जून 2021 तक शुरू हो जाए गंगा एक्‍सप्रेसवे का निर्माण कार्य : योगी आदित्‍यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री ने गंगा एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्य को पूरी तेजी और सकारात्मकता के साथ आगे बढ़ाने के निर्देश देते हुए कहा कि परियोजना के वित्त पोषण की सभी संभावनाएं तलाश की जानी चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2020, 6:41 AM IST
  • Share this:


लखनऊ. उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने मेरठ से प्रयागराज के लिए गंगा एक्‍सप्रेस-वे (Ganga Express-way) के निर्माण कार्य की सारी औपचारिकताएं पूरी कर इसे जून 2021 तक शुरू करने के शुक्रवार को निर्देश दिये. मुख्‍यमंत्री ने इस महत्‍वाकांक्षी परियोजना को मूर्त रूप देने के लिए संबंधित विभागों को मिशन मोड में काम करने को कहा है. शासन द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार शुक्रवार को मुख्‍यमंत्री अपने सरकारी आवास पर इस परियेाजना की समीक्षा कर रहे थे. योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि सभी निर्माण कार्यों के प्रारम्भ के साथ ही उनके पूर्ण होने की तिथि निश्चित होनी चाहिए. मुख्यमंत्री ने गंगा एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्य को पूरी तेजी और सकारात्मकता के साथ आगे बढ़ाने के निर्देश देते हुए कहा कि परियोजना के वित्त पोषण की सभी संभावनाएं तलाश की जानी चाहिए.



बैठक में यूपीडा के मुख्य कार्य पालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने गंगा एक्सप्रेस-वे प्रवेश नियंत्रित (ग्रीनफील्ड) परियोजना के सम्बन्ध में एक प्रस्तुतीकरण भी दिया. इसके साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के 13 जिलों में स्वीकृत मेडिकल कॉलेजों का निर्माण कार्य 15 दिसम्बर 2020 से पहले प्रारम्भ कराए जाने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा है कि इसके लिए समयबद्ध ढंग से कार्रवाई की जाए. मुख्‍यमंत्री शुक्रवार को यहां अपने सरकारी आवास पर स्वीकृत मेडिकल कॉलेजों, राज्य आयुष विश्वविद्यालय गोरखपुर तथा पशु चिकित्सा विज्ञान महाविद्यालय गोरखपुर आदि परियोजनाओं के निर्माण कार्यों की समीक्षा कर रहे थे.




राज्‍य सरकार द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार सुलतानपुर, चन्दौली, बुलंदशहर, पीलीभीत, औरैया, बिजनौर, कानपुर देहात, कुशीनगर, गोंडा, कौशाम्बी, सोनभद्र, ललितपुर व लखीमपुर खीरी में मेडिकल कालेज स्वीकृत किए गए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी निर्माण कार्यों के प्रारम्भ के साथ ही उनके पूर्ण होने की तारीख भी निर्धारित होनी चाहिए. उन्‍होंने कहा कि मेडिकल कॉलेजों के निर्माण में किसी प्रकार की शिथिलता न बरती जाए.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज