत्यु होने पर शासन द्वारा अनुमन्य राशि से दिवंगत का अंतिम संस्कार कराया जाए.

    प्रतियोगी छात्र-छात्राओं का स्वास्थ्य परीक्षण

    योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रयागराज से वापस भेजे जा रहे प्रतियोगी छात्र-छात्राओं का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाए. जनपद वाराणसी, हापुड़, रामपुर, मुजफ्फरनगर और अलीगढ़ में वरिष्ठ प्रशासनिक, पुलिस एवं स्वास्थ्य अधिकारी भेजे जाएं. उन्होंने कहा कि ग्रीन जोन और ऑरेंज जोन में अनुमन्य की जाने वाली गतिविधियों के लिए एक कार्य योजना बनायी जाए. महिला स्वयं सहायता समूहों को मास्क आदि के निर्माण कार्य से जोड़ा जाए.

    15,000 से 25,000 क्षमता के क्वारंटाइन सेंटर

    उधर, मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि प्रत्येक जनपद में 15,000 से 25,000 क्षमता के क्वारंटाइन सेंटर और आश्रय स्थल की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए. शेल्टर होम में 14 दिन की संस्थागत क्वारंटाइन पूरा करने वालों का चिकित्सीय परीक्षण कराके होम क्वारंटाइन के लिए घर भेजा जाए. मेडिकल टेस्टिंग के लिए पूल टेस्टिंग व रैंडम टेस्टिंग का उपयोग किया जाए. जिलाधिकारी और मुख्य चिकित्साधिकारी एल-1, एल-2 और एल-3 कोविड चिकित्सालयों, शेल्टर होम और क्वारंटाइन सेंटर का निरीक्षण करें. शेल्टर होम और क्वारंटाइनन सेंटर की फूडिंग लाॅजिंग व्यवस्था पर नजर रखी जाए. उन्होंने कहा कि शेल्टर होम को जियो टैग किया जाए.

    ये भी पढे़ं:

    वाराणसी: भाजपा युवा मोर्चा के नेता पर लगा शराब तस्करी का आरोप, पार्टी ने पद से हटाया

    Tags: CM Yogi, Corona patients, Coronavirus Epidemic, Lockdown, UP news, UP police, Yogi adityanath, Yogi government

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर