Home /News /uttar-pradesh /

रिश्वत मांगने में फंसे मंत्रियों के निजी सचिव मामले में सीएम योगी सख्त, दिए ये आदेश

रिश्वत मांगने में फंसे मंत्रियों के निजी सचिव मामले में सीएम योगी सख्त, दिए ये आदेश

फाइल फोटो

फाइल फोटो

मुख्यमंत्री ने मामले में एसआईटी गठित कर जांच करने को कहा है. साथ ही कहा है कि एसआईटी को 10 दिन के अंदर जांच कर रिपोर्ट पेश करनी होगी.

उत्तर प्रदेश सरकार में 3 मंत्रियों के निजी सचिवों द्वारा भ्रष्टाचार के मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने कठोरतम कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. सीएम ने आरोपी तीनों कर्मियों के तत्काल निलंबन के साथ ही उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के भी निर्देश दिए हैं. साथ ही मुख्यमंत्री ने इस पूरे मामले में जांच के लिए एसआईटी गठित करने का निर्देश दिया है.

यूपी सरकार के 3 मंत्रियों के निजी सचिव रिश्वत मांगने में फंसे, जांच के आदेश

ये एसआईटी लखनऊ जोन के एडीजी राजीव कृष्ण की अध्यक्षता में गठित की जाएगी. आईजी, एसटीएफ और सतर्कता अधिष्ठान के वरिठ अधिकारी भी सदस्य होंगे. इसके अलावा विशेष सचिव आईटी राकेश वर्मा इस एसआईटी की जांच में सहयोग देंगे. मुख्यमंत्री ने एसआईटी को 10 दिन के अंदर जांच कर रिपोर्ट पेश करने को कहा है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने सचिवालय प्रशासन विभाग द्वारा सभी अन्य ऐसे मामलों की समीक्षा के आदेश दिए हैं.

दरअसल एक स्टिंग आपरेशन में मंत्रियों के विधानभवन स्थित मंत्रियों के कार्यालय में उनके निजी सचिवों को एक ट्रांसफर, ठेके आदि में डीलिंग करते पकड़ा गया है. इनमें मंत्री ओम प्रकाश राजभर, अर्चना पांडेय और संदीप सिंह के निजी सचिव शामिल हैं. अपर मुख्य सचिव सचिवालय प्रशासन महेश चंद गुप्ता ने इन तीनों निजी सचिवों के खिलाफ जांच के आदेश दे दिए हैं.

यूपी में किसानों का बड़ा आंदोलन खड़ा करने की तैयारी में कांग्रेस, ये रही रणनीति

स्टिंग ऑपरेशन में पिछड़ा वर्ग एवं दिव्यांगजन सशक्तीकरण मंत्री ओम प्रकाश राजभर के निजी सचिव ओम प्रकाश कश्यप कई विभागों के लिए घूस मांगते नजर आए. इसी तरह से खनन राज्यमंत्री अर्चना पांडेय के निजी सचिव एसपी त्रिपाठी भी डीएस से परमीशन से लेकर आबकारी के एक काम के लिए डील करते दिखाई दिए. वहीं बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री संदीप सिंह के निजी सचिव संतोष अवस्थी ​किताबों के ठेके का सौदा करते दिखे. मामला उजार होने के बाद हड़कंप मच गया.

कैसा होगा यूपी में बीजेपी के खिलाफ अखिलेश का गैर कांग्रेसी गठबंधन?

इस संबंध में मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि निजी सचिव के खिलाफ कार्रवाई के लिए प्रमुख सचिव सचिवालय प्रशासन को कहा गया है. सचिवालय में कुछ लोग ठेके पट्टे के काम में लगे हुए हैं. वहीं खनन राज्य मंत्री अर्चन पांडेय ने कहा कि हर दोषी को सजा दी जाएगी. निजी सचिव से जुड़े अन्य लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी.

ये भी पढ़ें: 

मिशन 2019: यूपी में BJP की बढ़ी मुश्किलें, सीट बंटवारे पर सहयोगी दलों ने बढ़ाया दबाव

यूपी में 'पराया' हुआ अपना दल, अब योगी सरकार के कार्यक्रमों का बहिष्कार करेंगी अनुप्रिया पटेल!

यूपी सरकार के 3 मंत्रियों के निजी सचिव रिश्वत मांगने में फंसे, जांच के आदेश

NIA का खुलासा: बड़े नेताओं और संस्थानों पर हमले की थी साजिश, मौलवी था मास्टरमाइंड

दिल्ली-यूपी में पकड़ा गया ISIS का नया मॉड्यूल, निशाने पर था RSS का ऑफिस

Tags: Lucknow news, Up news in hindi, Uttarpradesh news, Yogi adityanath, लखनऊ

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर