कोरोना से निपटने के लिए CM योगी ने टीम-11 की जगह गठित की टीम-9, जानिए कौन-कौन शामिल

सीएम योगी आदित्यनाथ ने टीम 11 की जगह अब टीम 9 का गठन किया है. (File Photo)

सीएम योगी आदित्यनाथ ने टीम 11 की जगह अब टीम 9 का गठन किया है. (File Photo)

Lucknow News: सीएम योगी आदित्यनाथ ने आम लोगों तक हर तरह की सीधे सहायता पहुंचाने के लिए टीम-नाइन को पूरी जिम्मेदारी दी है. टीम नाइन में चिकित्सा शिक्षा मंत्री व स्वास्थ्य मंत्री के नेतृत्व में अफसरों की कमेटी बनाई गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2021, 2:57 PM IST
  • Share this:
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण (COVID-19) की तेज रफ्तार से निपटने के लिए योगी सरकार लगातार कई मोर्चों पर जुटी हुई है. इस बीच सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कोरोना की दूसरी लहर से निपटने के लिए रणनीति में बड़ा बदलाव किया है. उन्होंने उच्चस्तरीय टीम-11 का पुनर्गठन करते हुए टीम-नाइन (Team-9) बना दी है. इस नई टीम को सीएम योगी ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि आम लोगों को कीं कोई दिक्कत नहीं आनी चाहिए. टीम के जिम्मेदार अफसर संवेदनशीलता और तत्परता के साथ लोगों तक मदद पहुंचाएं.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने आम लोगों तक हर तरह की सीधे सहायता पहुंचाने के लिए टीम नाइन को पूरी जिम्मेदारी दी है. टीम नाइन में चिकित्सा शिक्षा मंत्री व स्वास्थ्य मंत्री के नेतृत्व में अफसरों की कमेटी बनाई गई है.

आम लोगों को तत्काल भर्ती कराने, उनको ज़रूरी दवाएं दिलाने, अस्पतालों को ऑक्सीजन दिलाने, होम आइसोलेशन में लोगों तक आवश्यकतानुसार ऑक्सीजन की उपलब्धता कराने के लिए टीम नाइन के अलग-अलग सदस्यों को जवाबदेह बनाया गया है.

टीम का ये होगा स्वरूप
- चिकित्सा शिक्षा मंत्री की टीम द्वारा कोविड बेड्स, मानव संसाधन की उपलब्धता, प्रशिक्षण और टीकाकरण से जुड़े कार्य संपादित कराए जाएंगे. इसमें अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य एवं प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा भी शामिल होंगे.

- स्वास्थ्य मंत्री की टीम मेडिकल किट, टेस्टिंग और स्वास्थ्य सुविधाओं की बढ़ोतरी से जुड़े कार्यों के प्रति जवाबदेह होगी. इसमें राज्य मंत्री स्वास्थ्य और एसीएस हेल्थ भी होंगे.

- मुख्य सचिव भारत सरकार के साथ समन्वय से जुड़े कार्यों/पत्राचार आदि का काम देखेंगे. आइसीसीसी की मॉनिटरिंग भी इनकी जिम्मेदारी होगी.



- अपर मुख्य सचिव गृह प्रदेश में ऑक्सीजन की सुचारु उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए प्रमुख सचिव एफएसडीए और प्रमुख सचिव परिवहन के सहयोग से काम करेंगे.

- कंटेनमेंट ज़ोन, लॉ एंड ऑर्डर, साप्ताहिक बन्दी, कोविड प्रोटोकॉल के अनुपालन के लिए डीजीपी के नेतृत्व में कार्य होगा.

- अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास एवं पंचायती राज की होगी, जो स्वच्छता, फॉगिंग, सैनिटाइजेशन और निगरानी समितियों की मॉनिटरिंग करेगी.

- इसी प्रकार कृषि उत्पादन आयुक्त की जवाबदेही गन्ना, खाद्यान्न वितरण, पशुपालन और कृषि आदि संबंधित कार्यों के सुचारू क्रियान्वयन की होगी.

- आईआईडीसी प्रदेश में औद्योगिक गतिविधियों के सुगम क्रियान्वयन के लिए जिम्मेदार होंगे. औद्योगिक इकाइयों से इनका सीधा संवाद होगा.

- अपर मुख्य सचिव, राजस्व प्रवासी श्रमिकों से जुड़े प्रबंधन के प्रति जिम्मेदार होंगे. इसके अतिरिक्त, अपर मुख्य सचिव सूचना टीम-9 के साथ समन्वय जनहित में व्यापक प्रचार-प्रयास सुनिश्चित कराएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज